Shardiya Navratri 2022: हाथी पर सवार होकर आएंगी मां दुर्गा, जानिए कब शुरू हो रही शारदीय नवरात्रि

Shardiya Navratri 2022: इस साल का शारदीय नवरात्रि बहुत विशेष है। क्योंकि इस बार नवरात्रि की शुरूआत सोमवार के दिन हो रही है।

India TV Lifestyle Desk Written By: India TV Lifestyle Desk
Published on: August 17, 2022 14:38 IST
Shardiya navratri 2022- India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV Shardiya navratri 2022

Highlights

  • सोमवार के दिन से शुरू होगी नवरात्रि
  • जानिए घट स्थापना का मुहूर्त

Shardiya Navratri 2022: मां दुर्गा के भक्तों को उनकी आराधना करने के लिए पूरे साल शारदीय नवरात्रि का इंतजार रहता है। यह 9 दिन हर माता के भक्त के लिए बहुत विशेष होते हैं। देश भर में माता के जयकारे गूंजते हैं, रतजगों को माता की आराधना होती है, हवन और यज्ञ करके लोग माता को प्रसन्न करते हैं। इस साल भी अब ये शुभ दिन आने ही वाले हैं। आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से यह व्रत शुरू होते हैं। इसे शारदीय नवरात्रि के नाम से जाना जाता है। तो आइए जानते हैं कि इस साल यह 9 दिन का उत्सव किस तारीख से शुरू हो रहा है। साथ ही जानते हैं कि व्रत और घट स्थापना का शुभ मुहूर्त और तिथि क्या है। 

ये नवरात्रि पर्व है काफी खास

हिंदू पंचांग के अनुसार, इस साल का शारदीय नवरात्रि बहुत विशेष है। क्योंकि इस बार नवरात्रि की शुरूआत सोमवार के दिन हो रही है। भोलेनाथ की भक्ति के साथ यह दिन चंद्र ग्रह का दिन है, इसलिए इसे पूजा-पाठ के लिए काफी शुभ माना जाता है। इतना ही नहीं ऐसी मान्यता है कि जब भी नवरात्रि की शुरुआत रविवार या सोमवार से होती है तब मां दुर्गा हाथी पर सवार होकर पधारती हैं। हाथी की सवारी से सीधा संबंध सुख सम्पन्नता से माना जाता है। इसलिए यह नवरात्रि का त्योहार विश्वभर शांति और सुख लेकर आएगा। 

Pukhraj Gemstone: ये रत्‍न धारण करते ही बदल जाती है इन 4 राशियों की किस्‍मत, मिलता है फायदा ही फायदा

प्रारंभ तिथि और घट स्थापना

आपको बता दें कि इस साल शारदीय नवरात्रि 26 सितंबर से प्रारंभ होकर, 5 अक्टूबर तक चलेगी। वहीं प्रतिपदा तिथि 26 अक्टूबर को है,  तो घटस्थापना का मुहूर्त 26 सितंबर की सुबह 06 बजकर 20 मिनट से 10 बजकर 19 मिनट तक रहेगा। आपको बता दें कि प्रतिपदा का प्रांरभ 26 सितंबर को सुबह 3 बजकर 24 मिनट को होगा। प्रतिपदा तिथि 27 सितंबर की सुबह 03 बजकर 08 मिनट तक रहेगी।  

अभिजीत मुहूर्त- 26 सितंबर सुबह 11 बजकर 54 मिनट से दोपहर 12 बजकर 42 मिनट तक।

Numerology: इस मूलांक के लोग होते हैं मूडी और शक्की, बर्थडे की डेट से जानिए लोगों का नेचर

आपको बता दें कि ऐसी मान्यता है कि नवरात्रि में मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की विधि पूर्वक पूजा करने से सभी कष्ट दूर हो जाते हैं और मनोकामना पूर्ण होती हैं।

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं। इसका कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है। इंडिया टीवी एक भी बात की सत्यता का प्रमाण नहीं देता है।)

navratri-2022