1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. खेल
  4. क्रिकेट
  5. IND vs ENG: बर्मिंघम टेस्ट में सबसे सफल भारतीय गेंदबाज बने सिराज, आलोचकों को दिया करारा जवाब

IND vs ENG: बर्मिंघम टेस्ट में सबसे सफल भारतीय गेंदबाज बने सिराज, आलोचकों को दिया करारा जवाब

भारत और इंग्लैंड के बीच मुकाबले के तीसरे दिन सिराज भारतीय टीम के सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने पूरे दिन में इंग्लैंड के गिरे पांच विकेटों में तीन विकेट अपने नाम किए। 

Ranjeet Mishra Written By: Ranjeet Mishra
Published on: July 03, 2022 22:16 IST
Mohammed Siraj celebrates with Teammates - India TV Hindi News
Image Source : GETTY Mohammed Siraj celebrates with Teammates 

Highlights

  • इंग्लैंड के खिलाफ पहली पारी में सबसे सफल तेज गेंदबाज बने सिराज
  • सिराज ने पहली पारी में चटकाए सर्वाधिक चार विकेट
  • मोहम्मद सिराज ने आलोचकों को दिया जवाब

इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज के पांचवें रिशेड्यूल मैच में आर अश्विन को प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं बनाया गया। कई आलचकों को यह बात हजम नहीं हुई, कई फैंस भी निराश हुए। लोगों को ये बात ज्यादा नागवार गुजरी कि महान भारतीय स्पिनर की जगह मोहम्मद सिराज को क्यों वरीयता दी गई। खेल के तीसरे दिन नाराज और निराश तमाम आलोचक और फैंस शांत हैं। सिराज ने अपने प्रदर्शन से सबको खुश कर दिया है।

भारतीय तेज गेंदबाज ने एजबेस्टन टेस्ट के तीसरे दिन इंग्लैंड की पहली पारी में एक के बाद एक, कुल चार विकेट चटकाए। उन्होंने विकेट लेने के सिलसिले की शुरुआत दूसरे दिन ही कर दी थी। सिराज ने भारत की पहली पारी में 416 रन बनाने के बाद बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लिश टीम के सबसे कद्दवार बल्लेबाज को दिन के खत्म होते-होते पवेलियन भेज दिया था। उन्होंने जो रूट को 31 रन के निजी स्कोर पर आउट कर मैच को भारत के गिरफ्त में पहुंचा दिया था।

मुकाबले के तीसरे दिन सिराज भारतीय टीम के सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने पूरे दिन में इंग्लैंड के गिरे पांच विकेटों में तीन विकेट अपने नाम किए। सिराज ने क्रीज पर जम चुके सैम बिलिंग्स को 36 रन पर पवेलियन भेजा। वहीं बल्लेबाजी की अच्छी क्षमता रखने वाले स्टुअर्ट ब्रॉड और मैथ्यू पॉट्स को भी अपना शिकार बनाया। ब्रॉड एक और पॉट्स ने 19 रन बनाकर सिराज के आगे घुटने टेक दिए। सिराज ने पहली पारी में 11.3 ओवर गेंदबाजी करके चार विकेट चटकाए

अगर इस मुकाबले में सिराज की जगह अश्विन होते, तो वे भी शायद इतने सफल नहीं हो पाते। यह बात कोरी लफ्फाजी नहीं है, रवींद्र जडेजा के प्रदर्शन से इसके संकेत मिलते हैं। जडेजा इस मुकाबले में गेंद से खाली हाथ रहे। पिच और कंडिशन का इशारा स्पिनर्स के लिए सिफर से ज्यादा कुछ भी नहीं था।       

Latest Cricket News

लाइव स्कोरकार्ड

>independence-day-2022