1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. अमेरिका में व्हाइट हाउस के बाहर पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़प

जॉर्ज फ्लॉयड मौत मामला: व्हाइट हाउस के बाहर पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़प, पुलिस ने आंसू गैस गोले छोड़े

अमेरिका में अफ्रीकी मूल के अमेरिकी नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस हिरासत में मौत को लेकर व्हाइट हाउस के बाहर पुलिस और सैन्यकर्मियों और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़पें हुईं।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: June 02, 2020 7:19 IST
Violent clashes erupted outside the White House in the wake of the death of George Floyd- India TV Hindi
Image Source : AP Violent clashes erupted outside the White House in the wake of the death of George Floyd

वाशिंगटन: अमेरिका में अफ्रीकी मूल के अमेरिकी नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस हिरासत में मौत को लेकर व्हाइट हाउस के बाहर पुलिस और सैन्यकर्मियों और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़पें हुईं। हालात इस तरह बिगड़ गए की व्हाइट हाउस के बाहर आंसू गैस के गोल तक छोड़ने पड़े है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने हिंसक हो रहे हालात पर कहा कि मैंने आज हर गवर्नर को सड़कों पर पर्याप्त संख्या में नेशनल गार्ड तैनात करने की पुरजोर सिफारिश की है।

डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि यदि कोई सिटी या स्टेट अपने निवासियों के जीवन और संपत्ति की रक्षा के लिए आवश्यक कार्रवाई करने से इनकार करता है, तो मैं वहां अमेरिका की सेना को तैनात करूंगा और लोगों की समस्या का शीघ्र समाधान करूंगा। उन्होनें कहा कि वाशिंगटन डीसी में कल रात जो हुआ वह एक अपमान जैसा था। मैं दंगों में लूटपाट, बर्बरता, हमले और संपत्ति के नुकसान को रोकने के लिए हजारों की संख्या में सशस्त्र सैनिकों, सैन्य कर्मियों और कानून प्रवर्तन अधिकारियों तैनात करूंगा।

अमेरिका में कई दिनों से जारी हिंसा में अब तक कम से कम पांच लोगों की मौत हो गई है, हजारों लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है और करीब 40 शहरों में कर्फ्यू लगाया गया है जबकि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को व्हाइट हाउस के बंकर में शरण लेनी पड़ी है। 

अमेरिका में पिछले कई दशकों में अब तक के सबसे बड़ी नागरिक अशांति माने जा रहे ये हिंसक प्रदर्शन फ्लॉयड की मौत के बाद अमेरिका में कम से कम 140 शहरों तक फैल गए हैं। कुछ प्रदर्शनों के हिंसक रूप ले लेने के बाद कम से कम 20 राज्यों में नेशनल गार्ड के सैनिकों की तैनाती कर दी गई है। वाशिंगटन पोस्ट ने खबर दी, “देश के कई हिस्सों में प्रदर्शनों के उपद्रव का रूप ले लेने के बाद कम से कम पांच लोगों की मौत हो गई।” 

खबर में बताया गया कि पुलिस ने सप्ताहांत में दो दर्जन अमेरिकी शहरों से कम से कम 2,564 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें से 20 प्रतिशत गिरफ्तारी लॉस एंजिलिस में हुई हैं। यह अशांति शुरुआत में मिनेसोटा के मिनीपोलिस से शुरू हुई थी लेकिन अब पूरे देश में फैल चुकी है जहां लॉस एंजिलिस, शिकागो, न्यूयॉर्क, ह्यूस्टन, फिलेडेल्फिया और वाशिंगटन डीसी समेत बड़े शहरों से हिंसा की खबरें आ रही हैं।

न्यूयॉर्क टाइम्स की खबर में कहा गया, “अमेरिका में पुलिस के हाथों एक और अश्वेत व्यक्ति की हत्या के बाद से राष्ट्रव्यापी अशांति के छठे दिन रविवार को भी भावनाओं, आक्रोश और जारी हिंसा की विस्फोटक स्थिति बनी हुई है।” 

 

 

 

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment
X