रूस के फाइनल हमले का प्लान लीक होने से यूक्रेन में खलबली, जेलेंस्की ने अपने नागरिकों को दी तत्काल कीव छोड़ने की सलाह

Russia-Ukraine War Update:रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे भीषण युद्ध को आठ महीने से अधिक वक्त बीत गया है, लेकिन अभी तक कोई ठोस नतीजा नहीं निकल सका है। इसलिए रूस अब इसे और अधिक लंबा खींचने के मूड में नहीं है। रूस अब यूक्रेन पर फाइनल जंग की तैयारी कर चुका है। इस प्लान के तहत यूक्रेन पर बड़ा और घातक हमला कर सकता है।

Dharmendra Kumar Mishra Written By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Published on: November 07, 2022 9:01 IST
रूस के हमले में तबाह यूक्रेन (फाइल फोटो)- India TV Hindi
Image Source : AP रूस के हमले में तबाह यूक्रेन (फाइल फोटो)

Russia-Ukraine War Update:रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे भीषण युद्ध को आठ महीने से अधिक वक्त बीत गया है, लेकिन अभी तक कोई ठोस नतीजा नहीं निकल सका है। इसलिए रूस अब इसे और अधिक लंबा खींचने के मूड में नहीं है। रूस अब यूक्रेन पर फाइनल जंग की तैयारी कर चुका है। इस प्लान के तहत यूक्रेन पर बड़ा और घातक हमला कर सकता है। मगर हमले से पहले ही रूस का यह सीक्रेट प्लान लीक हो गया है। इससे यूक्रेन में खलबली मच गई है। पुतिन के सीक्रेट और बड़े हमले के प्लान की जानकारी मिलते ही कीव में सायरन बजने लगा है। इस बीच जेलेंस्की ने तत्काल अपने नागरिकों को यूक्रेन की राजधानी कीव छोड़ देने की सलाह दी है।

यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने अपने नागरिकों को चेतावनी देते हुए कहा है कि रूस हमारे आधार ऊर्जा संयंत्रों पर बड़ा और घातक हमला करने वाला है। वह यूक्रेन के ऊर्जा इंफ्रास्ट्रक्चर को तहस-नहस कर देना चाहता है। जेलेंस्की के इस ऐलान के बाद रूस के संभावित घातक हमले के मद्देनजर यूक्रेनी अधिकारियों ने स्थानीय निवासियों को कीव छोड़कर चले जाने की अपील की है। ताकि आम नागरिकों को बचाया जा सके। ज़ेलेंस्की ने रविवार को अपने देश के ऊर्जा बुनियादी ढांचे पर रूस के और अधिक घातक संभावित हमलों की चेतावनी दी है।

रात में जेलेंस्की ने यूक्रेन के लोगों के लिए जारी किया संदेश

ज़ेलेंस्की ने अपने नियमित रात्रिकालीन संबोधन में कहा कि रूस "हमारे बुनियादी ढांचे पर ताबड़तोड़ हमलों को दोहराना चाहता है। वह इस तरह के सामूहिक हमलों की संभावित पुनरावृत्ति के लिए बलों और साधनों को केंद्रित कर रहा है। जेलेंस्की ने कहा कि पहले से ही 4.5 मिलियन से अधिक उपभोक्ता बिजली के बिना हैं। ज़ेलेंस्की ने कहा कि ऊर्जा के आधार संयंत्रों पर रूस के इस हमले से युद्ध के प्रभाव के चलते यूक्रेन में ऊर्जा और खाद्य कीमतों में बढ़ोत्तरी सर्दियों में बनी रह सकती है। इससे यूक्रेन के लोगों का देश के प्रति समर्थन डगमगा सकता है। यह यूक्रेन के लिए चिंता का बड़ा कारण है।

अमेरिका ने की रूस से बात
वॉल स्ट्रीट जर्नल की रिपोर्ट के अनुसार अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने शुक्रवार को कीव की यात्रा की और यूक्रेन के लिए वाशिंगटन के "अटूट और अडिग" समर्थन का वादा किया। सुलिवन ने रूसी अधिकारियों के साथ अघोषित बातचीत भी की, जिसका मकसद रूस के इस संभावित पुनरावृत्ति को रोकना था। ताकि यूक्रेन के लोगों को ऊर्जा और खाद्य संकट से बचाया जा सके। रूस और अमेरिका के बीत इस गुप्त  संपर्कों की खबरें तब सामने आईं, जब एक रिपोर्ट में कहा गया कि वाशिंगटन कीव से रूस के साथ बातचीत के लिए खुलेपन का संकेत देने का आग्रह कर रहा था। राष्ट्रपति के सलाहकार मायखाइलो पोडोलीक ने इससे पहले ट्विटर पर कहा कि यूक्रेन अपने ऊर्जा बुनियादी ढांचे पर रूसी हमलों के बावजूद "खड़ा" रहेगा। वह अपने बुनियादी ढांचे की रक्षा और खपत को अनुकूल बनाए रखने के लिए एयर डिफेंस सिस्टम का भी इस्तेमाल करेगा।

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Europe News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन