Tuesday, April 16, 2024
Advertisement

तुर्की और सीरिया में यमदूतों से भिड़ी Indian Army, तुर्किश महिला ने चूम लिया भारत की इस बेटी का माथा

तुर्की और सीरिया के विनाशकारी भूकंप में मदद करने के मामले में भारत सबसे आगे निकल चुका है। लिहाजा तुर्की और सीरिया भारत की इस मदद के मुरीद हो गए हैं। तुर्की के राष्ट्रपति रिसेप तेइप एर्दोगन ने तो यह तक कह दिया कि वैसे तो हमारे बहुत दोस्त बनते थे, लेकिन जो "मुसीबत के वक्त काम आए वही असली दोस्त है।"

Dharmendra Kumar Mishra Written By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Published on: February 10, 2023 18:08 IST
भारतीय महिला सैन्य डॉक्टर का खुशी से माथा चूमती तुर्किश महिला- India TV Hindi
Image Source : FILE भारतीय महिला सैन्य डॉक्टर का खुशी से माथा चूमती तुर्किश महिला

नई दिल्ली। तुर्की और सीरिया के विनाशकारी भूकंप में मदद करने के मामले में भारत सबसे आगे निकल चुका है। लिहाजा तुर्की और सीरिया भारत की इस मदद के मुरीद हो गए हैं। तुर्की के राष्ट्रपति रिसेप तेइप एर्दोगन ने तो यह तक कह दिया कि वैसे तो हमारे बहुत दोस्त बनते थे, लेकिन जो "मुसीबत के वक्त काम आए वही असली दोस्त है।" एर्दोगन ने कहा कि "भारत हमारी मुसीबत में सबसे पहले काम आया है, इसलिए वही मेरा असली दोस्त है।" एर्दोगन ने इस मानवीय मदद के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय सेना का शुक्रिया अदा किया है। भूकंप के चार दिन बीत जाने के बाद भी लोगों की जान बचाने में भारतीय सेना यमदूतों से भिड़ी है। 

तुर्की और सीरिया में मलबे से अभी भी कई लोगों को जिंदा निकाला जा रहा है। घायलों की जान बचाने के लिए भारतीय सेना ने 30 बेड का फील्ड अस्पताल बनाया है, जहां 24 घंटे आपरेशन और इलाज की सुविधा दी जा रही है। भारतीय सेना की मेडिकल टीम में महिला चिकित्सक भी मौजूद हैं। तुर्की में एक ऐसी ही भारतीय सेना की डॉक्टर का तुर्किश महिला ने खुशी से माथा चूम लिया। महिला सैन्य अधिकारी की यह तस्वीर पूरी दुनिया में अब वायरल हो रही है और सराहना बटोर रही है। भारत ने तुर्की और सीरिया की मदद के लिए अब 4 से अधिक सैन्य विमान भेजे हैं, जिसमें 100 से अधिक डॉक्टरों समेत 500 से अधिक सहायता टीम गई है। इसमें एनडीआरएफ और भारतीय सेना भी शामिल है। 6 टन से अधिक दवाइयां और अन्य राहत सामग्री भी दोनों देशों को भारत की ओर से भेजी जा चुकी है।  

भारत ने जीता दुनिया का दिल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हमेशा मानवीयता के पक्षधर रहे हैं। लिहाजा वह मानवीयता की मदद में सबसे आगे रहते हैं। यही वजह है कि भूकंप आते ही सबसे पहले तुर्की और सीरिया में इंडियन एयरफोर्स के विमान पहुंचे थे। इनमें चिकित्सकों के साथ एनडीआरएफ और सेना के जवान शामिल हैं, जो मलबे में दबे लोगों को निकालने के साथ उन्हें इलाज और अन्य तरह की राहत देने का काम कर रहे हैं। चिकित्सकों की टीम में एक महिला सैन्य अधिकारी मेजर डॉ. बीना तिवारी भी हैं। चिकित्सा मुहैया कराने में जुटी बीना तिवारी पर खुश होकर एक तुर्किश महिला ने उनका माथा चूम लिया। उनकी यह तस्वीर सोशल मीडिया पर अब तेजी से वायरल हो रही है। भारत की इस मदद की पूरी दुनिया कायल हो गई है। तुर्की और सीरिया के लोग भी पीएम मोदी और भारतीय सेना को सलाम कर रहे हैं। 

प्रधानमंत्री मोदी रख रहे पल-पल के हालात पर नजर
तुर्की और सीरिया में भूकंप पीड़ितों की मदद के लिए ऑपरेशन दोस्त चलाने वाले प्रधानमंत्री मोदी वहां के हालात पर पल-पल नजर रख रहे हैं। पीएम मोदी एर्दोगन से फोन पर भी बात कर चुके हैं और उन्हें भारत की ओर से हर संभव मदद का भरोसा देने के साथ ही टीम भी तत्काल भेज दी थी। पीएम मोदी ने तुर्की और सीरिया में भारतीय सेना और एनडीआरएफ की टीम द्वारा पहुंचाई जा रही मदद की सराहना भी की है। उन्होंने भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बगीची के एक ट्वीट को रिट्वीट करके भारतीय सेना के कार्य की सराहना की है। 

यह भी पढ़ें...

सीरिया में मलबे के नीचे दबी मां की मौत के बाद चमत्कारिक रूप से पैदा हुई थी बच्ची, अब मिला ये नाम और नया ठिकाना

तुर्की-सीरिया में भूकंप से मरने वालों की संख्या 21 हजार के पार, WHO महासचिव टेड्रोस सीरिया रवाना

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Around the world News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement