1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. TikTok और Helo ने भारत में बंद किया कारोबार! Bytedance ने कर्मचारियों को पत्र लिखकर दी सूचना

Exclusive: TikTok और Helo ने भारत में बंद किया कारोबार! Bytedance ने कर्मचारियों को पत्र लिखकर दी सूचना

पिछले साल जून में लद्दाख के गलवान में जब चीन के सैनिकों ने धोखा देकर भारतीय सैनिकों पर जानलेवा हमला किया था तो उसके बाद भारत सरकार ने चीन की कई मोबाईल एप्लीकेशन पर अस्थाई प्रतिबंध लगाया था

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: January 27, 2021 15:01 IST
Tiktok and Hello parents Bytedance shutdown their operation in india- India TV Paisa
Photo:FILE PHOTO

Tiktok and Hello parents Bytedance shutdown their operation in india

नई दिल्ली। चीन की कंपनी Bytedance जो भारत में वीडियो एप TikTok तथा मैसेजिंग ऐप Helo का संचालन कर रही थी, उसने भारत में एक तरह से अपना कारोबार घटाकर कर्मचारियों की संख्या कम करने का फैसला किया है, इंडिया टीवी को सूत्रों से यह जानकारी मिली है। Bytedance ने अपने कर्मचारियों को मेल लिखकर कारोबार घटाने की जानकारी दी है। भारत सरकार ने Bytedance की TikTok और Helo मोबाइल एप पर जो अस्थाई प्रतिबंध लगाया हुआ था उसे पिछले हफ्ते ही स्थाई करने की घोषणा की है और भारत की इस घोषणा के बाद ही Bytedance ने अपने कर्मचारियों को भारत में अपना ऑपरेशन बंद करने की जानकारी दी है। भारत में Bytedance के लगभग 2000 कर्मचारी हैं।

पिछले साल जून में लद्दाख के गलवान में जब चीन के सैनिकों ने धोखा देकर भारतीय सैनिकों पर जानलेवा हमला किया था तो उसके बाद भारत सरकार ने चीन की कई मोबाईल एप्लीकेशन पर अस्थाई प्रतिबंध लगाया था और अब उस प्रतिबंध को स्थाई कर दिया है।

Tiktok and Hello parents Bytedance shutdown their operation in india

Image Source : INDIATV
Tiktok and Hello parents Bytedance shutdown their operation in india

कर्मचारियों को लिखे मेल में Bytedance ने कहा है कि कंपनी अपनी टीम का आकार घटाने के लिए मजबूर हो गई है, हालांकि मेल में यह नहीं कहा गया है कि कितने कर्मचारियों को निकाला जाएगा और कितनों को फिलहाल रखा जाएगा। कंपनी ने कर्मचारियों को यह भी कहा है कि वह नहीं जानते कि दोबारा भारत में कब ऑपरेशन शुरू किया जाएगा। टिकटॉक के वैश्विक अंतरिम प्रमुख वेनेसा पाप्पस और वैश्विक व्यापार समाधान के उपाध्यक्ष ब्लेक चांडली ने कर्मचारियों को भेजे एक ईमेल में कंपनी के निर्णय के बारे में बताया कि वह टीम के आकार को कम कर रही है और इस निर्णय से भारत के सभी कर्मचारी प्रभावित होंगे। अधिकारियों ने कंपनी की भारत में वापसी पर अनिश्चितता व्यक्त की, लेकिन कहा कि आने वाले समय में ऐसा होने की उम्मीद बनी हुई है।

Bytedance ने लिखा भावुक पत्र

 बाइटडांस ने अपने कर्मचारियों को लिखे मेल में लिखा है कि उसे कठोर निर्णय के बारे में आप सभी को सूचना देने में दुख हो रहा है। उसने लिखा है कि इस मेल से आपको होने वाले दुख व दर्द को हम समझते हैं। इसके लिए हमें खेद है। पत्र में लिखा है कि 2020 में भारत सरकार द्वारा अंतरिम प्रतिबंध लगाए जाने के बाद से हमें जबरन अपना कारोबार बंद करना पड़ा। हम लंबे वक्‍त से भारत सरकार द्वारा निर्धारित दि‍शा-निर्देशों और कानून के अनुरूप उनकी चिंताओं को दूर करने का प्रयास कर रहे थे। हमें दुख है कि हमारा कारोबार दोबारा कब शुरू होगा इस पर भारत सरकार द्वारा स्‍पष्‍ट रूप से कुछ भी न कहने से हमें मजबूरी में अब अपना कारोबार भारत में बंद करने का कठोर फैसला लेना पड़ा है। इसके परिणामस्‍वरूप हम भारत में अपनी टीम को छोटा कर रहे हैं और कर्मचारियों के ये छंटनी बिना किसी भेदभाव के की जाएगी।  

23 जनवरी को सरकार ने लगाया स्‍थायी प्रतिबंध

भारत सरकार ने 19 जनवरी को लद्दाख में एक बार फ‍िर चीनी सैनिक और भारतीय सैनिकों के बीच भिड़ंत होने के बाद 23 जनवरी को TikTok समेत सभी 59 चीनी एप्‍स को स्‍थायी रूप से प्रतिबंधित करने की घोषणा की थी। सरकार ने इन सभी 59 एप को कारण बताओ नोटिस जारी करने के 7 माह बाद अब उन पर स्‍थायी प्रतिबंध लगाने की घोषणा कर दी है। इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स और इनफोर्मेशन टेक्‍नोलॉजी मंत्रालय ने इन सभी एप को भेजे अपने ताजा पत्र में कहा था कि प्रतिबंध के बाद उनके द्वारा दिए गए उत्‍तर और उपलब्‍ध कराए गए स्‍पष्‍टीकरण भारत सरकार ने अपर्याप्‍त पाए हैं। इसके परिणामस्‍वरूप अस्‍थाई प्रतिबंध को अब स्‍थायी प्रतिबंध के रूप में परिवर्तित कर दिया गया है।  

यह भी पढ़ें: 2.59 रुपये प्रति लीटर महंगा हुआ पेट्रोल, डीजल में हुई 2.61 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी

यह भी पढ़ें: व्‍हीकल स्‍क्रैप पॉलिसी को मिली मंजूरी, जानिए कब से और किन वाहनों के लिए होगी लागू

यह भी पढ़ें: सरकार ने BSNL-MTNL के विलय को टाला, BSNL को दी बेचने की मंजूरी

यह भी पढ़ें: Kia Motors ने किया कमाल...17 महीने में बेचे इतने लाख वाहन

Write a comment
X