1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. लाइफस्टाइल
  4. जीवन मंत्र
  5. आज सूर्य बदल रहे हैं अपनी चाल, अशुभ प्रभाव से बचने के लिए अपनाएं ये अचूक उपाय

आज सूर्य बदल रहे हैं अपनी चाल, अशुभ प्रभाव से बचने के लिए अपनाएं ये अचूक उपाय

सूर्य के इस गोचर का जन-मानस के जीवन पर अलग-अलग प्रभाव भी पड़ेगा और उस प्रभाव के शुभ फल प्राप्त करने के लिए जरूर अपनाएं ये उपाय। आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए।

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Updated on: August 01, 2020 23:35 IST
 2 अगस्त को सूर्य बदल रहे हैं अपनी चाल,  अशुभ प्रभाव से बचने के लिए अपनाएं ये अचूक उपाय - India TV Hindi
Image Source : INSTAGRAM/IM_GYANANJALI   2 अगस्त को सूर्य बदल रहे हैं अपनी चाल,  अशुभ प्रभाव से बचने के लिए अपनाएं ये अचूक उपाय   

श्रावण शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि और रविवार का दिन है। चतुर्दशी तिथि रात 9 बजकर 29 मिनट तक रहेगी। पूरा दिन पार करके सोमवार की सुबह 6 बजकर 38 मिनट तक प्रीति योग रहेगा। जैसा कि इसका नाम है प्र‍ीति वैसे ही यह योग परस्पर प्रेम का विस्तार करता है। अक्सर मेल-मिलाप बढ़ाने, प्रेम विवाह करने तथा अपने रूठे मित्रों एवं संबंधियों को मनाने के लिए प्रीति योग में ही प्रयास करने से सफलता मिलती है। इसके अलावा झगड़े निपटाने या समझौता करने के लिए भी यह योग शुभ होता है। इस योग में किए गए कार्य से मान सम्मान की प्राप्ति होती है।

रविवार रात 9 बजकर 29 मिनट पर सूर्यदेव आश्लेषा नक्षत्र में प्रवेश करेंगे और 16 अगस्त की शाम 7 बजकर 12 मिनट तक यहीं पर रहेंगे। उसके बाद सूर्यदेव मघा नक्षत्र में प्रवेश कर जायेंगे। इस बीच मौसम में भी कुछ बदलाव देखने को मिलेंगे। इस दौरान तेज गर्मी के साथ हल्की बारिश बनी रहेगी। साथ ही सूर्य के इस गोचर का जन-मानस के जीवन पर अलग-अलग प्रभाव भी पड़ेगा और उस प्रभाव के शुभ फल प्राप्त करने के लिए जरूर अपनाएं ये उपाय। आचार्य इंदु प्रकाश से इन उपायों के बारे में जानें विस्तार से।

 पूरा दिन और पूरी रात उत्तराषाढा नक्षत्र रहेगा। उत्तराषाढा नक्षत्र सोमवार की सुबह 7 बजकर 19 मिनट तक रहेगा। नक्षत्रों की श्रेणी में उत्तराषाढ़ा नक्षत्र 21वां नक्षत्र है। इस नक्षत्र के स्वामी सूर्यदेव हैं और आज सूर्यदेव का दिन रविवार भी है लिहाजा आज सूर्यदेव के उपाय करना लाभदायी होगा। इस नक्षत्र का पहला चरण धनु राशि में और बाकी तीन चरण मकर राशि में स्थित होते हैं। इसलिए इस नक्षत्र का प्रभाव धनु और मकर राशि के जातकों पर ज्यादा रहता है।

अगर आप अपने जीवन में बड़ी उपलब्धियां पाना चाहते हैं और अपने समस्त कार्यों में सफलता सुनिश्चित करना चाहते है, तो आज के दिन आपको विश्वेदेव का इस प्रकार ध्यान करना चाहिए-  

'ऊँ इन्द्राय नमः .......
ऊँ अग्नये नमः .......
ऊँ सोमाय नमः .......
ऊँ त्वष्ट्राय नमः .......
ऊँ रुद्राय नमः .......
ऊँ पूखनाय नमः .......
ऊँ विष्णुवे नमः .......
ऊँ अश्विनीये नमः .......
ऊँ मित्रावरूणाय नमः .......
ऊँ अंगीरसाय नमः'.........

आज के दिन इस प्रकार विश्वेदेवों का ध्यान करने से आपको जीवन में बड़ी उपलब्धियों के साथ ही आपके समस्त कार्यों की सफलता भी सुनिश्चित होगी। 

राशिफल 2 अगस्त: वृष सहित इन 5 राशियों को होगा अचानक धन लाभ, जानिए अपनी राशि का हाल

  • अगर आप अपने वैवाहिक जीवन को सुख और प्रसन्नता से भरा देखना चाहते हैं, तो आज के दिन उत्तराषाढ़ा नक्षत्र के दौरान कटहल के पेड़ या उसके फल का दर्शन करें और हाथ जोड़कर अपने वैवाहिक जीवन में सुख और सम्पन्नता लाने के लिए प्रार्थना करें। अगर आज के दिन कटहल के पेड़ का दर्शन करना संभव न हो, तो आप इंटरनेट या अपने फोन पर तस्वीर का दर्शन कर सकते है अगर ये भी संभव न हो तो मन में हरे-भरे कटहल के पेड़ की कल्पना करके उसे प्रणाम करें। आज के दिन ऐसा करने से आपका वैवाहिक जीवन सुख और प्रसन्नता से भरा रहेगा। 
  •  अगर आपके ऊपर अचानक से बहुत सारी जिम्मेदारियां आ गई हैं, जिससे आप मानसिक रूप से अशांति महसूस कर रहे हैं, तो आज के दिन उत्तराषाढ़ा नक्षत्र के दौरान आपको सूर्य के इस मंत्र का 21 बार जप करना चाहिए। मंत्र इस प्रकार है-'ॐ ह्रां ह्रीं हौं स: सूर्याय नम:' आज के दिन ऐसा करने से आप अपनी सभी जिम्मेदारियों को बखूबी निभायेंगे और आपको मानसिक अशांति से भी छुटकारा मिलेगा। 
  • अगर आपकी आमदनी का फ्लो अचानक से रूक गया है, तो फिर से फ्लो बढ़ाने के लिए आज के दिन आपको एक लोटे में जल लेकर उसमें थोड़ा-सा गंगाजल डाल कर सूर्यदेव को अर्पित करें, लेकिन ध्यान रहे उसमें से थोड़ा-सा जल बचाकर रख लें और उसे पूरे घर में छिड़क दें।आज के दिन ऐसा करने से आपकी आमदनी का फ्लो फिर से बढ़ने लगेगा।
  •   अगर आप राजनीति में या किसी अन्य क्षेत्र में अपना रूतबा जमाये रखना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको उत्तराषाढ़ा नक्षत्र के दौरान सूर्य यंत्र की स्थापना करनी चाहिए। आप चाहें तो धातु पर बना यंत्र स्थापित कर सकते हैं या फिर आज के दिन आप खुद भी इस यंत्र को बनाकर स्थापित कर सकते हैं। इसके लिये भोजपत्र पर अष्टगंध से अनार की कलम द्वारा या फिर सफेद कोरे कागज पर लाल पेन से एक वर्गाकार आकृति बनाइये और उसमें तीन कॉलम बनाइये। अब हर एक कॉलम में तीन खाने बनाइये। फिर पहले कॉलम में बायीं से दायीं तरफ क्रमशः 6, 1 और 8 लिखिए। फिर दूसरे कॉलम में बायीं से दायीं तरफ क्रमशः 7, 5 और 3 लिखिए। फिर तीसरे कॉलम में बायीं से दायीं तरफ क्रमशः 2, 9 और 4 लिखिए। इस प्रकार आपका यंत्र बन जायेगा। अब उस यंत्र की विधि पूर्वक पूजा कीजिये और उस पर कम से कम 1008 बार सूर्य देव के इस मंत्र का जप करें। मंत्र इस प्रकार है-  'ॐ ह्रां ह्रीं हौं स: सूर्याय नम:'

Raksha Bandhan 2020: रक्षाबंधन के दिन बहन भाई को बांधे राशिनुसार इस रंग की राखी, मिलेगा दुर्भाग्य से मुक्ति

  • आपको बता दूं मंत्र का जप किया जाना बहुत जरूरी है। मंत्र जप से ही यंत्र प्रभावशाली बनता है। लिहाजा इस प्रकार मंत्रों से सिद्ध किया हुआ यंत्र स्थापित करने से आप राजनीति या अन्य क्षेत्र में अपना रुतबा जमाये रखने में सफल होंगे। 
  •  अगर आप अपने और अपने परिवार वालों के जीवन में खुशियां ही खुशियां लाना चाहते है, तो आज के दिन आपको स्नान आदि के बाद घर में किसी उचित स्थान पर आसन बिछाकर पूर्व दिशा की ओर मुंह करके बैठ जायें और सूर्यदेव के इस मंत्र का 108 बार जप करना चाहिए। मंत्र इस प्रकार है-'ऊँ घृणिः सूर्याय नमः' आज के दिन ऐसा करने से आपके और आपके परिवार में खुशियां ही खुशियां आयेंगी।
  • अगर आपको छोटी-छोटी बातों पर अत्यधिक गुस्सा आ जाता है, तो अपने गुस्से को काबू में रखने के लिए आज के दिन आपको भगवान को गुड़ से बनी किसी चीज का भोग लगाना चाहिए। अगर गुड़ से बनी चीज का प्रसाद ना चढ़ा पायें, तो केवल गुड़ का ही भोग लगाएं। आज के दिन ऐसा करने से आप अपने गुस्से पर काबू पाने में सफल होंगे।
  •  अगर आप मजबूत इरादों के साथ जीवन में आगे बढ़ना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको स्नान आदि के बाद सूर्यदेव को नमस्कार करना चाहिए और उन्हें जल अर्पित करना चाहिए। जल अर्पित करने के लिए अगर तांबे का पात्र हो, तो और भी श्रेष्ठ है। आज के दिन ऐसा करने से आप मजबूत इरादों के साथ जीवन में बहुत आगे बढ़ेंगे। 
  • अगर आप विद्या के क्षेत्र में अपना परचम लहराना चाहते हैं, तो आज के दिन उत्तराषाढ़ा के दौरान सूर्यदेव को लाल पुष्प अर्पित करें। साथ ही सूर्य के इस मंत्र का 21 बार जप करना चाहिए। मंत्र इस प्रकार है-'ॐ ह्रां ह्रीं हौं स: सूर्याय नम:।' आज के दिन ऐसा करने से विद्या के क्षेत्र में आपका परचम लहरेगा। 
  • अगर आप किसी भी तरह की आंख संबंधी परेशानी से बचे रहना चाहते हैं, तो आज के दिन स्नान आदि के बाद आपको सूर्यदेव को प्रणाम करके आदित्य हृदय स्रोत का पाठ करना चाहिए।  आज के दिन ऐसा करने से आप आंख संबंधी परेशानियों से बचे रहेंगे और अगर आपको पहले से किसी प्रकार की आंख संबंधी परेशानी है, तो उससे भी आपको जल्द ही राहत मिलेगी। 
  • अगर आप बेहतर स्वास्थ्य के साथ ही लंबी आयु भी पाना चाहते हैं या किसी पुरानी स्वास्थ्य संबंधी समस्या से छुटकारा पाना चाहते है, तो आज के दिन आपको सूर्यदेव के इस मंत्र का 108 बार जप करना चाहिए। सूर्यदेव का मंत्र इस प्रकार है - 'ऊँ ह्रीं घृणिः सूर्य आदित्याय श्रीं' आज के दिन इस मंत्र का जप करने से आपको बेहतर स्वास्थ्य के साथ ही लंबी आयु भी प्राप्त होगी। साथ ही की पुरानी स्वास्थ्य संबंधी समस्या से छुटकारा भी मिलेगा। 
  • अगर आप अपनी वाणी को मधुर और अपने स्वभाव को नम्र बनाये रखना चाहते हैं, तो आज के दिन एक बर्तन में जल भरकर, उसमें कुछ सिक्के डालकर मंदिर में रखें और अगले दिन उस बर्तन में से सिक्के निकालकर अपने पास संभालकर रख लें और जल को किसी पौधे या मनी प्लान्ट में डाल दें। आज के दिन ऐसा करने से आपकी वाणी मधुर और आपका स्वभाव नम्र बना रहेगा।  

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Religion News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन
Write a comment
X