Wednesday, July 10, 2024
Advertisement

पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा में पत्रकार की गोली मारकर हत्या, वारदात के बाद फरार हुए हत्यारे

पाकिस्तान में एक बार फिर पत्रकार को निशाना बनाया गया है। खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में पत्रकार की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

Edited By: Amit Mishra @AmitMishra64927
Updated on: June 19, 2024 7:33 IST
पाकिस्तान पुलिस (सांकेतिक तस्वीर)- India TV Hindi
Image Source : FILE AP पाकिस्तान पुलिस (सांकेतिक तस्वीर)

पेशावर: पाकिस्तान में पत्रकार सुरक्षित नहीं हैं। यहां आए दिन पत्रकारों को निशाना बनाया जाता है और उनकी हत्या तक कर दी जाती है। अब ऐसा ही मामला पाकिस्तान के उत्तर-पश्चिम में अशांत खैबर पख्तूनख्वा प्रांत से सामने आया है। यहां अज्ञात बंदूकधारियों ने एक पाकिस्तानी पत्रकार की गोली मारकर हत्या कर दी है। एक कबायली पत्रकार संघ ने इस हत्या को लेकर  जानकारी दी है। 

घर के पास मारी गई गोली 

पश्तो समाचार चैनल 'खैबर न्यूज' से जुड़े खलील जिब्रान की खैबर जिले के मजरीना सुल्तानखेल इलाके में उनके घर के पास गोली मारकर हत्या कर दी गई। साजिद नाम का एक अन्य व्यक्ति गोलीबारी में घायल हो गया है। हमलावर, पत्रकार की हत्या करने के बाद घटनास्थल से भागने में सफल रहे। सूत्रों ने बताया कि पुलिस की टीमें घटनास्थल पर पहुंची हैं और मामले की जांच शुरू कर दी गई है।  

पहले भी हुए हैं हमले

यह पहला मौका नहीं है जब पाकिस्तान में किसी पत्रकार की हत्या की गई है। इससे पहले मई के महीने में प्रेस फ्रीडम डे पर भी पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत एक बम ब्लास् हुआ था। इस ब्लास्ट में एक वरिष्ठ पत्रकार की मौत हो गई थी और सात अन्य लोग घायल हो गए थे। मृतक पत्रकार की पहचान खुजदार प्रेस क्लब के अध्यक्ष मुहम्मद सिद्दीक मेंगल के रूप में हुई थी।  मेंगल जब खुजदार शहर के बाहरी इलाके में सुल्तान इब्राहिम राजमार्ग से जा रहे थे, उसी समय एक रिमोट-नियंत्रित बम ने उनके वाहन को टक्कर मार दी थी जिसके बाद हुए ब्लास्ट में उनकी मौत हो गई थी। 

ये है पाकिस्तान का हाल 

यहां यह भी बता दें कि, साल 2023 में रिपोर्टर्स सैन्स फ्रंटियर्स की ओर से प्रकाशित विश्व प्रेस स्वतंत्रता सूचकांक में पाकिस्तान 180 देशों में से 150वें स्थान पर था। रिपोर्टर्स सैन्स फ्रंटियर्स एक गैर-लाभकारी संस्था है जो सूचना की स्वतंत्रता का बचाव और प्रचार करती है। फ्रीडम नेटवर्क की एक रिपोर्ट के अनुसार, 2012 से 2022 तक पाकिस्तान में कम से कम 53 पत्रकारों की हत्या कर दी गई है जिनमें केवल दो मामलों में सजा हुई है। (भाषा)

यह भी पढ़ें:

24 साल में पहली बार उत्तर कोरिया पहुंचे रूसी राष्ट्रपति पुतिन, किम जोंग उन ने किया स्वागत

ये लो! पाकिस्तान में ऊंट का पैर ही काट दिया, ये भी जान लीजिए ऐसा शर्मनाक काम किसने किया?

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement