1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. महाराष्ट्र
  4. ठाकरे परिवार में घमासान, CM उद्धव को चिट्ठी लिख राज ने कहा- हमारे सब्र का इम्तेहान न लें

Uddhav Thackeray Vs Raj Thackeray: सीएम उद्धव को राज ठाकरे की चेतावनी, कहा- हमारे सब्र का इम्तेहान न लें

मस्जिदों पर लाउडस्पीकरों को लेकर अपने विरोध के चलते राज ठाकरे इन दिनों सुर्खियों में हैं।

Sachin Chaudhary Reported by: Sachin Chaudhary
Published on: May 10, 2022 19:07 IST
Raj Thackeray Vs Uddhav Thackeray, Uddhav Thackeray Vs Raj Thackeray, Uddhav Thackeray- India TV Hindi
Image Source : FILE Raj Thackeray and Uddhav Thackeray.

Highlights

  • राज ठाकरे ने लिखा है कि दुनिया में कोई भी सत्ता का ताम्रपत्र लेकर नहीं आया है, और यह आती जाती रहती है।
  • सत्ता किसी एक के पास हमेशा नहीं टिकती, और यह आपके पास भी हमेशा नहीं रहने वाली है: राज ठाकरे

Raj Thackeray Vs Uddhav Thackeray: महाराष्ट्र के ताकतवर ठाकरे परिवार में घमासान तेज होता जा रहा है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के चचेरे भाई एवं महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के सुप्रीमो राज ठाकरे ने एक पत्र ट्वीट कर शिवसेना नेतृत्व को चेतावनी दी है। राज ठाकरे ने लिखा है कि दुनिया में कोई भी सत्ता का ताम्रपत्र लेकर नहीं आया है, और यह आती जाती रहती है। उन्होंने उद्धव के बारे में लिखा है कि सत्ता किसी एक के पास हमेशा नहीं टिकती, और यह आपके पास भी हमेशा नहीं रहने वाली है।

राज ठाकरे ने क्यों लिखी ऐसी चिट्ठी?

मस्जिदों पर लाउडस्पीकरों को लेकर अपने विरोध के चलते राज ठाकरे इन दिनों सुर्खियों में हैं। इस मुद्दे ने एक तरफ जहां उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं में जान फूंक दी है, वहीं दूसरी तरफ वह तेजी से चर्चा में आए हैं। हालांकि मस्जिदों के सामने हनुमान चालीसा पढ़ने को लेकर एवं अन्य कारणों से महाराष्ट्र पुलिस मनसे कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। इसी का जिक्र करते हुए चिट्ठी में राज ठाकरे ने लिखा है कि 4 तारीख को लाउडस्पीकर उतारने को लेकर हमारी मुहिम के खिलाफ महाराष्ट्र के तमाम महाराष्ट्र सैनिकों के ऊपर आपकी पुलिस और आपकी सरकार कार्रवाई कर रही है।


‘कई कार्यकर्ताओं को अभी भी खोज रही पुलिस’
राज ठाकरे ने अपने पत्र में आगे लिखा है कि संदीप देशपांडे सहित तमाम कार्यकर्ताओं को पुलिस अभी भी खोज रही है। उन्होंने लिखा, ‘यह ठीक नहीं है। तमाम मराठी भाई-बहन इस बात को देख रहे हैं। कोई भी सत्ता का ताम्रपत्र लेकर नहीं आया है, आप भी लेकर नहीं आए हैं। हमारे सब्र का इम्तेहान मत लीजिए।’ बता दें कि महाराष्ट्र में मस्जिदों पर लाउडस्पीकर को लेकर जमकर सियासत हो रही है। एक तरफ जहां राज ठाकरे इसे सुप्रीम कोर्ट के दिशानिर्देशों के उल्लंघन बता रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ सत्तारुढ़ गठबंधन राज ठाकरे को बीजेपी का मोहरा बता रहा है।