Saturday, March 02, 2024
Advertisement
  1. Hindi News
  2. पैसा
  3. बाजार
  4. शेयर बाजार में सोमवार से कहां होगी कमाई, नुकसान से बचने के लिए गांठ बांध लें ये बातें

शेयर बाजार में सोमवार से कहां होगी कमाई, नुकसान से बचने के लिए गांठ बांध लें ये बातें

शेयर बाजार के प्रतिभागी अडानी समूह के संकट से संबंधित घटनाक्रम पर भी नजर रखेंगे। यह मामला करीब 20 दिनों से शेयर बाजार के लिए एक बड़ा मुद्दा बना हुआ है।

Sachin Chaturvedi Written By: Sachin Chaturvedi @sachinbakul
Published on: February 12, 2023 17:34 IST
share Market- India TV Paisa
Photo:FILE share Market

भारतीय शेयर बाजार के लिए बीता हफ्ता हिचकोलों से भरा हुआ था। अडानी समूह की कंपनियों की पिटाई, विदेशी निवेशकों की जबर्दस्त बिकवाली और रिजर्व बैंक की पॉलिसी के चलते शेयर बाजार का मूड पूरे हफ्ते बनता और बिगड़ता रहा। वहीं आने वाले सप्ताह के लिए शेयर बाजार के जानकार सावधानी से कारोबार करने की सलाह दे रहे हैं। विश्लेषकों का मानना है कि इस सप्ताह घरेलू शेयर बाजारों में कारोबारी गतिविधियां मुख्य रूप से मुद्रास्फीति के आंकड़ों, वैश्विक बाजारों के रुझान और विदेशी पूंजी की चाल से तय होंगी। 

अडानी के शेयरों पर नजर

विश्लेषकों के मुताबिक, शेयर बाजार के प्रतिभागी अडानी समूह के संकट से संबंधित घटनाक्रम पर भी नजर रखेंगे। यह मामला करीब 20 दिनों से शेयर बाजार के लिए एक बड़ा मुद्दा बना हुआ है। स्वस्तिका इंवेस्टमेंट लिमिटेड के शोध प्रमुख संतोष मीणा ने कहा, "कच्चे तेल में उतार-चढ़ाव, डॉलर सूचकांक और अमेरिकी बॉन्ड प्रतिफल भी अन्य अहम कारक होंगे। संस्थागत प्रवाह महत्वपूर्ण होगा क्योंकि जनवरी में लगातार बिकवाली के बाद एफआईआई की बिक्री में थोड़ी नरमी आई है।" विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने पिछले सप्ताह 144.73 करोड़ रुपये मूल्य के शेयरों की शुद्ध बिक्री की। 

आएंगे भारत और अमेरिकी के महंगाई आंकड़े

आने वाले हफ्ते में बाजार को भारत और अमेरिका के मुद्रास्फीति आंकड़ों का इंतजार रहेगा। दरअसल इन आंकड़ों से आने वाले समय में दोनों देशों के केंद्रीय बैंकों की नीतिगत दर वृद्धि को लेकर संभावित रुख का अंदाजा लगाया जा सकेगा। अमेरिका और भारत में खुदरा मुद्रास्फीति के आंकड़े मंगलवार को ही घोषित होने वाले हैं। पिछले हफ्ते, भारतीय रिजर्व बैंक ने मुख्य मुद्रास्फीति ऊंची रहने का हवाला देते हुए रेपो दर में 0.25 प्रतिशत की वृद्धि कर दी थी। अब रेपो दर 6.5 प्रतिशत हो गई है। 

स्मॉल कैप कंपनियां कर रही आकर्षित

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि रेपो दर में 0.25 प्रतिशत की वृद्धि बाजार के अनुमानों के मुताबिक ही थी जिसका निवेशकों ने भी स्वागत किया। उन्होंने कहा कि इस तरह के अस्थिर समय में निवेशकों को मूल्यपरक खरीदारी की रणनीति पर चलना चाहिए। मूल्यांकन में गिरावट आने से स्मालकैप कंपनियां दीर्घावधि के लिए आकर्षक दिख रही हैं। 

इन शेयरों में मुनाफे की संभावना

आने वाले हफ्ते में अडाणी एंटरप्राइजेज के तिमाही नतीजे पर भी नजरें टिकी रहेंगी। इसके अलावा ग्रासिम, आयशर मोटर्स और सेल भी अपने तिमाही नतीजों की घोषणा करेंगी। पिछले हफ्ते बीएसई सेंसेक्स में 159.18 अंक यानी 0.26 प्रतिशत की गिरावट रही थी और यह सूचकांक 60,682.70 अंक पर बंद हुआ था।

Latest Business News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Market News in Hindi के लिए क्लिक करें पैसा सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement