ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. नगालैंड: सुरक्षाबलों की फायरिंग में 13 नागरिकों की मौत, गुस्साए लोगों ने जवानों की गाड़ियां फूंकी

नगालैंड: सुरक्षाबलों की फायरिंग में 13 नागरिकों की मौत, गुस्साए लोगों ने जवानों की गाड़ियां फूंकी

नगालैंड के ओटिंग इलाके में शनिवार शाम हुई इस घटना के बाद इलाके में तनावपूर्ण स्थिति है। गुस्साए लोगों ने सुरक्षाबलों की गाड़ियों को आग लगा दी। सेना ने इस मामले की ‘कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी’ का आदेश दिया है।

IndiaTV Hindi Desk Written by: IndiaTV Hindi Desk
Updated on: December 05, 2021 16:28 IST
नगालैंड: सुरक्षाबलों...- India TV Hindi
Image Source : PTI (REPRESENTATIONAL IMAGE) नगालैंड: सुरक्षाबलों की फायरिंग में 11 नागरिकों की मौत, अमित शाह बोले- SIT करेगी जांच

Highlights

  • उग्रवादी होने के शक में सुरक्षाबलों ने की थी फायरिंग
  • गुस्साएं लोगों ने सुरक्षाबलों की गाड़ियां फूंकी, तनावपूर्ण माहौल

कोहिमा: नगालैंड के मोन जिले में सुरक्षाबलों ने उग्रवादी होने के शक में फायरिंग की जिसमें करीब 13 स्थानीय नागरिक मारे गए। वहीं, सुरक्षा बल का एक जवान की भी मौत हो गई। ओटिंग इलाके में शनिवार शाम हुई इस घटना के बाद इलाके में तनावपूर्ण स्थिति है। गुस्साए लोगों ने सुरक्षाबलों की गाड़ियों को आग लगा दी। सेना ने इस मामले की ‘कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी’ का आदेश दिया है। इस घटना की नगालैंड के मुख्यमंत्री नागालैंड के मुख्यमंत्री नेफियू रियो ने पुष्टि करते हुए निंदा की है और लोगों से इलाके में शांति बनाने की अपील की और कहा कि इसकी जांच एसआईटी करेगी। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भी इस घटना पर दुख जताया है।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर कहा कि नगालैंड के ओटिंग में एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना से व्यथित हूं। जिन लोगों ने अपनी जान गंवाई है, उनके परिवारों के प्रति मैं अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं। राज्य सरकार द्वारा गठित एक उच्च स्तरीय एसआईटी इस घटना की गहन जांच करेगी ताकि शोक संतप्त परिवारों को न्याय सुनिश्चित किया जा सके।

नगालैंड के मुख्यमंत्री नेफियू रियो ने शांति की अपील करते हुए रविवार सुबह ट्वीट किया कि राज्य के मोन जिले के ओटिंग गांव में 'दुर्भाग्यपूर्ण घटना' की वजह से 'नागरिकों की हत्या' हुई। मुख्यमंत्री ने कहा कि उच्च स्तरीय विशेष जांच दल इसकी जांच करेगा। सीएम ने ट्वीट करते हुए लिखा है, 'मोन के ओटिंग में दुर्भाग्यपूर्ण घटना में नागरिकों की हत्या अत्यंत निंदनीय है. शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना। उच्च स्तरीय एसआईटी जांच करेगी और देश के कानून के मुताबिक न्याय मिलेगा। सभी वर्गों से शांति की अपील।'

पुलिस ने बताया कि सुरक्षाबलों की कथित गोलीबारी में कम से कम 11 आम लोगों की मौत हो गई और वह यह पता लगाने के लिए जांच कर रही है कि क्या यह गलत पहचान किए जाने से जुड़ी घटना है। सैन्य अधिकारियों ने बताया कि म्यांमा की सीमा से लगने वाले मोन जिले में उग्रवादियों की संभावित गतिविधियों की विश्वसनीय खुफिया जानकारी के आधार पर अभियान चलाया गया था। सेना ने एक बयान में कहा, ‘‘यह घटना और इसके बाद जो हुआ, वह अत्यंत खेदजनक है। लोगों की मौत की इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना के कारणों की ‘कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी’ के जरिए उच्चतम स्तर पर जांच की जा रही है और कानून के अनुसार उचित कार्रवाई की जाएगी।’’ इसने कहा कि सुरक्षाकर्मी अभियान में गंभीर रूप से घायल हुए हैं और एक जवान की मौत हो गई है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे को घटना की जानकारी दी गई है।

elections-2022