1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. सुबह जल्दी उठकर मछुआरों के साथ समुद्र में मछली पकड़ने गए राहुल गांधी, खुद बताया जाल में फंसी कितनी मछलियां

सुबह जल्दी उठकर मछुआरों के साथ समुद्र में मछली पकड़ने गए राहुल गांधी, खुद बताया जाल में फंसी कितनी मछलियां

राहुल गांधी ने कहा, "आज तड़के मैं अपने भाइयों के साथ समुद्र में गया। नाव की यात्रा शुरू होने से लेकर उसकी वापसी तक उन्होंने सभी खतरे उठाए…खूब मेहनत की। वे समुद्र में जाते हैं, जाल खरीदते हैं लेकिन उसका फायदा कोई और उठाता है।" उन्होंने कहा, "हमने मछली पकड़ने की कोशिश की लेकिन सिर्फ एक मछली मिली। इतनी मेहनत के बाद भी जाल खाली रह गया। यह मेरा अनुभव है।"

Bhasha Bhasha
Published on: February 24, 2021 12:13 IST
Rahul Gandhi went in sea to catch fishes kerala but got only one fish सुबह जल्दी उठकर मछुआरों के साथ- India TV Hindi
Image Source : ANI सुबह जल्दी उठकर मछुआरों के साथ समुद्र में मछली पकड़ने गए राहुल गांधी, खुद बताया जाल में फंसी कितनी मछलियां (Representational Image)

कोल्लम. कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Congress Leader Rahul Gandhi) ने बुधवार को कोल्लम जिले के थांगस्सेरी तट पर मछुआरों से बातचीत की। केरल में इस साल विधानसभा के चुनाव होने हैं। कांग्रेस नेता पिछले दो दिनों से राज्य की यात्रा पर हैं। राहुल यहां मछुआरों के साथ उनकी नाव में बैठकर समुद्र में भी गए। उन्होंने अपनी यात्रा तड़के चार बजकर 30 मिनट पर वाडी तट से शुरू की और करीब एक घंटे तक वहां रहे और फिर बातचीत स्थल पर पहुंचे। उन्होंने मछुआरों के साथ मिलकर समुद्र में मछली पकड़ने वाला जाल फेंका और उनके साथ मछली भी पकड़ी।

पढ़ें- Unnao Case: बेहोश मिली लड़की ने दर्ज कराया बयान, बताया- आरोपी ने दी खाने के लिए नमकीन और फिर...

ब्लू टीशर्ट और खाकी पैंट पहने कांग्रेस नेता ने तट पर वापसी के दौरान वहां खड़े लोगों का हाथ हिलाकर अभिवादन किया। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव के सी वेणुगोपाल और सांसद टी एन प्रतापन भी इस दौरान राहुल गांधी के साथ थे। प्रतापन राष्ट्रीय मछुआरा कांग्रेस के अध्यक्ष भी हैं। बातचीत के दौरान गांधी ने कहा कि वह हमेशा मुछआरा जीवन का अनुभव लेना चाहते थे।

पढ़ें- गुजरात में कांग्रेस के निराशाजनक प्रदर्शन पर शिवसेना का बड़ा बयान

उन्होंने कहा, "आज तड़के मैं अपने भाइयों के साथ समुद्र में गया। नाव की यात्रा शुरू होने से लेकर उसकी वापसी तक उन्होंने सभी खतरे उठाए…खूब मेहनत की। वे समुद्र में जाते हैं, जाल खरीदते हैं लेकिन उसका फायदा कोई और उठाता है।" उन्होंने कहा, "हमने मछली पकड़ने की कोशिश की लेकिन सिर्फ एक मछली मिली। इतनी मेहनत के बाद भी जाल खाली रह गया। यह मेरा अनुभव है।"

पढ़ें- IMD Weather Forecast: इस राज्य में शुक्रवार को हो सकती है बारिश

राहुल गांधी ने आगे कहा कि वह केंद्र सरकार में मत्स्य से संबंधित अलग मंत्रालय बनाने के लिए संघर्ष करेंगे। उन्होंने कहा, "ताकि मछुआरा समुदाय को इन परेशानियों से मुक्ति मिले और उनके हितों की रक्षा हो।"

पढ़ें- भारतीय रेलवे ने किया लंबी दूरी की कई ट्रेनों का ऐलान, देखिए लिस्ट, जानिए रूट, टाइम और स्टॉपेज

उन्होंने कहा कि राज्य में कांग्रेस नीत यूडीएफ नेता जल्द ही मछुआरा समुदाय से विचार-विमर्श करके उनके लिए विधानसभा चुनाव में एक अलग घोषणापत्र तैयार करेंगे। वाम मोर्चा नीत एलडीएफ सरकार पर गहरे समुद्र में मछली पकड़ने के लिए कथित अनुबंध से संबंधित विवाद को लेकर प्रत्यक्ष तौर पर निशाना साधते हुए कहा कि वह देखना चाहते हैं कि ये बड़े जहाजों से क्या करने जा रहे हैं।

पढ़ें-  क्या राहुल गांधी ने किया उत्तर भारतीयों का अपमान? BJP ने लगाया आरोप

उन्होंने कहा, "मैं प्रतिस्पर्धा में विश्वास रखता हूं…लेकिन अनुचित प्रतिस्पर्धा में नहीं। सभी खिलाड़ियों के हिस्से में बराबर का मैदान होना चाहिए।"

पढ़ें- कार्यक्रम में बवाल के बाद बोले संजीव बालियान- सपा, रालोद कार्यकर्ताओं ने किया हंगामा, मस्जिदों से हुआ ऐलान

केरल में कांग्रेस नीत यूडीएफ विपक्ष ने वाम मोर्चे की सरकार पर गहरे समुद्र में मछली पकड़ने के लिए अमेरिका की एक कंपनी के साथ कथित अनुबंध को लेकर कई तरह के आरोप लगाए हैं और इस मुद्दे के बीच ही राहुल गांधी का मछुआओं के साथ बातचीत करना राजनीतिक तौर पर महत्वपूर्ण है। अमेरिकी कंपनी को लेकर विवाद के बीच मुख्यमंत्री पी विजयन ने संबंधित अधिकारियों को अमेरिकी कंपनी ईएमसीसी और केरल राज्य इन्लैंड नेविगेशन कॉर्पोरेशन (केएसआईएनसी) के साथ समझौता ज्ञापन रद्द करने और किन परिस्थितियों में इस ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये गये, इसकी जांच करने के निर्देश दिए थे।

पढ़ें- जबलपुर में पढ़ाई कर रही लड़की सागर में मिली, हिंदू संगठनों का दावा- दूसरे समुदाय के युवक ने बनाया था बंधक

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X