1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. गाजा में युद्धविराम को फलस्तीनी बता रहे अपनी जीत, इजराइल ने दी हमास को चेतावनी

गाजा में युद्धविराम को फलस्तीनी बता रहे अपनी जीत, इजराइल ने दी हमास को चेतावनी

इजराइल की घोषणा के साथ गाजा में युद्धविराम के प्रभाव में आने के बाद शुक्रवार को हजारों फलस्तीनियों ने जश्न मनाया। उनमें से अनेक ने कहा कि युद्ध महंगा साबित हुआ लेकिन यह इस्लामी उग्रवादी समूह हमास की स्पष्ट जीत है। 

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: May 21, 2021 20:38 IST
Palestinians claim victory as Gaza truce faces early test, Israel warns Hamas- India TV Hindi
Image Source : AP इजराइल की घोषणा के साथ गाजा में युद्धविराम के प्रभाव में आने के बाद शुक्रवार को हजारों फलस्तीनियों ने जश्न मनाया।

गाजा सिटी: इजराइल की घोषणा के साथ गाजा में युद्धविराम के प्रभाव में आने के बाद शुक्रवार को हजारों फलस्तीनियों ने जश्न मनाया। उनमें से अनेक ने कहा कि युद्ध महंगा साबित हुआ लेकिन यह इस्लामी उग्रवादी समूह हमास की स्पष्ट जीत है। वहीं, इजराइल ने कड़े शब्दों में चेतावनी दी कि यदि आगे कोई और शत्रुतापूर्ण कार्रवाई की गई तो वह नए सिरे से पूरी ताकत से जवाब देगा। ग्यारह दिन चले युद्ध में 200 से अधिक लोग मारे गए हैं जिनमें अधिकतर फलस्तीनी हैं। युद्ध में हमास शासित गाजा पट्टी में बड़े पैमाने पर तबाही हुई है जो पहले से ही एक खस्ताहाल क्षेत्र है। 

इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने शुक्रवार को तल्ख शब्दों में चेतावनी दी कि यदि आगे कोई और हमला किया गया तो उसका नए सिरे से पूरी ताकत से जवाब दिया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘‘यदि हमास यह सोचता है कि हम रॉकेट हमलों को बर्दाश्त कर लेंगे तो वह गलत है। यदि आगे कोई और हमला किया गया तो उसका नए सिरे से पूरी ताकत से जवाब दिया जाएगा।’’ नेतन्याहू को अपने देश के लोगों से आलोचना का सामना करना पड़ रहा है जो यह कह रहे हैं कि उन्होंने जल्दबाजी में युद्धविराम की घोषणा कर दी।

इजराइली प्रधानमंत्री ने कहा कि उनके बलों ने हमास को अधिकतम नुकसान पहुंचाया है और इजराइल में बहुत कम जनहानि हुई है। नेतन्याहू ने कहा कि इजराइल के हमलों में 200 से अधिक उग्रवादी मारे गए हैं जिनमें हमास के 25 वरिष्ठ कमांडर भी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि उग्रवादियों की 100 किलोमीटर से अधिक सुरंगों को निशाना बनाया गया। युद्धविराम होने के बाद अल अक्सा मस्जिद परिसर में जुमे की नमाज के बाद फलस्तीनी प्रदर्शनकारियों और इजराइली पुलिस के बीच झड़प हो गई। यह स्पष्ट नहीं है कि झड़प किस वजह से हुई। 

इसी जगह पर इस महीने के शुरू में हुई झड़पें 11 दिन तक चली लड़ाई की मुख्य वजह थीं। स्थानीय समयानुसार बीती रात तड़के दो बजे युद्धविराम के प्रभाव में आने के साथ ही हजारों फलस्तीनी सड़कों पर जश्न मनाने के लिए निकल पड़े। उन्होंने मिठाई बांटी। कुछ लोग जोर-जोर से ‘अल्ला हू अकबर’ बोलने लगे और अपनी बालकनी से सीटी बजाने लगे। 

कई लोगों ने हवा में गोलियां चलाईं। अनेक लोगों ने इस दौरान अपने हाथों में फलस्तीन और हमास के झंडे ले रखे थे। गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, लड़ाई में 66 बच्चों और 39 महिलाओं सहित कम से कम 243 फलस्तीनी मारे गए हैं और 1,910 लोग घायल हुए हैं। वहीं, इजराइल में पांच साल के एक बच्चे और 16 साल की एक लड़की सहित 12 लोग मारे गए हैं।

ये भी पढ़ें

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020 कवरेज
X