Russia Ukraine War: रूसी आक्रमण के बाद पहली बार अनाज का एक्सपोर्ट शुरू, जेलेंस्की ने खुद किया इंस्पेक्शन

Russia Ukraine War: राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने कहा, “युद्ध की शुरुआत के बाद से पहली बार जहाज के जरिए अनाज का एक्सपोर्ट फिर से शुरू हो गया।” उन्होंने कहा कि अनाज का एक्सपोर्ट कई जहाजों के डिपार्चर के साथ शुरू होगा।

Akash Mishra Edited By: Akash Mishra
Updated on: July 29, 2022 20:45 IST
Russian President Vladimir Putin and Ukrainian President Volodymyr Zelenskyy(File Photo)- India TV Hindi News
Image Source : AP Russian President Vladimir Putin and Ukrainian President Volodymyr Zelenskyy(File Photo)

Highlights

  • यूक्रेन के ओडेसा क्षेत्र से अनाज के एक्सपोर्ट की शुरुआत हो गई है
  • जेलेंस्की ने ओडेसा क्षेत्र का दौरा कर अनाज के एक्सपोर्ट की व्यवस्था का निरीक्षण किया
  • दोनों देशों के बीच बीच ग्रेन डील होने के बाद शुरू हुआ एक्सपोर्ट

Russia Ukraine War: रूस और यूक्रेन के युद्ध की शुरुआत के बाद यूक्रेन से अनाज और तेल बीजों का एक्सपोर्ट लगभग बंद हो गया था। युद्ध के चलते इतने दिनों बाद पहली बार यूक्रेन के ओडेसा क्षेत्र से अनाज के एक्सपोर्ट की शुरुआत हो गई है। यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने शुक्रवार को ओडेसा क्षेत्र का दौरा कर अनाज के एक्सपोर्ट व्यवस्था का निरीक्षण किया।  जेलेंस्की ने इस दौरान तुर्की के जहाज में अनाज के लदान को देखा। जेलेंस्की ने कहा, “युद्ध की शुरुआत के बाद से पहली बार जहाज के जरिए अनाज का निर्यात फिर से शुरू हो गया।” उन्होंने कहा कि अनाज का एक्सपोर्ट कई जहाजों के डिपार्चर के साथ शुरू होगा। 

"जहाजों पर पहले ही अनाज का लदान किया जा चुका है"

जेलेंस्की ने कहा कि जहाजों पर पहले ही अनाज का लदान किया जा चुका है। लेकिन युद्ध के कारण ये यूक्रेन के बंदरगाहों से रवाना नहीं हो सके थे। अब इन कई जहाजों के डिपार्चर के साथ अनाज का एक्सपोर्ट फिर शुरू होगा। बता दें कि दोनों देशों के बीच बीच ग्रेन डील हुई है। इस समझौते में तुर्की और संयक्त राष्ट्र ने अहम भूमिका निभाई है। दरअसल, रूस-यूक्रेन जंग के बाद यूक्रेन से अनाज और तेल बीजों का निर्यात लगभग बंद हो गया था। 

लगभग पांच महीने से चल रही रूस-यूक्रेन जंग

24 फरवरी को शुरू हुई रूस-यूक्रेन जंग के चलते पूरी दुनिया खाद्य संकट से जूझ रही थी। लगभग पांच महीने से चल रही इस जंग ने रूस-यूक्रेन सप्लाई को तितर-बितर कर दिया ।अब इस संकट पर विराम लग गया है। दोनों देशों ने अनाज के एक्सपोर्ट को लेकर एक डील साइन की है। आपको बता दें कि संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने युद्ध को लेकर चेतावनी दी थी। उन्होंने कहा था कि अगर युद्ध लंबा खिंचा और रूस, यूक्रेन से अनाज की सप्लाई सीमित रही तो करोड़ों लोगों के गरीबी के जाल में फंसने का खतरा है। 

Latest World News

navratri-2022