1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. हेल्थ
  4. आधी रात को अचानक क्यों खुल जाती है नींद, ये पांच कारण हैं जिम्मेदार

आधी रात को अचानक क्यों खुल जाती है नींद, ये पांच कारण हैं जिम्मेदार

अगर रोजाना बीच रात में आपकी नींद खुल जाए और फिर गहरी नींद न आए तो ये किसी बीमारी का संकेत या गलत आदतों का नतीजा हो सकता है

India TV Health Desk India TV Health Desk
Updated on: November 23, 2021 12:58 IST
 Top 5 reasons why you wake up in the middle of the night - India TV Hindi
Image Source : FREEPIK.COM  Top 5 reasons why you wake up in the middle of the night 

Highlights

  • अच्छी सेहत के लिए कम से कम 7 घंटे की नींद लेना बहुत जरूरी है।
  • बार-बार नींद टूटने का एक कारण तनाव भी हो सकता है।

दिनभर भागदौड़ भरी लाइफ की थकावट उतारने के लिए अच्छी नींद लेना बहुत जरूरी हैं। लेकिन आज के समय में सोशल मीडिया की अधिक लत होने के कारण देर रात तक जगते रहते हैं। इसके बाद किसी न किसी तरह से सोने की कोशिश करते हैं। लेकिन बीच में कई बार नींद खुल जाती हैं, जिसके कारण आपको अधिक चिड़चिड़ाहट या फिर गुस्सा आने लगता है। क्योंकि एक बार नींद टूट जाने के बाद दोबारा नींद आना काफी मुश्किल होता है। ऐसे में आप धीरे-धीरे कई बीमारियों के शिकार हो जाते हैं। 

अगर कभी-कभी नींद खुले तो नॉर्मल बात है। लेकिन अगर आपके साथ ऐसा रोजाना हो रहा हैं तो आपको थोड़ा सा सतर्क होने की जरूरत है। दरअसल हमारी दिनचर्या में कई ऐसी चीजें होती हैं जिन्हें हम नॉर्मल समझते हैं लेकिन वह हमारे स्वास्थ्य पर बुरा असर डालती हैं। जानिए ऐसे ही कुछ कारणों के बारे में, जिसके कारण आपकी नींद बार-बार खुल जाती हैं। 

सर्दी आते ही सताने लगा है जोड़ों का दर्द? स्वामी रामदेव से जानिए अर्थराइटिस का कारगर इलाज

बार-बार नींद खुलने का कारण

तनाव

आमतौर पर तनाव के कारण भी नींद खुल जाने की समस्या का सामना करना पड़ता है। डॉक्टरों के अनुसार करीब 17 प्रतिशत महिलाओं को तनाव की समस्या शुरूआत होती हैं। दिनके बारे में उन्हें पता ही नहीं होता है। क्योंकि अवसाद के लक्षण बहुत नॉर्मल होते हैं, जिनमें नकारात्मक विचार, अत्यधिक चिंता, एनर्जी की कमी और शरीर में दर्द शामिल हैं। 

सोशल मीडिया का अधिक इस्तेमाल
अगर आप सोने से पहले सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते हैं तो इसका फर्क भी आपकी नींद पर अधिक पड़ेगा। आंखों में मोबाइल की लाइट पड़ने के कारण शरीर मेलाटोनिन और स्लीप हार्मोन को बनने से रोकता है, जिसके कारण नींद में खलल पड़ता है। 

डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद है गाजर, ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए ऐसे करें सेवन

सोने से पहले एल्कोहाल लेना
अगर आप सोने से पहले थोड़ी मात्रा में एल्कोहाल का सेवन करते हैं तो इससे आपको नींद आने में मदद मिलती हैं। लेकिन इसका सेवन अधिक मात्रा में करने से नींद को बढ़ावा देने वाले केमिकल एडिनोसिन का उत्पादन शरीर में बढ़ जाता है, जिसके कारण व्यक्ति की रात में बार-बार नींद खुल जाती है। 

स्लीप एप्निया
ये नींद से संबधित बीमारी है जिसके चलते लोगों को कम नींद आती है और आधी रात में नींद खुल जाती है। इस रोग में व्यक्ति रात में बार-बार सांस लेना बंद कर देता है जो कुछ सेकंड से लेकर पूरे एक मिनट तक, जिसके कारण वह थोड़े समय के लिए जाग जाता है। 

थायराइड की समस्या
थायराइड से ग्रसित मरीजों को भी इस समस्या का सामना करना पड़ता है।  थायराइड के कारण हार्मोन इनबैलेंस हो जाते हैं, जिसके कारण नींद पर असर पड़ता है। जब थायराइड अति सक्रिय होता है तो आपका दिल तेजी से काम करने लदता है, जिससे आपका एड्रेनालाईन हार्मोन बढ़ता है और आपको अनिद्रा और चिंता की समस्या का सामना करना पड़ता है। 

bigg boss 15