Sunday, June 16, 2024
Advertisement

Elon Musk के इस ऐलान से Apple CEO Tim Cook की बढ़ी टेंशन

Elon Musk ने एप्पल CEO टिम कुक की टेंशन को बढ़ाते हुए कहा है कि वो अपनी कंपनी में apple के डिवाइसेज को बैन करने की तैयारी में है। अगर, एप्पल OpenAI के साथ मिलकर ऑन डिवाइस AI फीचर देता है, तो यूजर का डेटा OpenAI के हाथ लग जाएगा, जो उसे बर्दाश्त नहीं है।

Written By: Harshit Harsh @HarshitKHarsh
Updated on: June 11, 2024 12:37 IST
Elon Musk Tim Cook- India TV Hindi
Image Source : FILE Elon Musk Tim Cook

Elon Musk ने Apple CEO Tim Cook की टेंशन बढ़ा दी है। मस्क ने धमकी देते हुए कहा है कि Apple के डिवाइस के मस्क की कंपनी में बैन किया जा सकता है। Tesla, X (Twitter) और Starlink के CEO और दुनिया के सबसे अमीर शख्स की इस धमकी से एप्पल की परेशानी बढ़ सकती है। मस्क ने सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए एप्पल के डिवाइस को अपनी कंपनी में बैन करने की बात कही है।

क्या है मामला?

एलन मस्क ने अपने X पोस्ट में कहा कि अगर एप्पल अपने प्रोडक्ट और डिवाइस में OpenAI को OS (ऑपरेटिंग सिस्टम) लेवल पर इंटिग्रेट करता है, तो मेरी कंपनी में बैन कर दिया जाएगा। यह सिक्योरिटी वायलेशन हमें बिलकुल बर्दाश्त नहीं है। एलन मस्क के इस पोस्ट पर लाखों यूजर्स ने रिएक्ट किया है।

एलन मस्क ने एक साथ कई पोस्ट करते हुए कहा कि वो अपनी कंपनी में आने वाले सभी विजिटर्स के Apple डिवाइस को दरवाजे पर रखवा लेंगे। इसके अलावा मस्क ने Apple की खिंचाई करते हुए कहा कि एप्पल इतना भी स्मार्ट नहीं है कि वो अपना AI क्रिएट कर सकता है। एप्पल को अभी इसका अंदाजा भी नहीं है कि वो कितनी आसानी से यूजर्स के डेटा को OpenAI को हैंडओवर कर रहा है।

WWDC 2024 में एप्पल ने अपने जेनरेटिव एआई टूल Apple Intelligence की घोषणा की है। एप्पल ने अपने डिवाइस में AI फीचर को इंटिग्रेट करने के लिए OpenAI से मदद ली है। एप्पल के डिवाइस में OpenAI के जेनरेटिव एआई ChatGPT को इंटिग्रेट किया जाएगा। 

हालांकि, Apple ने इसकी घोषणा करते हुए साफ किया था कि उसका AI टूल यूजर की प्राइवेसी और सिक्योरिटी का पूरा ध्यान रखेगा। यह टूल यूजर्स के किसी भी ई-मेल या पर्सनल चैट्स का एक्सेस नहीं करेगा। कंपनी ने वर्ल्ड वाइड डेवलपर्स कांफ्रेंस में साफ किया है कि OpenAI के ChatGPT पर बेस्ड Apple Intelligence को iOS, macOS और iPadOS के लिए फ्री में उपलब्ध कराया जाएगा। नए OS अपग्रेड के साथ इन डिवाइसेज में यूजर्स को Apple Intelligence मिलने लगेगा।

Apple हमेशा से यूजर डेटा की प्राइवेसी को सबसे ऊपर रखता रहा है। कंपनी अपने डिवाइस में इन-हाउस हार्डवेयर और चिप का इस्तेमाल करता है, ताकि यूजर का डेटा डिवाइस में ही रहे। मस्क की यह चेतावनी एप्पल को खुद के आर्टिफिशियल मॉडल को डिजाइन करने के लिए है, ताकि यूजर का डेटा किसी थर्ड पार्टी के हाथ न लग सके।

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Tech News News in Hindi के लिए क्लिक करें टेक सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement