कर्ज में डूबे पाकिस्तान में ट्रेन का किराया 10 हजार रुपए! और महंगा हुआ रेल का सफर, पढ़ें पूरी डिटेल

पाकिस्तान कर्ज में डूबकर पैसे पैसे को मोहताज हो गया है। शहजाब शरीफ के पाकिस्तान में आम आदमी के सफर के लिए चलने वाली ट्रेन का किराया आसमान छू रहा है। हालात यह हैं कि ट्रेन का किराया 10 हजार रुपए तक पहुंच गया है। जानिए किराए में कितने फीसदी की बढ़ोतरी करके जैसे तैसे इकोनॉमी चलाने के लिए पैसा जुटा रहा है पड़ोसी मुल्क।

Deepak Vyas Written By: Deepak Vyas @deepakvyas9826
Updated on: January 23, 2023 16:03 IST
कर्ज में डूबे पाकिस्तान में और महंगा हुआ रेल का सफर- India TV Hindi
Image Source : FILE कर्ज में डूबे पाकिस्तान में और महंगा हुआ रेल का सफर

कर्ज में डूबा पाकिस्तान पैसे पैसे को मोहताज हो गया है। हालात ये हैं कि आटे के लिए लड़ाई, बिजली के गहराते संकट, महंगे हुए पेट्रोल दाम का आघात पाकिस्तानी आवाम झेल रही है। अब बढ़े रेल किराए ने पाकिस्तान की कमर तोड़ दी है। रेलवे का सफर महंगा हो गया है। जैसे तैसे इधर उधर से पाकिस्तान पैसे जोड़कर देश चलाने पर मजबूर हो गया है। आलम यह है कि अब एक टिकट की कीमत 10 हजार रुपए तक पहुंच गई है। जानिए बिजली और पेट्रोल के दाम आसमान छूने के बाद अब पाकिस्तान में रेल किराए में कितनी बढ़ोतरी हो गई है। 

इस वक्त पाकिस्तान के हालात अच्छे नहीं हैं। मूलभूत आवश्यकताएं भी पाकिस्तानियों को नसीब नहीं हो पा रही है। देश की सरकार केवल आरोप और प्रत्यारोप में जुटी है। जब खजाने में धन ही नहीं होगा, ​तो सिर्फ जुबान चलाने से कुछ नहीं हो सकता। ये बात अब पाकिस्तान की जनता को भी समझ में आने लगी है। पाकिस्तान की शहबाज शरीफ सरकार आर्थि तंगी से निपटने के लिए हर क्षेत्र में पैसे में इजाफा कर रही है।

स्पेशल ट्रेन के किराए में 25 फीसदी तक बढ़ोतरी

पिछले ही दिनों पाकिस्तान बिजली विभाग ने बिजली के दामों में बढ़ोतरी की। अब पाकिस्तान के रेल मंत्रालय में देश के स्पेशल ट्रेन के किराए में 25 फीसदी की बढ़ोतरी करने का फैसला लिया है। सस्ते माल के लिए मशहूर चीन से पाकिस्तान ने ट्रेन मंगाई है। पाकिस्तान ने चीन से बनकर आई इसी ग्रीनलाइन एक्सप्रेस ट्रेन की सेवा पिछले महीने 20 दिसंबर से ही बहाल करने का फैसला लिया था। हालांकि आर्थिक तंगी की वजह से सरकार ने अब फैसला किया है कि वो 27 जनवरी से शुरू करेगी। ये ग्रीनलाइन एक्सप्रेस ट्रेन इस्लामाबाद और कराची के बीच चलने वाली है। पाकिस्तान के मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सरकार ने ग्रीन लाइन ट्रेन के किराए में 25 फीसदी की बढ़ोतरी करने का फैसला किया है। यह बढ़ोतरी करके यात्रियों की जेब से पैसा निकालकर अपना खजाना भरने का मंसूबा पाकिस्तानी सरकार पाल रही है। 

एक टिकट की अधिकतम कीमत 10,000 रुपए

ग्रीन लाइन एक्सप्रेस ट्रेन में 2 एसी पार्लर, 5 एसी बिजनेस, 6 एसी स्टैंडर्ड और 4 से 5 इकोनॉमी क्लास के कोच हैं। पाकिस्तान रेलवे ने रावलपिंडी से कराची तक ग्रीन लाइन ट्रेन का इकोनॉमी क्लास टिकट बढ़ाकर 4000 रुपए कर दिया है। वहीं कराची से रावलपिंडी के लिए एसी मानक टिकट तो बढ़ाकर 8000 रुपए निर्धारित कर दिया है, जो कि पाकिस्तानी यात्रियों के लिए बहुत बड़ी राशि होती है।

इसी तरह, कराची से रावलपिंडी तक बिजनेस क्लास का किराया बढ़ाकर 10,000 और लाहौर-कराची से 9,500 कर दिया गया है। इससे पहले, रेलवे से संबंधित अधिकारी ख्वाजा साद रफीक को लाहौर से कराची तक ग्रीन लाइन के यात्रा समय को घटाकर 20 घंटे से कम करने का निर्देश दिया, जिससे नेशनल रेलवे में यात्रियों का विश्वास बहाल होगा।

100 अरब डॉलर के कर्ज में डूबा है पाकिस्तान

इस समय पाकिस्तान पर 100 अरब डॉलर का कर्ज है। पाकिस्तान के पीएम शहबाज शरीफ लगातार पड़ोसी मुल्क चीन और सऊदी अरब से कर्ज मांग रहे हैं। हालांकि सऊदी अरब ने 10 अरब डॉलर का कर्ज देने का वादा किया है। पाकिस्तान का विदेशी मुद्रा भंडार भी 4 बिलियन डॉलर ही है, जो मौजूदा हालात को देखते हुए काफी कम है। अरब ने भी अब हाल ही में घोषणा कर दी है कि वह बिना शर्त किसी देश को कर्ज नहीं देगा। दावोस में हाल ही में की गई सऊदी अरब की इस घोषणा ने पाकिस्तान की नींद उड़ा दी है। 

20-25 दिन बाद मिल रही सैलरी 

रेलवे विभाग के कर्मचारियों को उनके नियत वेतन और भत्ते भी नहीं मिल पा रहे हैं। इसके साथ ही पिछले एक साल में सेवानिवृत्त हुए कई कर्मचारियों के लिए ग्रेच्युटी के रूप में लगभग 25 अरब रुपए की देनदारी बची हुई है। हालात इस कदर तक बिगड़ चुके हैं कि कर्मचारियों को 20-25 दिनों बाद तक उनकी सैलरी दी जा रही है और पिछले महीने का वेतन भी अटका ही रहा। 

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन