ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. जी एंटरटेनमेंट के शेयरों में इनसाइडर ट्रेडिंग, सेबी ने लगाई 15 इकाइयों पर पाबंदी

जी एंटरटेनमेंट के शेयरों में इनसाइडर ट्रेडिंग, सेबी ने लगाई 15 इकाइयों पर पाबंदी

भारत में इनसाइडर ट्रेडिंग पर बैन है। लेकिन इसके बावजूद जी एंटरटेनमेंट में एक बड़ा मामला सामने आया है। अब सेबी ने बड़ा कदम उठाते हुए 15 इकाइयों पर बैन लगाया है।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Published on: August 13, 2021 9:02 IST
जी एंटरटेनमेंट के...- India TV Paisa
Photo:FILE

जी एंटरटेनमेंट के शेयरों में इनसाइडर ट्रेडिंग, सेबी ने लगाई 15 इकाइयों पर पाबंदी 

नयी दिल्ली। बाजार नियामक सेबी ने बृहस्पतिवार को जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लि. के शेयर में भेदिया कारोबार में शामिल होने को लेकर व्यक्तियों समेत 15 इकाइयों पर पूंजी बाजार में कारोबार करने से पाबंदी लगा दी। अतंरिम आदेश के अनुसार साथ ही भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने कुछ इकाइयों से गलत तरीके से कमाई गयी 23.84 करोड़ रुपये की राशि जब्त कर ली। नियामक ने पाया कि आपस में जुड़ी या संबंधित इकाइयां नकद और डेरिवेटिव खंड में जी लि.के शेयर खरीद रहे थे। 

वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही का परिणाम आने के बाद उन्होंने शेयर की खरीद-बिक्री कर अच्छा-खासा मुनाफा कमाया। सेबी की निगरानी व्यवस्था ने जी लि. के शेयरों में वित्तीय परिणाम की घोषणा के आसपास शेयर में संदिग्ध लेन-देन का पता लगाया था। परिणाम की घोषणा कारोबार समाप्त होने के बाद 18 अगस्त, 2020 को की गयी थी। कंपनी ने लाभ में उल्लेखनीय वृद्धि की घोषणा की थी। इससे उसके शेयर 19 अगस्त, 2020 को 13 प्रतिशत चढ़े थे। 

पढें-  हिंदी समझती है ये वॉशिंग मशीन! आपकी आवाज पर खुद धो देगी कपड़े

पढें-  किसान सम्मान निधि मिलनी हो जाएगी बंद! सरकार ने लिस्ट से इन लोगों को किया बाहर

सोशल मीडिया, कॉल डाटा रिकॉर्ड और बैंक स्टेटमेंट विश्लेषण के आधार पर सेबी की जांच से पता चला कि जी लि. में नियमों के उल्लंघन के समय वित्तीय नियोजन और विश्लेषण, रणनीति तथा निवेशक संबंधों के प्रमुख बीजल शाह ने प्रथम दृष्ट्या उल्लंघन के समय, अप्रकाशित संवेदनशील सूचना (यूपीएसआई) यूबीएस इंडिया के पूर्व निदेशक गोपाल रितोलिया और क्रेडिट सुइस के पूर्व निदेशक जतिन और वर्तमान में फर्स्ट वॉयजर्स एडवाइजर्स के निदेशक जतिन चावल को उपलब्ध करायी। उसके बाद सूचना को जतिन चावला ने इस अप्रकाशित गोपनीय सूचना को अमित भंवरलाल जाजू को दिया। जाजू ने वह सूचना मनीष कुमार जाजू को दी। अमित और मनीष ने सूचना के बाद जी के शेयरों में काफी बड़ी खरीदारी कर दी। परिवार के कई सदस्यों के खातों का इसमें इसतेमाल किया गया। 

पढ़ें-  भारत के सभी बैंकों के लिए आ गई ये सिंगल एप, ICICI बैंक ने किया कमाल

पढ़ें- ATM मशीन को बिना छुए निकाल सकते हैं पैसा, इस सरकारी बैंक ने शुरू की सुविधा

इन 15 इकाइयों पर पाबंदी 

जिन 15 इकाइयों पर पाबंदी लगायी है, वे हैं बिजल शाह, गोपाल रितोलिया, जतिन चावला, अमित भंवरलाल जाजू, मनीष कुमार जाजू, गोमती देवी रितोलिया, दलजीत गुरुचरण चावला, मोनिका लखोटिया, पुष्पादेवी जाजू, भवरलाल रामनिवास जाजू, भवरलाल जाजू (हिंदु अविभाजित परिवार -एचयूएफ), रितेश कुमार, कमल किशोर, सक्सेसश्योर पार्टनर, यश अनिल जाजू और विमला सोमानी।

Write a comment
elections-2022