1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अन्य देश
  5. कनाडा ने चीन से की गुजारिश, कहा- हमारे आदमी को छोड़ दो, उसे फांसी मत दो, रहम करो

कनाडा ने चीन से की गुजारिश, कहा- हमारे आदमी को छोड़ दो, उसे फांसी मत दो, रहम करो

चीन द्वारा कनाडा के एक नागरिक को फांसी की सजा दिए जाने के बाद दोनों देशों के रिश्ते अस्थिर दौर से गुजर रहे हैं।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: January 16, 2019 14:55 IST
Canada calls for clemency over drug trafficking death sentence for Robert Schellenberg in China | AP- India TV Hindi
Canada calls for clemency over drug trafficking death sentence for Robert Schellenberg in China | AP 

मॉन्ट्रियल: चीन द्वारा कनाडा के एक नागरिक को फांसी की सजा दिए जाने के बाद दोनों देशों के रिश्ते अस्थिर दौर से गुजर रहे हैं। इस बीच कनाडा ने मंगलवार को चीन से अनुरोध किया कि वह मादक पदार्थों की तस्करी के मामले में मौत की सजा का सामना कर रहे कनाडाई नागरिक पर दया करे। आपको बता दें कि चीन ने कनाडाई नागरिक रॉबर्ट ल्यॉड शेलेनबर्ग (36) को मादक पदार्थों की तस्करी के लिये सोमवार को मौत की सजा सुनाई थी।

शेलेनबर्ग को सजा सुनाए जाने के बाद कनाडा ने चीन पर मनमाने तरीके से कानून लागू करने का आरोप लगाते हुए अपने नागरिकों को चीन की यात्रा को लेकर चेतावनी जारी की थी। बीते महीने चीनी नागरिक और हुआवेई कंपनी कि मुख्य वित्तीय सलाहकार मेंग वांगझोउ की कनाडा में गिरफ्तारी के बाद दोनों देशों के विवाद पैदा हुआ था, जिसे शैलेनबर्ग के मामले ने और बढ़ा दिया है। कनाडा की विदेश मंत्री क्रिस्टिया फ्रीलैंड ने कहा कि हम पहले ही कनाडा में चीन के राजदूत से शेलैनबर्ग को माफ करने का अनुरोध कर चुके हैं।

फ्रीलैंड ने कहा, ‘हम इसे अमानवीय और अनुचित मानते हैं और जहां भी कनाडाई नागरिक को मौत की सजा दिये जाने पर विचार किया गया, हमने उसका विरोध किया है।’ इससे पहले चीन ने शैलेनबर्ग को मौत की सजा दिये जाने पर कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के बयान को गैर-जिम्मेदाराना करार दिया था। ट्रूडो ने कहा था कि चीन ने मनमाने तरीके से यह फैसला लिया है।

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Around the world News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment
X