1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. उत्तर प्रदेश
  5. UP Budget 2022-2023: यूपी विधासभा में पेश हुआ 6 लाख करोड़ का बजट, जानिए आपके लिए है क्या?

UP Budget 2022-2023: यूपी विधासभा में पेश हुआ 6 लाख करोड़ का बजट, जानिए आपके लिए है क्या?

UP Budget 2022-2023: वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने अपने बजट संबोधन में कहा कि 2019 में प्रधानमंत्री मोदी ने पांच ट्रिलियन अर्थव्यवस्था का लक्ष्य रखा था। प्रधानमंत्री के लक्ष्य को पूरा करने में प्रदेश का योगदान महत्वपूर्ण हैं इसलिए प्रदेश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने और 1 ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य रखा गया है।

Shashi Rai Written by: Shashi Rai @km_shashi
Updated on: May 26, 2022 15:01 IST
UP Finance Minister Suresh Khanna- India TV Hindi
Image Source : ANI UP Finance Minister Suresh Khanna

Highlights

  • यूपी विधासभा में पेश हुआ 6 लाख करोड़ का बजट
  • वाराणसी में बनेगा इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम
  • गोरखपुर और बनारस में चलेगी मेट्रो, साल में दो गैस सिलेंडर मिलेंगे फ्री

UP Budget 2022-2023: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना (Suresh Khanna) ने विधानसभा में राज्य का बजट 2022-23 पेश किया। योगी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट 6 लाख 15 हज़ार 518 करोड़ 97 लाख रुपये का है। बजम में 39 हज़ार 181 करोड़ 10 लाख रुपये की नई योजनाएं शामिल हैं।

महिला उत्थान के लिये सूक्ष्म एवं लघु उद्योग क्षेत्र में मिशन शक्ति कार्यक्रम के अन्तर्गत महिलाओं की सुरक्षा एवं सशक्तीकरण तथा कौशल विकास के लिये 20 करोड़ रूपये का प्रावधान प्रस्तावित है। स्वामी विवेकानन्द युवा सशक्तीकरण योजना के तहत 2022-2023 के लिये 1500 करोड़ रुपये की बजटीय व्यवस्था प्रस्तावित है। प्रतियोगी छात्रों को उनके घर के पास ही कोचिंग की सुविधा उपलब्ध कराने के उददेश्य से राज्य सरकार द्वारा सभी मण्डल मुख्यालयों में चलाई जा रही मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना का विस्तार प्रदेश के सभी जिलों में करने के लिये 30 करोड़ रूपये के प्रावधान का प्रस्ताव है। बजट में, वाराणसी में अन्तरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम की स्थापना के लिये जमीन खरीदने के वास्ते 95 करोड़ रूपये की व्यवस्था प्रस्तावित है। खेल के विकास एवं उत्कृष्ट कोटि के खिलाड़ी तैयार करने के लिये मेरठ में मेजर ध्यानचन्द खेल विश्वविद्यालय के निर्माण पर 700 करोड़ रूपये की धनराशि व्यय की जाएगी। वहीं, विश्वविद्यालयों के लिये 50 करोड़ रूपये की व्यवस्था का प्रावधान प्रस्तावित है

मुख्य मंत्री लघु सिंचाई के लिए 1000 करोड़ रुपए प्रस्तवाति   

सिंचाई के लिए डीजल विद्युत के स्थान पर वैकल्पिक ऊर्जा प्रबंधन के अंतर्गत प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान योजना के अंतर्गत कृषकों के प्रक्षेत्रों पर सोलर पम्पों की स्थापना करायी जा रही है। वर्ष 2022-2023 में 15,000 सोलर पम्पों की स्थापना करायी जायेगी। 

साल 2022-23 में 60.20 लाख कुन्तल बीजों का वितरण किया जाना प्रस्तावित है। साल 2022-23 में 119.30 लाख मीट्रिक टन उर्वरक वितरण का लक्ष्य है। प्रदेश में 34,307 राजकीय नलकूपों तथा 252 लघु डाल नहरों द्वारा कृषकों को मुफ्त सिंचाई सुविधा उपलब्ध करायी जा रही है। मुख्य मंत्री लघु सिंचाई योजना के लिए 1000 करोड़ रुपए प्रस्तवाति है।

वित्त मंत्री सुरेश खन्ना का बजट भाषण 

सुरेश खन्ना ने अपने बजट भाषण में कहा कि उत्तर प्रदेश में राशन की नेशलन पोर्टिबिल्टी लागू है। देश में विशाल खाद्यान वितरण अभियान चल रहा है। उत्तर प्रदेश में 15 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन दिया जा रहा है। पिछले 5 सालों में पीएम आवास ने 43 लाख 50 हज़ार आवास दिए गए। सौभाग्य योजना में 1 करोड़ 41 लाख लाभार्थी हैं। वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने शायरी से अपनी बात को आगे बढ़ाया और कहा कि, 'जब तलक भोर का सूरज नजर नहीं आता, काम मेरा है उजालों की हिफाजत करना। मेरी पीढ़ी को एक चिराग बनकर जलना है जिसका मजहब है अंधेरों से बगावत करना।'

1 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था का लक्ष्य

वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने अपने बजट संबोधन में कहा कि 2019 में प्रधानमंत्री मोदी ने पांच ट्रिलियन अर्थव्यवस्था का लक्ष्य रखा था। प्रधानमंत्री के लक्ष्य को पूरा करने में प्रदेश का योगदान महत्वपूर्ण हैं इसलिए प्रदेश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने और 1 ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य रखा गया है।