1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. फटेहाल पाकिस्तान अब 'अपनों' की जेब काटने पर उतारू, सरकारी फैसले से सैनिकों के भी छलके आंसू

फटेहाल पाकिस्तान अब 'अपनों' की जेब काटने पर उतारू, सरकारी फैसले से सैनिकों के भी छलके आंसू

सरकार कम व्यय के प्रस्तावों को अंतिम रूप दे रही है क्योंकि इसे अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) से और सहायता मिलने की अपेक्षा है लेकिन सरकार उसकी शर्तों को लागू करने में हिचकिचा रही है।

Sachin Chaturvedi Edited By: Sachin Chaturvedi @sachinbakul
Updated on: January 25, 2023 19:21 IST
पाकिस्तान- India TV Hindi
Photo:FILE पाकिस्तान

पाकिस्तान हर दिन नई परेशानी में घिरता दिख रहा है। दो दिन पहले ही पूरे देश की बिजली गुल हो गई थी। वहीं बुधवार को आए सरकारी फरमान से आम पाकिस्तानी कर्मचारी को तगड़ा झटका लग गया है। पाकिस्तान में भारी आर्थिक संकट के बीच सरकार के सभी विभागों के कर्मचारियों के वेतन में 10 प्रतिशत कटौती करने समेत कई प्रस्तावों पर विचार किया जा रहा है। ऐसा हुआ तो पाकिस्तानी सेना के अधिकारियों से लेकर सैनिकों के भी वेतन में कटौती की जाएगी। 

बुधवार को जारी एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान विदेशी मुद्रा भंडार में कमी आने के बाद हाल के वर्षों में सबसे बड़े आर्थिक संकट से जूझ रहा है। ‘जियो न्यूज’ ने बताया कि प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ द्वारा गठित राष्ट्रीय मितव्ययिता समिति (एनएसी) सभी विभागों के सरकारी कर्मचारियों के वेतन में 10 प्रतिशत की कमी करने समेत विभिन्न प्रस्तावों पर विचार कर रही है। 

रिपोर्ट के अनुसार, एनएसी मंत्रालयों/विभागों के व्यय में 15 प्रतिशत की कमी करने, संघीय, राज्य मंत्रियों और सलाहकारों की संख्या 78 से घटाकर 30 करने पर विचार कर रही है। इन विचारों पर बुधवार देर शाम तक निर्णय ले लिया जाएगा और समिति इसकी रिपोर्ट प्रधानमंत्री को भेज देगी। 

सरकार कम व्यय के प्रस्तावों को अंतिम रूप दे रही है क्योंकि इसे अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) से और सहायता मिलने की अपेक्षा है लेकिन सरकार उसकी शर्तों को लागू करने में हिचकिचा रही है।

Latest Business News