Tuesday, June 25, 2024
Advertisement

Israel Hamas War: पहली बार गाजा के रफह शहर पहुंचे इजराइली टैंक, हमास ने बातचीत से किया इनकार

हमास के आतंकियों के खिलाफ इजराइल का पलटवार जारी है। इस बीच पहली बार इजराइली टैंक रफह पहुंचे हैं। इजराइली सैनिकों और हमास के लड़ाकों के बीच जंग जारी है।

Edited By: Amit Mishra @AmitMishra64927
Updated on: May 28, 2024 19:04 IST
इजराइल की सेना के टैंक - India TV Hindi
Image Source : AP इजराइल की सेना के टैंक

Israel Hamas War: इजराइल और हमास के बीच जंग जारी है। इस बीच ऐसा पहली बार हुआ है जब इजराइल के टैंक ग्राउंड ऑपरेशन के बाद रफह सेंटर पहुंचे हैं। इस बीच दुनियाभर के देशों ने रफह में इजराइल की तरफ से की गई सैन्य कार्रवाई का विरोध किया है। रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक रफह शहर में रहने वाले लोगों ने बताया कि इजराइली टैंकों को अल-अवदा मस्जिद के पास देखा गया, जो सेंट्रल रफा का एक ऐतिहासिक स्थल है। हालांकि, इजराइली सेना की ओर से इस बारे में कोई बयान जारी नहीं किया गया है, लेकिन उन्होंने कहा कि उनका ऑपरेशन जारी है। 

जारी है गोलीबारी 

स्थानीय निवासियों का कहना है कि इजराइल की तरफ से की गई सैन्य कार्रवाई में शहर के बड़े हिस्से को नुकसान पहुंचा है। रविवार को हुए हमले में कम से कम 45 फिलिस्तीनियों की मौत हुई है जिनमें बच्चे, महिलाएं और बुजुर्ग शामिल थे। हमास की तरफ से कहा गया है कि इसके अलावा इजराइली गोलीबारी में कम से कम 26 और लोग मारे गए हैं। इजराइली टैंकों ने पश्चिमी इलाकों की ओर बढ़ते हुए लगातार बमबारी की है। स्थानीय लोगों का कहना हा कि मंगलवार को  ज़ुरूब क्षेत्र में इजराइली सैनिकों और हमास के लड़ाकों के बीच गोलीबारी हुई है। 

नेतन्याहू ने बताया 'भयानक गलती' 

गौरतलब है कि, इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने रफह शहर में 45 फिलिस्तीनियों की मौत पर प्रतिक्रिया दी है। नेतन्याहू ने कहा है कि रविवार को गाजा के दक्षिणी शहर पर हुए हमलों में विस्थापित फिलिस्तीनियों का मारा जाना ‘भयानक गलती’ थी। इस घटना के लिए अंतरराष्ट्रीय जगत में इजराइल की खूब निंदा हो रही है। हमास की ओर से संचालित स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, इजराइली हमले में कम से कम 45 लोग मारे गए थे और सैकड़ों अन्य घायल हो गए थे।

हमास ने दी प्रतिक्रिया 

इस बीच रफह पर इजराइली सैन्य कार्रवाई के बाद हमास ने कथित तौर पर मध्यस्थों को बता दिया है कि वह युद्धविराम या कैदियों की अदला-बदली के समझौते पर कोई बातचीत नहीं करेगा। हमास के एक वरिष्ठ अधिकारी ओसामा हमदान ने बेरूत में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि हम इजराइली बंधकों को नहीं छोड़ेंगे और अगर छोड़ेंगे तो अपनी शर्त पर। इजराइल को हमास के खिलाफ जंग के चलते अंतरराष्ट्रीय आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। इजराइल के करीबी सहयोगियों खासकर अमेरिका ने नागरिकों की मौत पर भारी नाराजगी जताई है।

यह भी पढ़ें: 

श्रीलंका ने की ISIS आतंकियों के संदिग्ध हैंडलर की पहचान, पुलिस बोली 'अक्सर हुलिया बदलता रहता है शातिर'

पापुआ न्यू गिनी में भूस्खलन के बाद भयावह हैं हालात, भारत ने बढ़ाया मदद का हाथ; किया बड़ा एलान

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement