Friday, July 12, 2024
Advertisement

भारतीय जवानों ने चीनी सैनिकों को चटाई धूल, जमीन पर पैर तक नहीं टिका सके Chinese Troops; देखें VIDEO

भारतीय सेना के जवानों ने चीनी सैनिकों को रस्साकशी के खेल में मात दी है। मुकाबला भारतीय सैनिकों और चीन के सैनिकों के बीच सूडान में हुआ था।

Edited By: Amit Mishra @AmitMishra64927
Updated on: May 29, 2024 11:18 IST
Indian Troops Beat Chinese Troops in Tug of War- India TV Hindi
Image Source : ANI Indian Troops Beat Chinese Troops in Tug of War

Indian Troops Won Tug of War: भारत और चीन के बीच सैन्य स्तर पर संबंध सामान्य नहीं हैं। दोनों देशों के सैनिक जब भी सामने आए हैं तो तनाव भी साफ नजर आया है। ऐसा ही अब कुछ अफ्रीका के सूडान में हुआ है जहां भारतीय सैनिकों और चीनी सैनिकों का आमना-सामना हुआ। सूडान में भारतीय जवानों के सामने चीनी सैनिक पस्त नजर आए। यहां भारतीय जवानों ने चीनी सेना के जवानों को करारी शिकस्त दी है।  

जीत का वीडियो 

भारतीय सैनिकों ने चीनी जवानों को कैसे मात दी है इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। दरअसल, संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन के तहत सूडान में तैनात भारतीय सैनिक और चीनी सैनिकों के बीच रस्साकशी की प्रतियोगिता हुई। इस प्रतियोगिता में दोनों देशों के सैनिकों दम दिखाया, लेकिन अंत में जीत भारतीय सैनिकों की हुई। जीत के बाद भारतीय सैनिक जश्न मनाते हुए नजर आए।  

भारतीय जवानों ने किया शानदार प्रदर्शन 

सेना के अधिकारियों ने बताया कि भारतीय सैनिकों और चीन के सैनिकों के बीच संयुक्त राष्ट्र शांति रक्षा मिशन के तहत सूडान, अफ्रीका में तैनाती के दौरान रस्साकशी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। इस मुकाबले में भारतीय सेना की टीम ने चीन को हरा दिया। Tug of War में दोनों देशों के सैनिक आमने-सामने थे, इस पूरे खेल की वीडियोग्राफी भी कराई गई थी। प्रतियोगिता काफी रोमांचक रही। फिजिकल फिटनेस और टीम वर्क के प्रदर्शन में भारतीय सैनिकों ने अपनी ताकत और दृढ़ संकल्प का शानदान प्रदर्शन किया।

यह भी जानें 

यहां यह भी बता दें कि, संयुक्त राष्ट्र के शांति रक्षा मिशन का मकसद युद्ध प्रभावित देशों में सुरक्षा और शांति स्थापित करना है। शीत युद्ध के बाद से संयुक्त राष्ट्र शांति रक्षा मिशन को युद्ध को जल्द खत्म करने, नागरिकों की रक्षा करने तथा दीर्घकालीन शांति एवं सुरक्षा को समर्थन देने के उद्देश्य से तैयार किया गया। इसमें संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों के सैनिक, पुलिस और आम नागरिक शामिल होते हैं। यह उन इलाकों में तैनात किए जाते हैं जहां कोई अन्य देश या संस्था शांति स्थापित नहीं कर सकती है।  

यह भी पढ़ें: 

Lok Sabha Election 2024: 'नरेंद्र मोदी की शिकस्त जरूरी', पाकिस्तान के पूर्व मंत्री फवाद चौधरी ने फिर खोला मुंह; राहुल, केजरीवाल पर भी बोले

नवाज शरीफ ने 26 साल बाद माना भारत को दिया था धोखा, दुनिया के सामने खुद खोल दी Pak की पोल

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Around the world News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement