Bomb Threat in Train: "अगर इस गाड़ी की स्पीड 70 से कम हुई तो... बूम," एक ट्रेन में बम के लेटर और दूसरी में आतंकी की खबर से दहशत

Bomb Threat in Train: मध्य प्रदेश के ग्वालियर रेलवे स्टेशन में रविवार-सोमवार की दरमियानी रात दहशत के माहौल से घिरी रही। जब आगरा कंट्रोल रूप से यह सूचना मिली कि एपी एक्सप्रेस में आतंकी संगठन अलकायदा का आतंकवादी AC कोच A1 में हथियारों के साथ सफर कर रहा है और स्वतंत्रता दिवस के मौके पर बड़ी वारदात को अंजाम दे सकता है।

Reported By : Anurag Amitabh Edited By : Swayam Prakash Updated on: August 09, 2022 6:19 IST
Letter of a bomb found in Karnataka Express- India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV Letter of a bomb found in Karnataka Express

Highlights

  • दो ट्रेनों में आतंकी औऱ बम की खबर से दहला ग्वालियर
  • लेटर में लिखा गाड़ी की स्पीड 70 से कम हुई तो होगा ब्लास्ट
  • 40 मिनट की जांच में कुछ नहीं मिला तब ट्रेन की गई रवाना

Bomb Threat in Train: मध्य प्रदेश के ग्वालियर रेलवे स्टेशन में रविवार-सोमवार की दरमियानी रात दहशत के माहौल से घिरी रही। जब आगरा कंट्रोल रूप से यह सूचना मिली कि एपी एक्सप्रेस में आतंकी संगठन अलकायदा का आतंकवादी AC कोच A1 में हथियारों के साथ सफर कर रहा है और स्वतंत्रता दिवस के मौके पर बड़ी वारदात को अंजाम दे सकता है। इस खबर के बाद ग्वालियर, डबरा और झांसी रेलवे स्टेशनों को अलर्ट पर रख दिया गया था।

एपी एक्सप्रेस में नहीं मिला कोई आतंकवादी

आगरा कंट्रोल रूप से ये सूचना आई कि एपी एक्सप्रेस में अलकायदा का आतंकी सफर कर रहा हो तो रात 1:00 बजे के करीब ट्रेन के ग्वालियर पहुंचते ही GRP, RPF और ग्वालियर पुलिस के अफसरों और BDS टीम ने ट्रेन की तलाशी लेना शुरू कर दी। GRP, RPF, ग्वालियर पुलिस और BDS टीम को ट्रेन की 15 मिनट तक जांच करने के बाद जब कुछ नहीं मिला, तब ट्रेन को रवाना किया गया। इस दौरान ट्रेन में सफर कर रहे यात्री बेहद घबरा गए। इस दौरान पूरे प्लेटफार्म को छावनी में तब्दील कर दिया गया था। हालांकि इससे पहले झांसी रेलवे स्टेशन पर भी ट्रेन की जांच की जा चुकी थी। 

कर्नाटक एक्सप्रेस में बम रखने का लेटर
एपी एक्सप्रेस में आतंकी ना मिलने से जीआरपी, आरपीएफ और ग्वालियर पुलिस राहत की सांस ले ही रही थी कि तभी पुलिस को एक लेटर के द्वारा जानकारी मिली कि कर्नाटक एक्सप्रेस में बम रखा गया है। जिसके चलते एक बार फिर स्टेशन पर अफरा-तफरी का माहौल हो गया। आनन फानन में एक बार फिर से रेलवे स्टेशन को छावनी में तब्दील कर दिया गया। रात 2:00 बजे कर्नाटक एक्सप्रेस के ग्वालियर पहुंचते ही एक बार फिर यात्रियों को उतारकर पूरी छानबीन की गई। डॉग स्क्वायड और बम डिस्पोजल स्क्वायड के द्वारा भी जांच करने के बाद जब ट्रेन में कोई बम नहीं मिला तो बाद में ट्रेन को रवाना किया गया।

लेटर में लिखा- धमकी को मजाक में ना लिया जाए
पुलिस को मिले लेटर में लिखा था, "हमने इस गाड़ी में दो बम फिट किए हैं। अगर इस गाड़ी की स्पीड 70 से कम हुई तो पूरी गाड़ी ब्लास्ट हो जाएगी। हमारी इस धमकी को मजाक में ना लिया जाए नहीं तो बुरा अंजाम भुगतना पड़ेगा। सरकार को ये गाड़ी किसी भी स्चेशन पर नहीं रोकनी चाहिए। हम मजाक बिल्कुल नहीं कर रहे हैं। हम सिर्फ इतना चाहते हैं कि जितने भी पैसेंजर हैं, उनसे कहो कि जितना भी आप लोगों के पास पैसा है वो एक बैग में भरकर पेनुकोंडा स्टेशन आने से पहले फेंक दें। हमारी इस बात को बिल्कुल भी मजाक में नहीं लिया जाए नहीं तो बच्चों से बड़े-बूढ़ों तक सब मारे जाएंगे। सरकार इसपर पूरा गौर करे कि चेतावनी है कि ना ही चेन पुलिंग होनी चाहिए। बूम बाम बू... गुड लक।"  

navratri-2022