1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. एयरटेल का पिछली तिमाही के मुकाबले मुनाफा 300% बढ़ा, ARPU में भी सुधार दर्ज

एयरटेल का पिछली तिमाही के मुकाबले मुनाफा 300% बढ़ा, ARPU में भी सुधार दर्ज

एयरटेल का शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष 2021-22 की सितंबर में समाप्त दूसरी तिमाही में बढ़कर 1,998.1 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। 2020-21 की दूसरी तिमाही में कंपनी को 33.9 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: November 02, 2021 18:16 IST
दूसरी तिमाही में...- India TV Paisa
Photo:AIRTEL

दूसरी तिमाही में फायदे में आई एयरटेल

नई दिल्ली। मंगलवार को भारती एयरटेल, हिंदुस्तान पेट्रोलियम और  डाबर इंडिया ने अपनी दूसरी तिमाही के नतीजे जारी किये। भारती एयरटेल का पिछली तिमाही के मुकाबले मुनाफा 300 प्रतिशत बढ़ा है, जबकि कंपनी पिछले साल की इसी तिमाही में घाटे में रही थी। पिछले साल के मुकाबले आय भी 13 प्रतिशत बढ़ी है। 

कैसे रहे भारती एयरटेल के नतीजे

देश की दूसरी सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी भारती एयरटेल का कंसोलिडेटेड शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष 2021-22 की सितंबर में समाप्त दूसरी तिमाही में बढ़कर 1134 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। इससे पिछली यानी जून तिमाही में प्रॉफिट 283 करोड़ रुपये पर था। वहीं वित्त वर्ष 2020-21 की दूसरी तिमाही में कंपनी को 33.9 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था। एयरटेल ने शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कहा कि तिमाही के दौरान उसकी एकीकृत आय सालाना आधार पर 13 प्रतिशत बढ़कर 28,326.4 करोड़ रुपये रही। दुनिया के 16 देशों में एयरटेल के ग्राहकों की संख्या 148 करोड़ पर पहुंच गई है। वहीं एवरेज रेवेन्यू पर यूजर यानि ARPU पिछले साल के 143 रुपये के मुकाबले 153 रुपये के स्तर पर पहुंच गयी है।

कैसे रहे एचपीसीएल के नतीजे
हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लि.(एचपीसीएल) का शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष 2021-22 की जुलाई-सितंबर तिमाही में 22 प्रतिशत घटकर 1,923.51 करोड़ रुपये रहा। कंपनी ने मंगलवार को शेयर बाजारों को दी सूचना में कहा कि एक साल पहले 2020-21 की इसी तिमाही में उसे 2,477.45 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था। एचपीसीएल की आय सितंबर, 2021 को समाप्त तिमाही में 87,310.62 करोड़ रुपये रही जो एक साल पहले 2020-21 की इसी तिमाही में 61,340.30 करोड़ रुपये थी। कंपनी की दो रिफाइनरियों ने चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 25.3 लाख टन कच्चे तेल को ईंधन में बदला जबकि पिछले साल इसी तिमाही में यह 40.6 लाख टन था। हालांकि, कंपनी की घरेलू बिक्री आलोच्य तिमाही में बढ़कर 87.9 लाख टन रही, जो एक साल पहले 2020-21 की दूसरी तिमही में 81 लाख टन थी। 

कैसे रहे डाबर इंडिया के नतीजे
तेल, शैम्पू जैसे दैनिक उपयोग का सामान बनाने वाली कंपनी डाबर इंडिया का एकीकृत शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष 2021-22 की दूसरी तिमाही में 4.64 प्रतिशत बढ़कर 505.31 करोड़ रुपये रहा। बिक्री बढ़ने से कंपनी का लाभ बढ़ा है। डाबर इंडिया ने शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि इससे पूर्व वित्त वर्ष 2020-21 की दूसरी तिमाही में कंपनी को 482.86 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था। कंपनी की परिचालन आय आलोच्य तिमाही में 11.98 प्रतिशत बढ़कर 2,817.58 करोड़ रुपये रही जो एक साल पहले 2020-21 की दूसरी तिमाही में 2,516.04 करोड़ रुपये थी। डाबर इंडिया ने बयान में कहा कि दैनिक उपयोग के सामान कारोबार में 10 प्रतिशत की वृद्धि से कंपनी का लाभ बढ़ा है। कंपनी के निदेशक मंडल की मंगलवार को हुई बैठक में 2021-22 के लिये एक रुपये अंकित मूल्य के शेयर पर 250 प्रतिशत यानी 2.50 रुपये प्रति इक्विटी शेयर अंतरिम लाभांश को मंजूरी दी गयी। 

Write a comment
bigg boss 15