1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. खेल
  4. क्रिकेट
  5. धोनी के पोल्ट्री फॉर्म में पहुंचने वाले कड़कनाथ मुर्गीयों में पाया गया बर्ड फ्लू का वायरस

धोनी के पोल्ट्री फॉर्म में पहुंचने वाले कड़कनाथ मुर्गीयों में पाया गया बर्ड फ्लू का वायरस

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने 2000 कड़कनाथ मुर्गे के चुजों का जिस पोल्ट्री फॉर्म से ऑर्डर दिया था वहां मुर्गियों में बर्ड फ्लू के वायरस पाए गए हैं।

India TV Sports Desk India TV Sports Desk
Updated on: January 13, 2021 9:49 IST
Kadaknath,Kadaknath bird flu,Kadaknath Poultry form,Mahendra Singh Dhoni,Mahendra Singh Dhoni Kadakn- India TV Hindi
Image Source : TWITTER/@KADAKNATHKING,INSTAGRAM/DHONI MS Dhoni 

मध्यप्रदेश में झबुआ जिले के मशहूर कड़कनाथ मुर्गे में बर्ड फ्लू के वायरस पाए जाने से हड़कंप मच गया है। थांदला तहसील के रूंडीपाड़ा गांव के पोल्ट्री फार्म में एक साथ कई मुर्गे-मुर्गियों के मरने से पशुपालन विभाग की टीम ने इनके जांच के लिए सैम्पल भेजे, जिसमें H5N1 वायरस की पुष्टि हुई है।

दरअसल यह वही पोल्ट्री फॉर्म है, जहां से भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने 2000 कड़कनाथ मुर्गे के चुजों का ऑर्डर दिया था। हालांकि मीडिया से बात करते हुए फॉर्म के मालिक विनोद मेदा ने बताया कि धोनी ने उन्हें मुर्गी के चुजों का ऑर्डर दिया था लेकिन खराब मौसम के कारण उसे पहुंचाया नहीं जा सका।

यह भी पढ़ें- क्रिज के निशान से छेड़छाड़ विवाद पर आया स्टीव स्मिथ का एक नया वीडियो

वहीं इस बीच भोपाल पशुपालन विभाग के संचालक ने झाबुआ प्रशासन को पत्र लिखकर इस उचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। वहीं बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद पशुपालन विभाग की टीम ने मुर्गीपालन क्षेत्र और उसके 1 किमी के दायरे को संक्रमण मुक्त करने के साथ-साथ सभी जीवित और मृत मुर्गे-मुर्गियों को जमीन में दफना दिया है। 

आपको बता दें कि कड़कनाथ मुर्गे का उत्पादन मुख्य रूप से मध्यप्रदेश के झबुआ में ही होता है। इसकी खासियत यह है कि इसके मांस में प्रोटिन की उच्च मात्रा होती है। वहीं इसमें वसा या फैट नाम मात्र की पाई जाती है।

यही कारण है कि पिछले साल यहां के कड़कनाथ उत्पादनकर्ताओं ने यह कहा था कि वह भारतीय क्रिकेट टीम के लिए भी इसके मांस का आयात करना चाहते हैं। क्योंकि इसके मांस में प्रोटिन की मात्रा अधिक होती है इसलिए उनके फिटनेस के लिए यह अच्छा होगा।

कड़कनाथ चिकन के मांस में आयरन की मात्रा भरपूर पाई जाती है जो सेहत के लिए अच्छा माना जाता है। आयरन की अधिकता के कारण ही इस मुर्गे का रंग और मांस के साथ अंडे भी काले होते हैं।

यह भी पढ़ें- IND vs AUS : ....तो इस वजह से गाबा में टेस्ट मैच खेलने को उत्साहित है ऑस्ट्रेलियाई टीम

मांस के साथ इसके अंडे का सेवन भी सेहत के लिए लाभकारी होता है। इस प्रजाति के मुर्गी के अंडे में प्रोटीन अधिक होता है और कम कोलेस्ट्रॉल की मात्रा ना के बराबर पाया जाता है जिसके कारण इसे दिल के मरीजों के लिए लाभकारी माना गया है।

वहीं अन्य प्रजातियों के मुर्गा-मुर्गियों के मांस में फैट और वसा ज्यादा रहता है। 

 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन
Write a comment

लाइव स्कोरकार्ड