Saturday, April 13, 2024
Advertisement

इस विटामिन की कमी है खतरनाक! जर्जर हो जाती हैं हड्डियों, हल्की सी चोट में भी नहीं रुकती ब्लीडिंग

विटामिन K की कमी से रोग: अक्सर हम सभी विटामिन डी और बी12 के बारे में ही ज्यादा बात करते हैं। जबकि, इन दोनों से भी ज्यादा जरूरी है ये विटामिन जो कि आपको कई बीमारियों से बचा सकता है। क्यों और कैसे, जानते हैं इस बारे में विस्तार से।

Pallavi Kumari Written By: Pallavi Kumari @Shabdita_Pallav
Published on: February 29, 2024 18:11 IST
vitamin k deficiency diseases- India TV Hindi
Image Source : SOCIAL vitamin k deficiency diseases

विटामिन K की कमी से रोग: इन दोनों सिर्फ दो विटामिन की ज्यादा बात हो रही है। पहले तो विटामिन डी और दूसरा विटामिन बी12। जबकि, इन दोनों से ज्यादा जरूरी है ये विटामिन जिसकी कमी से शरीर अंदर ही अंदर खोखला होने लगता है। इतना ही नहीं इस विटामिन की कमी जन्म से ही आपक बीमार कर सकती है। इसके अलावा भी कई ऐसे रोग हैं जो कि इन विटामिन की कमियों की वजह से होते हैं। तो, आइए जानते हैं विटामिन K की कमी (vitamin k deficiency) से कौन से रोग होते हैं।

विटामिन K की कमी से होने वाले रोग-Vitamin K deficiency diseases

1. ब्लीडिंग डिसऑर्डर

आपको जानकर हैरानी हो सकती है कि विटामिन K की कमी की वजह से आपको ब्लीडिंग डिसऑर्डर की समस्या हो सकती है। इसकी वजह से होता ये है कि जिस भी अंग में चोट लगती है या फिर पीरियड्स तक में हैवी ब्लीडिंग होती है। दरअसल, ये विटामिन ब्लड क्लॉटिग में अपनी भूमिका निभाता है जिसकी कमी से लगातार या फिर हैवी ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है। 

इस ड्राई फ्रूट में है सबसे ज्यादा फाइबर! दूध में भिगोकर खाएं इन 3 बीमारियों के रोगी

2. हड्डियों का खोखलापन

विटामिन के हड्डियों के खोखेलपन से भी जुड़ा हुआ है। दरअसल, जब शरीर में इसकी कमी होती है तो हड्डियां कैल्शियम और पोटेशियम जैसी चीजों को अच्छी तरह से अवशोषित नहीं कर पाती है जिससे हड्डियां अंदर से कमजोर हो जाती हैं और खोखली होने लगती हैं। तो, हड्डियों को खोखली होने स बचाने के लिए विटामिन K की कमी से बचें। 

vitamin k deficiency

Image Source : SOCIAL
vitamin k deficiency

क्या है ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस जो जवानी में ही बना देता है बूढ़ा, कम करने के लिए मानें डॉक्टर की ये सलाह

3. सिस्टिक फाइब्रोसिस

सिस्टिक फाइब्रोसिस (cystic fibrosis ) एक आनुवंशिक स्थिति है जो शरीर में प्रोटीन को प्रभावित करती है। जिन लोगों को सिस्टिक फाइब्रोसिस होता है उनमें खराब प्रोटीन होता है जो शरीर की कोशिकाओं, उसके ऊतकों और बलगम और पसीना बनाने वाली ग्रंथियों को प्रभावित करता है। इसमें फेफड़ों में बलगम की समस्या होती है और कई बार ये फेफड़े और पेट से जुड़े कई अंगों में इंफेक्शन का कारण बनता है।

(ये आर्टिकल सामान्य जानकारी के लिए है, किसी भी उपाय को अपनाने से पहले डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें)

Latest Health News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें हेल्थ सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement