1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Lay off: Byju's में अब तक की सबसे बड़ी छंटनी, एक साथ 2500 इंप्लॉईज़ को निकाला, ये रही वजह

Lay off: Byju's में अब तक की सबसे बड़ी छंटनी, एक साथ 2500 इंप्लॉईज़ को निकाला, ये रही वजह

बायजूस ने Toppr, WhiteHat Jr और सेल्स एंड मार्केटिंग, ऑपरेशंस, कंटेंट और डिजाइन टीमों से फुल-टाइम और कॉन्ट्रैक्ट वाले कर्मचारियों को निकाला है।

Sachin Chaturvedi Written By: Sachin Chaturvedi @sachinbakul
Published on: June 30, 2022 10:12 IST
byju's - India TV Hindi
Photo:BYJUS

byju's 

Highlights

  • बायजूस ने 2500 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला
  • Toppr से सबसे ज्यादा 1100 कर्मचारियों की छुट्टी
  • WhiteHat Jr से 300 कर्मचारियों को निकाला

Lay off: शिक्षा के क्षेत्र से जुड़ी भारत की सबसे बड़ एडटेक कंपनी बायजूस (Byju's) गंभीर संकट से गुजर रही है। दुनिया की इस सबसे मूल्यवान एडटेक कंपनी ने अपने 2500 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है। बायजू रवीन्द्रन (Byju Raveendran) की इस स्टार्टअप यूनिकॉर्न ने यह छंटनी अपने ग्रुप में शामिल गई कंपनियों से की है। समूह की ही एक कंपनी टॉपर से 1000 लोग निकाले गए हैं। 

बिजनेस समाचार वेबसाइट मनीकंट्रोल ने सूत्रों के हवाले से बताया कि बायजूस ने Toppr, WhiteHat Jr और सेल्स एंड मार्केटिंग, ऑपरेशंस, कंटेंट और डिजाइन टीमों से फुल-टाइम और कॉन्ट्रैक्ट वाले कर्मचारियों को निकाला है। माना जा रहा है कि कोेराना लॉकडाउन के बाद से एडटेक सर्विसेज की मांग में काफी गिरावट आई है। हाल के महीनों में इस सेक्टर की कंपनियों ने हजारों कर्मचारियों को निकाला है। 

जिन्हें खरीदा उन्हीं में सबसे ज्यादा छंटनी 

बायजू की छंटनी की सबसे खास बात यह है कि उसने सबसे ज्यादा कर्मचारी Toppr और WhiteHat Jr जैसी उन कंपनियों से निकाले गए हैं, जिन्हें दो साल के भीतर कंपनी ने खरीदा है। इन दोनों कंपनियों के 1500 कर्मचारियों को 27 और 28 जून को पिंक स्लिप यानि बर्खास्तगी की चिट्ठी मिली है। 

बायजू की कंटेंट टीम पर बुरी मार

कंपनी ने अपनी कोर ऑपरेशंस टीमों को करीब 1000 कर्मचारियों को 29 जून को ई-मेल भेज कर उनकी विदाई की है। एक सूत्र ने कहा कि कंटेंट और डिजाइन टीम पर सबसे ज्यादा असर पड़ा है। सबसे ज्यादा छंटनी इन्हीं की हुई है। 

टॉपर ने 1,100 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला

टॉपर ने इस सप्ताह 1,100 कर्मचारियों को नौकरी से हटा दिया है। यह कंपनी के कुल कार्यबल का करीब 36 प्रतिशत है। निर्णय से प्रभावित कुछ कर्मचारियों ने यह जानकारी दी है। टॉपर के बर्खास्त कर्मचारियों ने कहा कि उन्हें सोमवार को कंपनी से ‘कॉल’ आया और इस्तीफा देने को कहा गया। ऐसा नहीं करने पर बिना नोटिस के नौकरी से हटाने की बात कही गयी। 300 से 350 परमानेंट कर्मचारियों को निकाल दिया गया है जबकि करीब 300 कर्मचारियों को रिजाइन करने को कहा गया है। साथ ही कॉन्ट्रैक्ट पर रखे गए 600 कर्मचारियों को निकाल दिया गया है। उनका कॉन्ट्रैक्ट अक्टूबर-नवंबर तक था।

इस्तीफा नहीं तो 1 महीने का वेतन नहीं

टॉटॉपर के बर्खास्त कर्मचारियों ने कहा कि उन्हें सोमवार को कंपनी से ‘कॉल’ आया और इस्तीफा देने को कहा गया। ऐसा नहीं करने पर बिना नोटिस के नौकरी से हटाने की बात कही गयी। कंपनी के एक कर्मचारी ने बताया, ‘‘मैं रसायन शास्त्र विषय पढ़ाता हूं। मेरी पूरी टीम की छंटनी कर दी गयी है। टॉपर ने इस्तीफा देने को वालों को एक महीने का वेतन देने का वादा किया। ऐसा नहीं करने वालों को कोई वेतन नहीं दिया जाएगा।’’ टॉपर के सह-संस्थापक जीशान हयात को उनके व्हाट्सएप पर सवाल भेजकर इस बारे में जानकारी मांगी गयी, लेकिन उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं आया।

क्यों हो रही है छंटनी

बायजूस ने पिछले साल 15 करोड़ डॉलर में Toppr को खरीदा था। कंपनी का कहना है कि उसने Toppr के इंटिग्रेशन की प्रक्रिया पूरी कर ली है और उसके करीब 80 फीसदी कर्मचारियों को अपने पास रख लिया है। अधिग्रहण की प्रक्रिया पूरी होने के बाद Toppr के सेल्स और मार्केटिंग डिवीजन के कर्मचारियों को बनाए रखा गया है जबकि बाकी कर्मचारियों को निकाल दिया गया है। बायजूस ने अगस्त 2020 में वाइटहैट जूनियर को 30 करोड़ डॉलर में खरीदा था। निकाले गए कर्मचारियों में से अधिकांश कोड टीचिंग और सेल्स टीम के हैं। 

भारतीय स्टार्टअप कर चुकी हैं 6,000 की छंटनी

भारत में भी कई स्टार्टअप कंपनियों ने पांच महीनों में करीब 6,000 कर्मचारियों की छंटनी की है। कई ग्लोबल स्टार्टअप्स ने भी कर्मचारियों को निकाला है। Blinkit ने इस साल सबसे ज्यादा 1,600 कर्मचारियों को निकाला है। इसी तरह Unacademy ने 1,000, बायजूस ने 800, वेदांतू ने 600 से अधिक, कार्स24 ने 600, Mfine ने 600, Trell ने 300 से ज्यादा, Furlenco ने 180 और Meesho ने 150 कर्मचारियों की छंटनी की है।

Latest Business News