Tuesday, July 16, 2024
Advertisement

तमिलनाडु जहरीली शराब केस: बिना पोस्टमार्टम के दफनाए गए शवों को निकाला जाएगा, निर्मला सीतारमण ने कहा- कहां हैं...

कल्लाकुरिची जहरीली शराब त्रासदी मामले में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि मैं हैरान हूं कि कांग्रेस ने इसके खिलाफ एक शब्द भी नहीं बोला।

Edited By: Malaika Imam @MalaikaImam1
Updated on: June 23, 2024 18:46 IST
तमिलनाडु जहरीली शराब त्रासदी पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का कांग्रेस पर हमला- India TV Hindi
Image Source : PTI तमिलनाडु जहरीली शराब त्रासदी पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का कांग्रेस पर हमला

तमिलनाडु के कल्लाकुरिची जिले में जहरीली शराब पीने से जान गंवाने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 56 हो गई है। कल्लाकुरिची जहरीली शराब त्रासदी मामले में एक बड़ी जानकारी सामने आई है। जिला प्रशासन का कहना है कि अवैध शराब सेवन की पुष्टि के लिए बिना पोस्टमॉर्टम के दफनाए गए शवों को निकाला जाएगा, ताकि परिवारों को मुआवजा दिया जा सके। इस बीच, इस मामले में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का बयान भी सामने आया है।

"मामले की जांच CBI को सौंपी जाए"

केंद्रीय वित्त मंत्री ने कहा, "200 से ज्यादा लोग अभी भी गंभीर अवस्था में अस्पताल में हैं। 56 लोगों की मौत हो गई है और उनमें से ज्यादातर अनुसूचित जाति से हैं। मैं इस घटना की निंदा करती हूं। मैं हैरान हूं कि कांग्रेस ने इसके खिलाफ एक शब्द भी नहीं बोला। ऐसे राज्य में जहां सरकार द्वारा संचालित दुकानों पर लाइसेंस प्राप्त शराब उपलब्ध है, जिसे 'TASMAC' कहा जाता है। इसके बावजूद कल्लाकुरिची शहर के बीच में केमिकल युक्त अवैध शराब परोसी जाती है। कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे कहां हैं? राहुल गांधी कहां हैं? वह चुनाव सिर्फ इसलिए लड़ते हैं, क्योंकि उन्हें भरोसा है कि वह जीतेंगे। जब दलित जहरीली शराब से मर रहे हैं, तो राहुल गांधी का एक बयान नहीं आया है। मैं मांग करती हूं कि इस पूरे मामले की जांच CBI को सौंपी जाए।"

भाजपा नेताओं का विरोध प्रदर्शन 

वहीं, कल्लाकुरिची जहरीली शराब त्रासदी को लेकर सत्तारूढ़ द्रमुक के खिलाफ शनिवार को विरोध प्रदर्शन करने की कोशिश करने पर भाजपा के वरिष्ठ नेता एच राजा समेत बड़ी संख्या में उसके कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। भाजपा के इस राज्यव्यापी विरोध प्रदर्शन का उद्देश्य अवैध शराब की तस्करी को रोकने में कथित रूप से विफल रहने के लिए द्रमुक सरकार की निंदा करना था। राजा के नेतृत्व में मदुरै में विरोध प्रदर्शन करने गए भाजपा के कई सदस्यों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। बाद में उन्हें छोड़ दिया गया। 

ये भी पढ़ें- 

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement