Supreme Court: CJI के तौर पर पहले दिन ही एक्शन में जस्टिस यूयू ललित, सुनवाई के लिए सूचीबद्ध कीं 900 याचिकाएं

Supreme Court: जस्टिस यूयू ललित का CJI के तौर पर सोमवार को पहला कार्य दिवस है। उन्होंने शनिवार को देश के 49वें मुख्य न्यायाधीश के तौर पर शपथ ली थी, लेकिन शनिवार और रविवार को न्यायालय में कामकाज नहीं होता है।

Sudhanshu Gaur Written By: Sudhanshu Gaur @SudhanshuGaur24
Updated on: August 29, 2022 9:41 IST
 Justice UU Lalit- India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV Justice UU Lalit

Highlights

  • यूयू ललित का CJI के तौर पर सोमवार को पहला कार्य दिवस है
  • उन्होंने शनिवार को देश के 49वें मुख्य न्यायाधीश के तौर पर शपथ ली थी
  • सुबह 10.30 बजे से शाम 4 बजे तक होती है सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

Supreme Court: देश के नए मुख्य न्यायाधीश जस्टिस यूयू ललित पद सँभालते ही एक्शन में आ गए हैं। चीफ जस्टिस के रूप में अपने पहले दिन सोमावर को ही सुनवाई के लिए उन्होंने 900 से अधिक याचिकाओं को सूचीबद्ध करके एक प्रभावशाली प्रदर्शन निर्धारित किया है। इन याचिकाओं में कर्नाटक हिजाब विवाद, केरल के पत्रकार सिद्दीकी कप्पन की जमानत, गौतम नवलखा समेत कई मामले शामिल हैं। 

शनिवार को ही संभाली है चीफ जस्टिस की जिम्मेदारी 

बता दें कि जस्टिस यूयू ललित का CJI के तौर पर सोमवार को पहला कार्य दिवस है। उन्होंने शनिवार को देश के 49वें मुख्य न्यायाधीश के तौर पर शपथ ली थी, लेकिन शनिवार और रविवार को न्यायालय में कामकाज नहीं होता है। शीर्ष अदालत की वेबसाइट पर अपलोड की गई वाद सूची के अनुसार, अदालत कक्ष संख्या एक में सोमवार को सीजेआई ललित की अध्यक्षता वाली पीठ में न्यायमूर्ति एस रवींद्र भट पीठ शामिल होंगे। 

Justice UU Lalit

Image Source : PTI
Justice UU Lalit

सुबह 10.30 बजे से शाम 4 बजे तक होगी सुनवाई 

सुप्रीम कोर्ट की वेबसाइट पर अपलोड रोस्टर के अनुसार, सीजेआई ने 15 बेंच में प्रत्येक को लगभग 60 मामले सौंपे हैं। कुल 900 मामले की सुनवाई होनी है। इन याचिकाओं से निपटने के लिए सुबह 10.30 बजे से शाम 4 बजे तक अधिकतम 270 मिनट का आधिकारिक व्यावसायिक समय मिलेगा। इसका मतलब है, औसतन एक मामले को निपटाने में चार मिनट से थोड़ा अधिक समय मिलेगा। जस्टिस एमआर शाह की अगुवाई वाली बेंच को सबसे ज्यादा 65 याचिकाएं सौंपी गई हैं।

Supreme Court

Image Source : FILE PHOTO
Supreme Court

इन पीठों को मिली अहम केस की जिम्मेदारी

अन्य मामलों में, सीजेआई की अगुवाई वाली पीठ एनआईए के खिलाफ गौतम नवलखा और यूपी सरकार के खिलाफ सिद्दीकी कप्पन की याचिकाओं पर भी सुनवाई करेगी। न्यायमूर्ति हेमंत गुप्ता की अगुवाई वाली पीठ हिजाब प्रतिबंध की चुनौती पर सुनवाई करेगी, जबकि न्यायमूर्ति संजय के कौल की अगुवाई वाली पीठ मुसलमानों के बीच सभी एकतरफा तलाक के रिवाजों पर प्रतिबंध लगाने की याचिका पर सुनवाई करेगी।

Latest India News

navratri-2022