1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. कश्मीर से प्रवासी मजदूरों की वापसी शुरू! 'टारगेट किलिंग' की वजह डरे लोग

कश्मीर से प्रवासी मजदूरों की वापसी शुरू! 'टारगेट किलिंग' की वजह डरे लोग

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट किया, "निर्दोष नागरिकों पर बार-बार होने वाले बर्बर हमलों की निंदा करने के लिए शब्द नहीं हैं। मेरी संवेदना उनके परिवारों के साथ है क्योंकि वे सम्मानजनक आजीविका कमाने के लिए अपने घरों से निकले हुए हैं। बहुत दुख की बात है।"

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: October 18, 2021 10:51 IST

श्रीनगर. कश्मीर घाटी से प्रवासी मजदूरों ने वापसी शुरू कर दी है। घाटी में इस महीने की शुरुआत से शुरू हुई 'टारगेट किलिंग' की घटनाओं के प्रवासी मजदूर डरे हुए हैं। मीडिया से बातचीत करते हुए कहा मजदूरों ने कहा कि प्रवासी मजदूरों को मारा जा रहा है। बच्चे हमारे साथ हैं, इसलिए हम वापस जा रहे हैं।

कश्मीर में 5 अक्टूबर के बाद 5 प्रवासियों की हत्या हो चुकी है। बिहार के 4 मजदूरों-रेहड़ी वालों का मर्डर हो चुका है। यूपी के एक मुस्लिम कारपेंटर को भी आतंकियों ने मार दिया है। इससे पहले लोकल सिख और हिंदू टीचर की हत्या कर दी गई थी। मशहूर दवा कारोबारी कश्मीरी पंडित मक्खनलाल बिंद्रू को भी आतंकियों ने मार दिया था। अक्टूबर में 2 लोकल मुस्लिमों का भी आतंकियों ने मर्डर किया। 

कश्मीर घाटी में करीब 5 लाख प्रवासी मजदूर हैं। करीब-करीब हर जिले में बिहार समेत दूसरे राज्यों के मजदूर रहते हैं। बताया जाता है कि कश्मीर में कंस्ट्रक्शन का 90 फीसदी काम बाहरी मजदूरों पर ही टिका है। ऐसे में अगर प्रवासी मजदूरों को निशाना बनाया गया तो कश्मीर की इकोनॉमी पर भी असर पड़ सकता है। आपको बता दें कि कश्मीर में आतंकियों ने अपनी रणनीति बदली है, वो अब 'टारगेट किलिंग' को अंजाम दे रहे हैं। आतंकी सुरक्षाबलों से सामना नहीं कर सकते तो बेगुनाहों और निहत्थे लोगों को निशाना बना रहे हैं। कुलगाम में 2 बिहारी मजदूरों की हत्या के साथ ही इसी महीने अबतक 11 लोगों की जान जा चुकी है।

नीतीश ने चिंता जतायी

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जम्मू कश्मीर के वानपोह में हुये आतंकवादी हमले में बिहार के रहने वाले राजा ऋषिदेव और योगेन्द्र ऋषिदेव की हत्या एवं चुनचुन ऋषिदेव के घायल होने पर दुख जताते हुए वहां के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से फोन पर वार्ता कर अपनी चिन्ता व्यक्त की है।

नीतीश ने इस आतंकी हमले में मृत राजा ऋषिदेव और योगेन्द्र ऋषिदेव के निकटतम आश्रित को मुख्यमंत्री राहत कोष से दो-दो लाख रूपये देने की घोषणा की है। साथ ही उन्होंने श्रम संसाधन विभाग एवं समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित योजनाओं से मृतकों के परिजनों को नियमानुसार अन्य लाभ दिलाने का अधिकारियों को निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने इस आतंकवादी हमले में घायल चुनचुन ऋषिदेव के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है। 

bigg boss 15