Saturday, June 22, 2024
Advertisement

2019 में केदारनाथ, इस बार कन्याकुमारी... PM मोदी उसी शिला पर ध्यान लगाएंगे, जहां स्वामी विवेकानंद को हुए थे भारत माता के दर्शन

लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण में 57 लोकसभा सीटों के लिए 1 जून को मतदान होना है। पीएम मोदी का ये कन्याकुमारी दौरा 30 मई से 1 जून तक का होगा। वह 2019 में आखिरी फेज की वोटिंग के पहले केदारनाथ गए थे। वोटों की गिनती से पहले उन्होंने केदारनाथ मंदिर में पूजा-पाठ किया था।

Edited By: Khushbu Rawal @khushburawal2
Updated on: May 28, 2024 17:33 IST
pm modi- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

लोकसभा चुनाव के लिए 30 मई की शाम को प्रचार थम जाएगा। आखिरी फेज की वोटिंग के पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आध्यात्मिक प्रवास के लिए 30 मई को तमिलनाडु के कन्याकुमारी जिले में प्रसिद्ध विवेकानंद रॉक मेमोरियल जाएंगे। बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने मंगलवार को यह जानकारी दी। बीजेपी नेता ने बताया कि प्रधानमंत्री के गुरुवार शाम को कन्याकुमारी के तट पर समुद्र के बीच तमिल संत तिरुवल्लुवर की अखंड प्रतिमा के करीब स्थित सुरम्य वीआरएम में आने की संभावना है। जिसके बाद वह 1 जून को दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे। भाजपा नेता ने बताया, ‘‘उनकी इस यात्रा का पार्टी से जुड़े किसी कार्यक्रम से कोई लेना-देना नहीं है।’’

कैसा रहेगा पीएम मोदी का कार्यक्रम?

पीएम मोदी का ये कन्याकुमारी दौरा 30 मई से 1 जून तक का होगा। पीएम मोदी विवेकानंद रॉक मेमोरियल पर 30 मई की शाम से 1 जून की शाम तक ध्यान करेंगे। वह रॉक मेमोरियल के उसी पत्थर पर ध्यान लगाएंगे, जहां स्वामी विवेकानंद ने ध्यान लगाया था। आधिकारिक कार्यक्रम के अनुसार इससे पहले 30 मई को सुबह 11 बजे पीएम मोदी होशियारपुर में चुनावी सभा को संबोधित करेंगे। इसके बाद वह तमिलनाडु जाएंगे और वहीं रात में विश्राम करेंगे।

स्वामी विवेकानंद को कन्याकुमारी में हुए थे भारत माता के दर्शन

बता दें कि कन्याकुमारी वह स्थान है जहां स्वामी विवेकानंद को भारत माता के दर्शन हुए थे। इस शिला का स्वामी विवेकानंद के जीवन पर बड़ा प्रभाव पड़ा। लोगों का मानना है कि जैसे सारनाथ गौतम बुद्ध के जीवन में विशेष स्थान रखता है, वैसे ही यह चट्टान स्वामी विवेकानंद के जीवन में भी वैसा ही स्थान रखती थी। स्वामी विवेकानंद देशभर में भ्रमण के बाद यहां पहुंचे और तीन दिनों तक तपस्या की और विकसित भारत का सपना देखा।

उसी स्थान पर ध्यान करना स्वामी जी के विकसित भारत के दृष्टिकोण को जीवन में लाने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी की प्रतिबद्धता को दर्शाता है। शास्त्रों के अनुसार, माना जाता है कि देवी पार्वती भी उसी स्थान पर एक पैर पर बैठकर भगवान शिव की प्रतीक्षा करती रहीं थी। कन्याकुमारी भारत का सबसे दक्षिणी छोर है। इसके अलावा, यह वह स्थान है जहां भारत की पूर्वी और पश्चिमी तटरेखाएं मिलती हैं। यह हिंद महासागर, बंगाल की खाड़ी और अरब सागर के मिलने का सेंटर प्वाइंट भी है।

2019 में रुद्र गुफा में लगाया था 17 घंटे ध्यान

लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण में 57 लोकसभा सीटों के लिए 1 जून को मतदान होना है। इन सीटों के लिए चुनाव प्रचार 30 मई की शाम 5 बजे थम जाएगा। मोदी 2019 में आखिरी फेज की वोटिंग के पहले केदारनाथ गए थे। वोटों की गिनती से पहले उन्होंने केदारनाथ मंदिर में पूजा-पाठ किया था। जब पीएम मोदी ने वहां हिमालय में 11,700 फीट ऊपर बनी रुद्र गुफा में 17 घंटे ध्यान लगाया था।

यह भी पढ़ें-

दुमका में PM मोदी बोले- पहले रोज-रोज घोटाले होते थे, मैंने आकर सब बंद कर दिया

राहुल और केजरीवाल को पाकिस्तान से मिल रहे समर्थन पर पहली बार बोले PM मोदी

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement