1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. दिल्ली
  4. Bulldozer In Delhi : दिल्ली में चल रहा बुलडोजर चुनाव की तैयारी तो नहीं? जानिए क्यों हो रहा हंगामा

Bulldozer In Delhi : दिल्ली में चल रहा बुलडोजर चुनाव की तैयारी तो नहीं? जानिए क्यों हो रहा हंगामा

आज अतिक्रमण के खिलाफ राजधानी दिल्ली के न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी और मंगोलपुरी में भी नगर निगम का बुलडोजर चल रहा है। 

Niraj Kumar	Written by: Niraj Kumar @nirajkavikumar1
Published on: May 10, 2022 15:11 IST
Bulldozer In Delhi- India TV Hindi
Image Source : PTI Bulldozer In Delhi

Bulldozer In Delhi : यूपी, एमपी और गुजरात के बाद अब राजधानी दिल्ली में इन दिनों बुलडोजर (Bulldozer) की गड़गड़ाहट है। यूपी और एमपी में तो अपराधियों और माफियाओं के खिलाफ बाबा (सीएम योगी आदित्यनाथ) और मामा (शिवराज सिंह चौहान) का बुलडोजर गरज रहा था लेकिन दिल्ली में तस्वीर थोड़ी सी अलग है। यहां अतिक्रमण के खिलाफ दिल्ली की सड़कों पर बुलडोजर निकल रहा है। लेकिन दिल्ली नगर निगम की इस मुहिम का विरोध भी हो रहा है। ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यही उठता है कि दिल्ली में चल रहा बुलडोजर कहीं चुनाव की तैयारी तो नहीं ?

दिल्ली नगर निगम चुनाव में देरी

दरअसल, दिल्ली नगर निगम का चुनाव लंबित है। तीनों नगर निगम को मिलाकर एक करने के केंद्र सरकार के प्रस्ताव को संसद से मुहर लग गई है। इसी वजह से दिल्ली नगर निगम का चुनाव समय पर नहीं हो सका। दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी लगातार इस बात के लिए आवाज बुलंद कर रही है कि दिल्ली नगर निगम के चुनाव जल्द से जल्द कराए जाएं। मुख्यमंत्री केजरीवाल भी मीडिया के सामने कह चुके हैं कि बीजेपी हार के डर से नगर निगम का चुनाव समय पर नहीं करा रही है। इतना ही नहीं उन्होंने यह चुनौती भी दी कि अगर हिम्मत है तो बीजेपी समय पर नगर निगम का चुनाव कराके दिखाए। 

पहले जहांगीरपुरी फिर शाहीन बाग पहुंचा बुलडोजर

इस बीच हनुमान जयंती को जहांगीरपुरी में हिंसा की घटना हो गई और इसके एक-दो दिनों के बाद ही एमसीडी की दस्ता जहांगीरपुरी पहुंच गया। अतिक्रमण हटाने के इस अभियान को लेकर खूब हंगामा मचा। अदालत के दरवाजे खटखटाए गए और कोर्ट ने जहांगीरपुरी में अतिक्रमण हटाने के अभियान पर अगले आदेश तक रोक लगा दी। इसके बाद कल शाहीन बाग में नगर निगम का बुलडोजर निकला जिसका स्थानीय लोगों ने जमकर विरोध किया। शाहीन बाग के विधायक और आम आदमी पार्टी के नेता अमानतुल्लाह खान भी मैदान में उतर पड़े। इस स्थानीय लोगों ने सड़क से अतिक्रमण को हटा लिया और एमसीडी का दस्ता वापस लौट गया। इस बीच आज अतिक्रमण के खिलाफ दिल्ली के न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी और मंगोलपुरी में भी नगर निगम का बुलडोजर चल रहा है। 

बुलडोजर अभियान कहीं चुनाव से पहले की तैयारी तो नहीं ?

राजधानी के इलाकों में अचानक अतिक्रमण के खिलाफ अभियान से इस बात के कयास लगाए जा रहे हैं कि यह दिल्ली नगर निगम चुनाव की आहट तो नहीं है। दिल्ली के तीनों नगर निगमों पर बीजेपी का कब्जा है। अब तीनों नगर निगम को एक कर दिया गया है। हालांकि इस एकीकरण का आम आदमी पार्टी विरोध कर रही थी। उसका कहना था कि बीजेपी जान-बूझकर ऐसा कर रही है ताकि चुनाव में देरी हो। वहीं अब बुलडोजर अभियान को एक संकेत के तौर पर देखा जा रहा है कि यह चुनाव से पहले की कवायद है। राजनीतिक जानकारों का मानना है कि इस अभियान से एक वर्ग विशेष में आक्रोश पैदा होगा और वोटों के ध्रुवीकरण का फायदा एक दल विशेष को हो सकता है। इसलिए कुछ लोगों का मानना है कि बुलडोजर का यह अभियान चुनाव से पहले की तैयारी है।

erussia-ukraine-news