China Coronavirus lockdown: चीन में गुस्स्साए लोगों ने फूड बॉक्स लूटे, सख्त लॉकडाउन को लेकर फूटा गुस्सा

चीन के शंघाई में खाने और दवाओं की कमी होने से बड़ी संख्या में लोग लॉकडाउन के आदेशों को तोड़कर सड़कों पर उतर गए। लोगों ने सप्लाई प्वाइंट पर डिस्ट्रीब्यूशन के लिए रखे गए फूड बॉक्स लूट लिए।

IndiaTV Hindi Desk Written by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: April 11, 2022 8:58 IST
China Shanghai Coronavirus Covid 19 lockdown News- India TV Hindi
Image Source : AP FILE PHOTO China Shanghai Coronavirus Covid 19 lockdown News

Highlights

  • चीन के शंघाई में करोड़ों लोग लॉकडाउन के चलते घरों में हैं कैद
  • शंघाई में लॉकडाउन के बावजूद नहीं थम रहे कोरोना के मामले
  • चीन में जीरो कोविड पॉलिसी हुई फेल?

China Coronavirus: कोविड-19 महामारी के सबसे बुरे दौर से गुजर रहे चीन के सबसे बड़े शहर शंघाई में हालात दिन पर दिन बुरे होते जा रहे हैं। 2.60 करोड़ की आबादी वाले चीन की आर्थिक राजधानी शंघाई में अब तक के सबसे बड़े कोरोना विस्फोट के चलते पिछले लगभग 22 दिनों से लॉकडाउन लगा हुआ है। जीरो कोविड पॉलिसी को लेकर यहां कड़े प्रतिबंध लागू किए गए हैं। 

चीन के शंघाई में खाने और दवाओं की कमी होने से बड़ी संख्या में लोग लॉकडाउन के आदेशों को तोड़कर सड़कों पर उतर गए। लोगों ने सप्लाई प्वाइंट पर डिस्ट्रीब्यूशन के लिए रखे गए फूड बॉक्स लूट लिए। शंघाई में लागू सख्त लॉकडाउन की वजह से लोगों को जरूरत के मुताबिक खाने-पीने की चीजें नहीं मिल पा रही हैं। सख्ती की वजह से लोग अपने घरों से बाहर कदम भी नहीं रख सकते।

चीन की जीरो कोविड पॉलिसी सवालों के घेरे में

शंघाई में संक्रमण के नए मामलों की संख्या लगातार बढ़ रही है जिससे चीन की ‘जीरो कोविड’ मामलों की चर्चित नीति सवालों के घेरे में आ गई है। शी चिनफिंग के नेतृत्व वाली सत्तारूढ़ चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के लिए रविवार को बेचैनी की स्थिति रही क्योंकि शंघाई में एक दिन में संक्रमण के 24,944 नए मामले सामने आए जो लगातार 9वें दिन महामारी के मामलों का एक नया रिकॉर्ड है। 

चीन में होम आइसोलेशन या क्वारैंटाइन की मनाही है

चीन में होम आइसोलेशन या क्वारैंटाइन की मनाही है। छोटे बच्चों को भी कोरोना होने पर उनके पेरेंट्स से अलग कर अस्पतालों में भर्ती करा दिया जाता है। इसे लेकर पेरेंट्स में गुस्सा है। चीन की आर्थिक राजधानी शंघाई में कर्मचारियों को उनके दफ्तरों में रखा जा रहा है। उन्हें घर जाने की भी इजाजत नहीं है। शंघाई में एक अपार्टमेंट से 2 लोगों को ही खाना लेने के लिए जाने की अनुमति है। वे ही अपार्टमेंट के सभी लोगों के लिए फूड सप्लाई लाते हैं। शंघाई में लॉकडाउन के 3 हफ्ते से ज्यादा का समय बीत जाने के बाद भी नए मामलों में कमी नहीं आई है।

अपार्टमेंट में बंद लोगों को भोजन वितरण को लेकर चीन सरकार की हो रही निंदा 

कोविड-19 के मामलों में अचानक हुई वृद्धि की वजह से 2.6 करोड़ की आबादी वाले शंघाई शहर में लॉकडाउन लगा दिया गया जिसकी आलोचना हो रही है। अस्पतालों में बच्चों को उनके अभिभावकों से अलग करने और कई दिनों से अपार्टमेंट में बंद लोगों को भोजन वितरण को लेकर चीन सरकार निंदा का सामना कर रही है। शंघाई से कार्य करने वाले वित्तीय सेवा समूह यी लांग कैपिटल के अध्यक्ष वांग फेंग ने कहा, ‘‘महामारी अब तक चरम पर नहीं पहुंची है तथा इस बात की चिंता है कि लॉकडाउन कुछ और हफ्ते रह सकता है जिससे स्थानीय अर्थव्यवस्था को क्षति हो सकती है।’’ 

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन