1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. Independence Day 2020: इन बहादुर सैनिकों को मिला शौर्य चक्र पुरस्कार, देखिए पूरी लिस्ट

Independence Day 2020: इन बहादुर सैनिकों को मिला शौर्य चक्र पुरस्कार, देखिए पूरी लिस्ट

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर इस बार सशस्त्र बलों के कुल 87 रणबांकुरों को अदम्य साहस और असाधारण बहादुरी के लिए वीरता पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: August 15, 2020 8:11 IST
Shaurya Chakra sena medal gallantry awaedees check full list Independence Day 2020 - India TV Hindi
Image Source : INDIA TV Shaurya Chakra sena medal gallantry awaedees check full list Independence Day 2020 

नई दिल्ली। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर इस बार सशस्त्र बलों के कुल 87 रणबांकुरों को अदम्य साहस और असाधारण बहादुरी के लिए वीरता पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर रक्षा कर्मियों के लिए शौर्य चक्र सहित विभिन्न वीरता पुरस्कारों को मंजूरी दी। इस बार चार रक्षा कर्मियों को शौर्य चक्र प्रदान किया गया है। रक्षा मंत्रालय ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

जम्मू कश्मीर में आतंकवाद विरोधी अभियानों के लिए थलसेना को तीन शौर्य चक्र मिले हैं। जम्मू-कश्मीर में अपनी शौर्यता से आतंकियों के मंसूबे नाकाम करने वाले सुरक्षाबलों के सैनिकों को शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया है। इसके अलावा भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर विशाख नायर को भी शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया है। भारतीय सेना की ओर से बताया गया कि थलसेना के लेफ्टिनेंट कर्नल कृष्ण सिंह रावत, मेजर अनिल उर्स और हवलदार आलोक कुमार दुबे को शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया है। सेना के 31 जवानों को सेना (वीरता) पदक से सम्मानित किया गया है।

गृह मंत्रालय ने स्वतंत्रता दिवस (IndependenceDay 2020) पुलिस कर्मियों की पदक पुरस्कारों की सूची की घोषणा की। कुल 215 कर्मियों को वीरता के लिए पुलिस पदक, विशिष्‍ट सेवा के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक (80 PPM) और मेधावी सेवा के लिए पुलिस पदक (631) से सम्मानित किया जाएगा। इसमें वीरता के लिए पुलिस पदक, विशिष्‍ट सेवा के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक और मेधावी सेवा के लिए पुलिस पदक शामिल हैं।

बता दें कि, शौर्य चक्र पुरस्कार दुश्मनों से सामना करने से अलग परिस्थिति में दिया जाता है। यह पुरस्कार सैन्य कर्मियों और नागरिकों को दिया जाता है। ये अवार्ड जीवित रहते और मरणोपरांत दिया जाता है। इसकी स्थापना भी 1952 में हुई थी।

देखिए पूरी लिस्ट

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X