1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. खेल
  4. क्रिकेट
  5. IND vs ENG: कप्तान बनते ही बुमराह को याद आया धोनी का 'गुरुमंत्र', इंग्लैंड के खिलाफ मैच के लिए बताई रणनीति

IND vs ENG: कप्तान बनते ही बुमराह को याद आया धोनी का 'गुरुमंत्र', इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी टेस्ट मैच के लिए बताई अपनी रणनीति

जसप्रीत बुमराह ने इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी टेस्ट के लिए कप्तान बनाए जाने के बाद धोनी की सलाह को याद किया।

Rajeev Rai Written By: Rajeev Rai @@Rajeev_Bharat
Published on: June 30, 2022 22:42 IST
Jasprit Bumrah, MS Dhoni, IND vs ENG, indian cricket team, bcci- India TV Hindi News
Image Source : GETTY Jasprit Bumrah and MS Dhoni

Highlights

  • रोहित के कोरोना से ठीक नहीं होने के बाद बुमराह को मिली टीम की कप्तानी
  • बुमराह भारत के कप्तान बनने वाले दूसरे तेज गेंदबाज
  • कपिल देव 1987 में रहे थे टीम इंडिया के कप्तान

पिछले कुछ दिनों में तेजी से बदले घटनाक्रम के बाद गुरुवार को भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने जसप्रीत बुमराह को इंग्लैंड के खिलाफ पांचवें टेस्ट के लिए कप्तान नियुक्त कर दिया। टीम के नियमित कप्तान रोहित शर्मा के कोविड से ना उबर पाने की वजह से स्टार तेज गेंदबाज को कमान सौंपने का फैसला किया गया। जबकि विकेटकीपर ऋषभ पंत को उपकप्तान बनाया गया।

इंग्लैंड के खिलाफ शुक्रवार से शुरू हो रहे पांचवें टेस्ट की पूर्व संध्या पर हुए इस बदलाव के बाद बुमराह मीडिया से रूबरू हुए। उन्होंने इस जिम्मेदारी को अपने करियर की सबसे बड़ी उपलब्धि मानते हुए महेंद्र सिंह धोनी की सीख को याद किया जिन्हें कप्तानी का कोई अनुभव नहीं होते हुए भी वह इतने सफल कप्तान बने। 

जिम्मेदारियों के लिये हमेशा तैयार

बुमराह को बृहस्पतिवार की सुबह पता चला कि वह इस मैच में कप्तान होंगे। बुमराह ने कहा कि दबाव होने पर सफलता का मजा ही कुछ और होता है। मैं जिम्मेदारियों के लिये हमेशा तैयार हूं और मुझे चुनौतियां पसंद है। एक क्रिकेटर के तौर पर आप हमेशा खुद को दबाव के हालात में आंकना चाहते हैं। मैने कई क्रिकेटरों से बात की है जो समय के साथ निखरते गए हैं। 

धोनी की बात याद आई

उन्होंने कहा कि मुझे याद है जब मैंने एमएस (धोनी) से बात की थी। उन्होंने मुझे बताया था कि पहली बार भारत की कप्तानी करने से पहले वह किसी टीम के कप्तान नहीं थे। अब वह सबसे सफल कप्तानों में से एक माने जाते हैं। 

टीम की मदद करने पर फोकस

बुमराह ने कहा कि मैं इस पर फोकस कर रहा हूं कि टीम की मदद कैसे कर सकता हूं। इस पर नहीं कि मैने पहले क्या किया है या क्रिकेट की परंपरा या नियम कैसे बने हैं। टेस्ट क्रिकेट में जनवरी 2018 में पदार्पण करने वाले बुमराह ने कहा कि भारत के लिये टेस्ट खेलना हमेशा मेरा सपना था और टेस्ट मैच में कप्तानी करना करियर की सबसे बड़ी उपलब्धि है। मुझे खुशी है कि मुझे यह मौका मिला। मुझे खुद पर काफी भरोसा है। 

चुनौती के लिये तैयार

इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज के आखिरी मैच के बारे में उन्होंने कहा कि उनकी टीम चुनौती के लिये तैयार है। उन्होंने कहा कि हमारा पूरा फोकस मैच पर है और हम पूरी तरह से तैयार हैं। खिलाड़ियों की भूमिका काफी अहम है। विराट की सलाह काफी महत्वपूर्ण होगी।

Latest Cricket News

लाइव स्कोरकार्ड

>independence-day-2022