1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. निर्यात में उल्लेखनीय सुधार दर्ज, मई में गिरावट कम होकर 36 प्रतिशत : पीयूष गोयल

निर्यात में उल्लेखनीय सुधार दर्ज, मई में गिरावट कम होकर 36 प्रतिशत : पीयूष गोयल

जून के पहले हफ्ते में निर्यात पिछले साल की इसी अवधि के बराबर

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: June 11, 2020 21:44 IST
export improves- India TV Paisa
Photo:GOOGLE

export improves

नई दिल्ली। देश के निर्यात में ‘उल्लेखनीय’ सुधार आ रहा है। मई में निर्यात 36 प्रतिशत घटा है। लेकिन अप्रैल की तुलना में इसमें सुधार है। अप्रैल में निर्यात 60 प्रतिशत घटा था। केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने बृहस्पतिवार को यह बात कही। गोयल ने एक वेबिनार को संबोधित करते कहा कहा, ‘‘मुझे आपसे यह बात साझा करते हुए खुशी हो रही है कि निर्यात के मोर्चे पर चीजें उल्लेखनीय रूप से सुधर रही हैं। अप्रैल में जहां निर्यात 60 प्रतिशत घटा था, वहीं मई में यह गिरावट कम होकर 36 प्रतिशत पर आ गई है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि देश का गैर-तेल निर्यात (पेट्रोलियम और लुब्रिकेंट) सिर्फ 30 प्रतिशत घटा है। इन आंकड़ों से यह भरोसा कायम होता है कि निर्यात के मोर्चे पर चीजें सुधर रही हैं। उन्होंने कहा कि मई में ज्यादातर समय देश में लॉकडाउन रहा। इसके बावजूद गिरावट का आंकड़ा कम हो रहा है। जून का उल्लेख करते हुए गोयल ने कहा कि इस महीने चीजें और ठीक हुई हैं। उन्होंने कहा कि जून के पहले सप्ताह का निर्यात का आंकड़ा पिछले साल एक से सात जून, 2019 के बराबर है। उन्होंने कहा कि इस साल एक से सात जून के दौरान निर्यात 0.76 प्रतिशत घटकर 4.94 अरब डॉलर रहा है, जो पिछले साल इस अवधि में 5.03 अरब डॉलर था। गोयल ने कहा कि कुछ विवेकाधीन खर्च वाले क्षेत्रों पर दबाव हो सकता है। कपड़ा जैसे क्षेत्रों में स्थिति सुधरने में कुछ अधिक समय लग सकता है। गोयल ने कहा, ‘‘मार्च, 2021 तक हम अप्रैल और मई में हुए नुकसान की भरपाई कर चुके होंगे। इन दो माह में निर्यात का नुकसान करीब 30 अरब डॉलर होगा। मुझे पूरा भरोसा है कि हमारे निर्यातक और लॉजिस्टिक्स कंपनियां मिलकर इसे पूरा कर पाएंगी।’’

कोरोना वायरस की वजह से लागू लॉकडाउन के चलते अप्रैल में देश के निर्यात में लगातार दूसरे महीने गिरावट आई। अप्रैल में निर्यात 60.28 प्रतिशत घटकर 10.36 अरब डॉलर रहा। इसी तरह अप्रैल में आयात 58.65 प्रतिशत घटकर 17.12 अरब डॉलर पर आ गया। इस तरह माह के दौरान व्यापार घाटा 6.76 अरब डॉलर रहा, जो अप्रैल, 2019 में 15.33 अरब डॉलर था। वेबिनार का आयोजन स्टार्टअप कंपनी फ्रेटवाला ने किया था।

Write a comment