1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. नेपाल में बारिश, बाढ़ और भूस्खलन से भारी तबाही, मृतकों की संख्या 88 पहुंची

Nepal Flood Deaths: नेपाल में बारिश, बाढ़ और भूस्खलन से भारी तबाही, मृतकों की संख्या 88 पहुंची

नेपाल के जिले पांचथर में सबसे ज्यादा 27 लोगों की मौत हो गई। इसके अलावा इलाम और दोटी में 13-13 लोगों की मौत हो गई। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि पिछले तीन दिन से हो रही बारिश के कारण आई बाढ़, भूस्खलन और जलप्लावन से देश के विभिन्न हिस्सों में अब तक कम से कम 88 लोगों की मौत हो चुकी है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: October 21, 2021 14:28 IST
नेपाल में बारिश, बाढ़ और भूस्खलन से भारी तबाही, मृतकों की संख्या 88 पहुंची- India TV Hindi
Image Source : AP/PTI नेपाल में बारिश, बाढ़ और भूस्खलन से भारी तबाही, मृतकों की संख्या 88 पहुंची

काठमांडू: नेपाल में भारी बारिश और उसके कारण आई बाढ़ से देश के विभिन हिस्सों में 11 और लोगों की मौत होने के बाद गुरुवार को मृतकों की संख्या बढ़कर 88 हो गई। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। आपदा प्रबंधन प्रभाग के अनुसार, अब तक 30 लोग लापता हैं। नेपाल के जिले पांचथर में सबसे ज्यादा 27 लोगों की मौत हो गई। इसके अलावा इलाम और दोटी में 13-13 लोगों की मौत हो गई। 

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि पिछले तीन दिन से हो रही बारिश के कारण आई बाढ़, भूस्खलन और जलप्लावन से देश के विभिन्न हिस्सों में अब तक कम से कम 88 लोगों की मौत हो चुकी है। गुरुवार सुबह 11 लोगों की मौत की पुष्टि हुई। नेपाल के 20 जिले प्राकृतिक आपदा से प्रभावित हैं। बझाड़ जिले में 21 लोग लापता हैं। अधिकारियों ने बताया कि बृहस्पतिवार से मौसम की स्थिति में सुधार हुआ है। इस बीच गृह मंत्री बालकृष्ण खंड ने नेपाल पुलिस, सशस्त्र पुलिस बल, राष्ट्रीय अन्वेषण विभाग और नेपाली सेना को हुमला जिले में फंसे हुए पर्यटकों को निकालने का निर्देश दिया है। 

काठमांडू से 700 किलोमीटर पश्चिम में स्थित नखला और हुमला जिले में 12 लोग फंसे हैं जिनमें चार स्लोविनिया के नागरिक और तीन गाइड शामिल हैं। लिमि क्षेत्र में भारी बर्फबारी के कारण सड़क अवरुद्ध होने से वे लोग फंस गए हैं। हुमला के मुख्य जिला अधिकारी गणेश आचार्य ने कहा कि वे लोग लिमि में पर्वतारोहण करने के बाद सिमिकोट वापस आ रहे थे। अधिकारियों ने बताया कि रविवार से भारी हिमपात हो रहा है और बुधवार से मौसम खराब होने के चलते बचाव कार्य नहीं हो सका। उन्होंने कहा कि बचाव अभियान के लिए स्थानीय प्रशासन ने गृह मंत्रालय से हेलीकॉप्टर मांगा है। 

bigg boss 15