Pakistan: इस मुश्किल घड़ी में भी 'जानवरों' की तरह बर्ताव कर रहे पाकिस्तानी लोग, रेस्क्यू करने आए पुलिस वालों को मारे पत्थर, वजह जानकर होंगे हैरान

Pakistan Terrorism: एक पुलिस प्रवक्ता के अनुसार, जब अधिकारी शिविर के बाहर अपनी ड्यूटी का निर्वहन कर रहे थे तो महिलाओं सहित कुछ दंगाइयों ने मुख्य सड़क को अवरुद्ध कर दिया, जिससे कानून-व्यवस्था की स्थिति पैदा हो गई और बाढ़ प्रभावित परिवारों को अधिकारियों के खिलाफ भड़काया गया।

Shilpa Edited By: Shilpa
Updated on: August 29, 2022 18:18 IST
Pakistan Stone Pelting- India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV Pakistan Stone Pelting

Highlights

  • पाकिस्तान में बाढ़ के कारण हजारों लोग प्रभावित
  • एक हजार से अधिक लोगों की मौत हुई
  • बाढ़ से प्रभावित लोगों ने पुलिस पर किया हमला

Pakistan: पाकिस्तान के सिंध प्रांत में प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ और विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो के बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के दौरे के दौरान पुलिसकर्मियों पर हमला करने, पथराव करने और सार्वजनिक संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने वाले 100 से अधिक लोगों पर आतंकवाद के आरोप में मामला दर्ज किया गया है। प्रधानमंत्री शरीफ ने विदेश मंत्री भुट्टो, सिंध के मुख्यमंत्री मुराद अली शाह और अन्य मंत्रियों के साथ बाढ़ की स्थिति का जायजा लेने के लिए शुक्रवार को सुक्कुर जिले का दौरा किया था और राहत शिविरों में विस्थापित परिवारों से बातचीत की थी। प्रधानमंत्री के एक राहत शिविर के दौरे के दौरान, विभिन्न क्षेत्रों के प्रभावित परिवारों ने रुके हुए पानी को बाहर निकालने में प्रशासन की विफलता के खिलाफ कुछ सड़कों को अवरुद्ध कर दिया।

एक पुलिस प्रवक्ता के अनुसार, जब अधिकारी शिविर के बाहर अपनी ड्यूटी का निर्वहन कर रहे थे तो महिलाओं सहित कुछ दंगाइयों ने मुख्य सड़क को अवरुद्ध कर दिया, जिससे कानून-व्यवस्था की स्थिति पैदा हो गई और बाढ़ प्रभावित परिवारों को अधिकारियों के खिलाफ भड़काया गया। प्रवक्ता ने कहा, ‘जब प्रधानमंत्री और अन्य लोग प्रभावित परिवारों से राहत शिविर में मुलाकात कर रहे थे तो कुछ लोग दूसरों को उन पर हमला करने के लिए उकसाते रहे और सार्वजनिक संपत्तियों पर भी हमले किये और उन्हें नुकसान पहुंचाया। उन्होंने रोकने की कोशिश करने वाले पुलिसकर्मियों के साथ दुर्व्यवहार किया।’

लोगों ने सड़कों को अवरुद्ध किया

उन्होंने दावा किया कि कुछ लोगों ने वर्षा के कारण जलजमाव की समस्या का समाधान करने में प्रशासन की विफलता के खिलाफ विभिन्न क्षेत्रों के प्रभावित परिवारों को कुछ सड़कों को अवरुद्ध करने के लिए उकसाया। उन्होंने दावा किया कि भीड़ ने वाहनों के शीशे भी तोड़ दिए, जिसके परिणामस्वरूप आठ घंटे तक यातायात बाधित रहा। प्रवक्ता ने कहा, ‘हमने बदमाशों के खिलाफ आतंकवाद-रोधी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है।’ साथ ही, उन्होंने कहा कि सीसीटीवी कैमरे के फुटेज और अन्य वीडियो के जरिये संलिप्त लोगों की पहचान होने पर उनके खिलाफ कानून के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

एक हजार से अधिक लोगों की मौत

पाकिस्तान में जून के मध्य से अब तक बाढ़-जनित घटनाओं में 1,000 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। भारी बारिश के कारण अचानक आई बाढ़ से गांवों में पानी भर गया और फसलें बर्बाद हो गईं। सैनिकों और बचावकर्मियों ने प्रभावित क्षेत्रों से फंसे हुए लोगों को राहत शिविरों में पहुंचाया और हजारों विस्थापित लोगों को भोजन मुहैया कराया। पाकिस्तान के राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने बताया कि इस साल मॉनसून का मौसम शुरू होने के बाद से 1,033 लोगों की मौत हुई है। खैबर पख्तूनख्वा और दक्षिणी सिंध प्रांतों में बाढ़-जनित घटनाओं में कई लोगों के जान गंवाने के मामले सामने आने के बाद मृतकों की संख्या बढ़ी है। पाकिस्तान में इस बार मॉनसून तय समय से पहले आया था।

Latest World News

navratri-2022