1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. ECLGS से मिलने लगा लाभ, सरकारी बैंकों ने MSME को दिया दो दिन में सस्‍ते ब्‍याज पर 3,893 करोड़ रुपए का लोन

ECLGS से मिलने लगा लाभ, सरकारी बैंकों ने MSME को दिया दो दिन में सस्‍ते ब्‍याज पर 3,893 करोड़ रुपए का लोन

यह योजना पिछले महीने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ रुपए के आत्मनिर्भर भारत अभियान राहत पैकेज का सबसे बड़ा राजकोषीय घटक है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: June 03, 2020 13:14 IST
Public sectors Banks disbursed Rs. 3892.78 crore under ECLGS- India TV Paisa
Photo:GOOGLE

Public sectors Banks disbursed Rs. 3892.78 crore under ECLGS

नई दिल्‍ली। वित्त मंत्रालय ने बुधवार को बताया कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (पीएसबी) ने कोरोना वायरस महामारी के चलते लागू लॉकडाउन से बुरी तरह प्रभावित सूक्ष्‍म,  लघु एवं मध्‍यम उद्यमों (एमएसएमई) को जून महीने के पहले दो दिन में तीन लाख करोड़ रुपए की आपातकालीन ऋण गारंटी योजना (ईसीएलजीएस) के तहत 3,893 करोड़ रुपए का कर्ज दिया है। इस बीच पीएसबी ने एक जून से 100 प्रतिशत ईसीएलजीएस के तहत 10,361.75 करोड़ रुपए के कर्ज को मंजूरी दी है।

यह योजना पिछले महीने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ रुपए के आत्मनिर्भर भारत अभियान राहत पैकेज का सबसे बड़ा राजकोषीय घटक है। वित्त मंत्री निर्मला सीताराम ने एक ट्वीट में कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने 100 फीसदी आपातकालीन ऋण गारंटी योजना के तहत 10,361.75 करोड़ रुपए के ऋण को मंजूरी दे दी है। इसमें से 3,892.78 करोड़ रुपए पहले ही जारी किए जा चुके हैं।

वित्तीय सेवा विभाग ने एक ट्वीट में कहा कि सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग (एमएसएमई) अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं। आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत सरकार उनके विकास के लिए प्रतिबद्ध है। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 21 मई को एमएसएमई क्षेत्र के लिए ईसीएलजीएस के माध्यम से 9.25 प्रतिशत की रियायती दर पर तीन लाख करोड़ रुपए तक के अतिरिक्त वित्त पोषण को मंजूरी दी थी।

Write a comment
X