Saturday, July 20, 2024
Advertisement

सुकमा में नक्सलियों ने किया IED ब्लास्ट, 2 जवान हुए शहीद

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले से बड़ी खबर सामने आई है। यहां नक्सलियों द्वारा लगाए गए आईईडी विस्फोट में दो जवान शहीद हो गए। ये धमाका सिलगेर और तेकुलागुडेम के बीच हुआ है।

Edited By: Malaika Imam @MalaikaImam1
Updated on: June 23, 2024 23:44 IST
प्रतीकात्मक फोटो- India TV Hindi
Image Source : REPRESENTATIVE IMAGE प्रतीकात्मक फोटो

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित जिला सुकमा से बड़ी खबर सामने आई है। यहां आईईडी विस्फोट में दो जवान शहीद हो गए। पुलिस ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि ये धमाका जगरगुंडा थाना क्षेत्र के अंतर्गत सिलगेर और तेकुलागुडेम के बीच हुआ है। पुलिस ने बताया कि नक्सलियों द्वारा लगाए गए आईईडी विस्फोट में सीआरपीएफ कोबरा 201 बटालियन के 2 जवान शहीद हो गए। जानकारी के मुताबिक, जवान राशन लेकर कैंप जा रहे थे। इसी दौरान सिलगेर और तेकुलागुडेम के बीच नक्सलियों ने जवानों के ट्रक को IED ब्लास्ट कर उड़ाया। शहीद जवानों के पार्थिव शरीर को घटनास्थल से निकाला जा रहा है।

भारी मात्रा में जाली नोट बरामद

वहीं, सुरक्षाबलों ने सुकमा जिले में भारी मात्रा में जाली नोट और इन्हें छापने के लिए नक्सलियों द्वारा इस्तेमाल किए गए उपकरण बरामद किए हैं। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने रविवार को इसकी जानकारी दी। राज्य में नक्सलियों की ओर से छापे गए जाली नोट पहली बार भारी मात्रा में बरामद किए गए हैं। पुलिस के मुताबिक, बस्तर क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों में साप्ताहिक हाट में नक्सली लंबे समय से कथित तौर पर जाली नोटों का इस्तेमाल कर आदिवासियों से ठगी कर रहे थे। 

अर्थव्यवस्था प्रभावित करने का प्रयास 

सुकमा के पुलिस अधीक्षक किरण जी. चव्हाण का दावा है कि नक्सली भारतीय अर्थव्यवस्था को भी प्रभावित करने का प्रयास कर रहे थे। उन्होंने बताया कि जिले के कोरजगुडा गांव के समीप एक जंगल में शनिवार को सुरक्षाकर्मियों के संयुक्त दल के तलाश अभियान के दौरान जाली नोट जब्त की गई। चव्हाण ने इस कार्रवाई को नक्सलरोधी अभियान में एक महत्वपूर्ण सफलता बताते हुए कहा, "राज्य पिछले तीन दशक से अधिक समय से इस समस्या से जूझ रहा है। राज्य में नक्सलियों द्वारा छापे गए जाली नोट पहली बार बरामद किए गए हैं।"

उन्होंने बताया कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की 50वीं बटालियन, जिला रिजर्व गार्ड (डीआरजी), बस्तर 'फाइटर्स' के जवान इस अभियान में शामिल थे। उन्होंने बताया कि नक्सली सुकमा जिले के मैलासुर, कोराजगुडा और दंतेशपुरम में जाली नोट छापने में संलिप्त थे। अधिकारी ने बताया कि कोराजगुडा के निकट सुरक्षाकर्मियों की मौजूदगी देखकर नक्सली घने जंगल में भाग गए, लेकिन अपनी वस्तुएं छोड़ गए। पुलिस अधीक्षक चव्हाण ने बताया कि तलाशी के दौरान भारी मात्रा में 50, 100, 200 और 500 रुपये के जाली नोट, दो प्रिंटिंग मशीन, एक इंवर्टर मशीन, स्याही की 200 बोतलें, प्रिंटर के 4 कार्ट्रिज, 9 प्रिंटर रोलर, 6 वायरलेस सेट, उसके चार्जर और बैटरी बरामद की गईं। चव्हाण ने बताया कि दो बंदूक, भारी मात्रा में विस्फोटक, अन्य सामग्री और नक्सलियों की पोशाक भी जब्त की गई। (भाषा इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें- 

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें छत्तीसगढ़ सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement