1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. मेरा पैसा
  5. Good News: अब मच्‍छर जनित बीमारियों के लिए भी मिलेगा सस्‍ता हेल्‍थ इंश्‍योरेंस कवर, 1 अप्रैल से मिलेगी सुविधा

Good News: अब मच्‍छर जनित बीमारियों के लिए भी मिलेगा सस्‍ता हेल्‍थ इंश्‍योरेंस कवर, 1 अप्रैल से मिलेगी सुविधा

सभी जनरल व हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों को 1 अप्रैल, 2021 से मशक रक्षक (Mashak Rakshak) को उपभोक्ताओं को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: February 04, 2021 11:39 IST
cheap health insurance for dengue malaria diseases check IRDAI details- India TV Paisa
Photo:INDIA TV

cheap health insurance for dengue malaria diseases check IRDAI details

नई दिल्‍ली। भारतीय बीमा नियामक IRDAI ने देशवासियों को मच्‍छरों के प्रकोप से बचाने के लिए अपना कदम आगे बढ़ाया है। आईआरडीएआई ने सभी बीमा कंपनियों को मच्‍छरों की वजह से पैदा होने वाली बीमारियों जैसे डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया और जिका बुखार का इलाज कराने के लिए एक सरल स्‍वास्‍थ्‍य बीमा पॉलिसी पेश करने का आदेश दिया है। इस पॉलिसी का नाम मशक रक्षक होगा। इस पॉलिसी में 10,000 रुपये लेकर 2 लाख रुपये के बीच अधिकतम सम-एश्‍योर्ड दिया जाएगा।

बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण ने बुधवार को इस मशक रक्षक पॉलिसी के लिए दिशा-निर्देशों को जारी किया है और सभी जनरल व हेल्‍थ इंश्‍योरेंस कंपनियों को 1 अप्रैल, 2021 से मशक रक्षक (Mashak Rakshak) को उपभोक्‍ताओं को उपलब्‍ध कराने का निर्देश दिया है।

यह भी पढ़ें: फ्यूचर ग्रुप के किशोर बियानी को लगा जोर का झटका, भरना होगा इतना बड़ा जुर्माना

नियामक ने कहा कि मच्‍छर जनित बीमारियों के लिए विशेष स्‍वास्‍थ्‍य बीमा उत्‍पाद आज की आवश्‍यकता है ताकि आम जनता मच्‍छर जनित बीमारियों के लिए विशिष्‍ट हेल्‍थ इंश्‍योरेंस कवर ले सकें। प्राधिकरण ने सभी जनरल और हेल्‍थ इश्‍योरेंस कंपनियों को स्‍टैंडर्ड वेक्‍टर बोर्न डिसीज हेल्‍थ पॉलिसी पेश करने का निर्देश दि‍या है।

मशक रक्षक पॉलिसी की अवधि 12 माह होगी। उपभोक्‍ताओं को पॉलिसी की अवधि पूरी होने के बाद उसे फ‍िर से रिन्‍यू करवाना होगा। इंश्‍योरेंस कंपनियों को उनके आकलन के आधार पर विशिष्‍ट प्रीमियम तय करने की छूट दी जाएगी हालांकि प्रीमियम की यह दर पूरे भारत में एक समान होगी और भौगोलिक या क्षेत्र के आधार पर प्रीमियम मूल्‍य तय करने की अनुमति नहीं होगी।

यह भी पढ़ें: बजट के बाद LPG ग्राहकों को बड़ा झटका, आज से गैस सिलेंडर के दाम में जोरदार वृद्धि

बीमा नियामक ने नवंबर, 2020 में ड्राफ्ट गाइडलाइंस को पेश किया था और सभी हितधारकों से उनकी राय मांगी थी। उद्योग विशेषज्ञों के मुताबिक, इस तरह की लघु अवधि वाली रोग विशिष्‍ट पॉलिसी की मांग महामारी के बाद वाले बीमा बाजार में बढ़ सकती है।

बजाज एलियांज जनरल इंश्‍योरेंस के हेड-रिटेल अंडरराइटिंग, गुरुदीप सिंह बत्रा ने कहा कि मानसून के आने से पहले समय पर पेश किया जाने वाला यह एक बहुत अच्‍छा उत्‍पाद है। मानसून के दौरान सबसे ज्‍यादा लोग मच्‍छर जनित रोगों से पीडि़त होते हैं और अभी कोविड-19 भी पूरी तरह से खत्‍म नहीं हुआ है, ऐसे में मेरा मानना है कि यह सभी के लिए एक अच्‍छी पेशकश होगी।

यह भी पढ़ें: भारत में Realme X7 Pro 5G, Realme X7 की लॉन्चिंग आज, जानिए बजट 5G स्मार्टफोन की प्राइस खूबियां

IRDAI ने पिछले साल महामारी के आने के बाद बड़ी संख्‍या में अन-इंश्‍योर्ड जनसंख्‍या के लिए सुरक्षा उपलब्‍ध कराने के लिए कोरोना वायरस विशिष्‍ट बीमा कवर पेश करने की घोषणा की थी। इसके अलावा नियामक ने एक अप्रैल, 2021 से स्‍टैंटर्ड टर्म लाइफ कवर सरल टर्म इंश्‍योरेंस और सरल हेल्‍थ इंश्‍योरेंस कवर भी लॉन्‍च करने की घोषणा की है।  

यह भी पढ़ें: अगर आपके पास भी है LIC की कोई भी पॉलिसी तो आपके लिए है खुशखबरी...

यह भी पढ़ें: कोरोना महामारी के बीच 3 महीने में खाए 1,069 करोड़ रुपये के पिज्‍जा और डोनट्स...

Write a comment
Click Mania
Modi Us Visit 2021