1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. हेल्थ
  4. प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाली बीमारियों में कारगर होगी ये औषधियां, स्वामी रामदेव जानिए खाने का तरीका

प्रेग्नेंसी में परेशान करती हैं कब्ज सहित ये बीमारियां, स्वामी रामदेव से जानें इन समस्याओं के लिए आयुर्वेदिक औषधियां

स्वामी रामदेव के अनुसार प्रेग्नेंसी के समय महिलाओं को दवाओं का सेवन कम से कम करना चाहिए। इससे होने वाले बच्चे के शारीरिक रूप से बुरा असर पड़ सकता है। ऐसे में आप चाहे तो प्रेग्नेंसी के समय होने वाली समस्याओं के लिए घरेलू नुस्खे या आयुर्वेदिक उपाय अपना सकते हैं। इससे मां-बेटा दोनों हेल्दी रहेंगे।

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Updated on: February 08, 2021 11:16 IST

प्रेग्नेंसी के समय एक महिला के शरीर में काफी बदलाव होते हैं। जो काफी तकलीफदेय होती हैं। हार्मोंस में आए उतार-चढ़ाव  के दौरान संतुलन बिगड़ने और शारीरिक बदलाव होने के कारण ब्लड शुगर बढ़ना, हाई बीपी, सांस लेने में समस्या, बुखा, सर्दी-जुकाम जैसी कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। ऐसे में महिलाएं कई तरह की दवाओं का सेवन करती हैं। जिनसे लाभ तो मिल जाता है लेकिन इसका होने वाले बच्चे पर बुरा असर पड़ सकता है। 

स्वामी रामदेव के अनुसार प्रेग्नेंसी के समय महिलाओं को दवाओं का सेवन कम से कम करना चाहिए। इससे होने वाले बच्चे के शारीरिक रूप से बुरा असर पड़ सकता है। ऐसे में आप चाहे तो प्रेग्नेंसी के समय होने वाली समस्याओं के लिए घरेलू नुस्खे या आयुर्वेदिक उपाय अपना सकते हैं। इससे मां-बेटा दोनों हेल्दी रहेंगे। 

नॉर्मल डिलीवरी के लिए स्वामी रामदेव से जानिए बेस्ट फॉर्मूला, बच्चा भी होगा तंदुरुस्त

प्रेग्नेंसी के समय होने वाली समस्या

  • बीपी में उतार-चढ़ाव
  • नजुला
  • बुखार
  • नींद न आना
  • टायफाइड
  • सांस लेने में दिक्कत
  • थाइराइड
  • डायबिटीज़
  • पैरों में सूजन
  • एसिटिडी
  • लिवर की बीमारियां

 

प्रेग्नेंसी के समय होने वाली समस्याओं के लिए औषधियां

  • वोमिटिंग, कब्ज, डायजेशन के लिए मोती पिष्टी को एक चौथाई से आधा ग्राम लेकर शहद या पानी के साथ खा लें। इसके अलावा ताजा व्हीट ग्रास, एलोवेरा और लौकी का जूस पीने से तुरंत उल्टी से लाभ मिलेगा। वहीं कब्ज के लिए सौंफ, धनिया और मेथी का पानी पिएं।
  • लो बीपी के लिए  अश्वगंधारिष्ट या फिर अश्वगंधा और शतावर एक-एक ग्राम लें। 
  • हाई बीपी के लिए लौकी जूस, ब्राह्म, शंखपुष्पी, जटामासी को 2-2 ग्राम पानी  के साथ ले लें। 
  • यूरिन इंफेक्शन,जलन,ब्लीडिंग के लिए गोखरु का पानी या फिर शीशम और पीपल के पत्तों का रस लें।
  • पुनर्नवा, गोखरु का क्वाथ ठंडा पीने से हाथ-पैर में सूजन से निजात मिलेगा। 
  • गिलोय, चिरायता और तुलसी का काढ़ा का सेवन करने से सर्दी-जुकाम और बुखार में लाभ मिलेगा।
  • टाइफाइड के लिए  खूबकला, मुनक्का, अंजीर, शुगर, खीरा, करेला, टमाटर जूस और गिलोय, चिरैयता काढ़ा मिलाकर सेवन करे। 
  • थायराइड  के लिए त्रिफला और धनिया का पानी का सेवन करे। इसके अलावा हरा सिंघाड़ा भी फायदेमंद है। 
  • बुखार के लिए गिलोय को रात को भिगोकर सुबह  बिना उबाले छानकर पानी पी लें। 

होने वाले बच्चे को हेल्दी रखने के लिए औषधियां

  • किडनी के लिए गोखरु का पानी पीएं। 
  • हार्ट के लिए अर्जुन छाल और दालचीनी का पानी पिएं।
  • एनीमिया के लिए अनार, गाजर, चुकंदर स्टीम करके खाएं। इसके अलावा अंजीर को भिगोकर खाएं।
  • कफ की समस्या के लिए  मुलैठी, तुलसी, गिलोय का पानी लें। 
  • महिला को कैंसर की हिस्ट्री हो तो व्हीट ग्रास, एलोवेरा, गिलोय, नीम, तुलसी का पानी पीएं।
  • अच्छी नींद के लिए शीतली, शीतकारी, योग निद्रा, अनुलोम विलोम
  • पाइल्स के लिए नागद्रोण के पत्ते और दूध में नींबू रस डालकर।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाली बीमारियों में कारगर होगी ये औषधियां, स्वामी रामदेव जानिए खाने का तरीका News in Hindi के लिए क्लिक करें हेल्थ सेक्‍शन
Write a comment