1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. सिंघु और टिकरी बॉर्डर के बाद किसानों ने गाजीपुर बॉर्डर पर डाला डेरा, पुलिस ने ट्रैफिक किया डायवर्ट

सिंघु और टिकरी बॉर्डर के बाद किसानों ने गाजीपुर बॉर्डर पर डाला डेरा, पुलिस ने ट्रैफिक किया डायवर्ट

कल किसानों को प्रस्ताव देते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि अगर किसान चाहते हैं कि भारत सरकार उनसे जल्दी बात करे तो उन्हें आंदोलन के लिए निर्धारित जगह पर जाना होगा।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: November 29, 2020 12:34 IST
Farmer Protest- India TV Hindi
Image Source : PTI Farmer Protest

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसान अभी भी हरियाणा दिल्ली सीमा पर डटे हुए हैं। हरियाणा के सिंघु और टिकरी बॉर्डर के बाद किसानों ने गाजियाबाद से जुड़े गाजीपुर बॉर्डर पर डेरा डाल लिया है। यूपी से आने वाले ट्रैफिक को पुलिस डायवर्ट कर रही है। भारतीय किसान यूनियन के नेता पहले ही कह चुके हैं कि अमित शाह की शर्तें उन्हें मंजूर नहीं है। वे बुराड़ी नहीं जाएंगे। 

इस बीच कल गृह मंत्र अमित शाह ने किसानों को बातचीत का प्रस्ताव भेजा है। गृह मंत्री के इस प्रस्ताव पर आज किसान संगठनों की बैठक होने जा रही है। इस बैठक के बाद ही तय होगा कि किसान सिंघु एवं टिकरी बॉर्डर पर डटे रहेंगे या फिर बुराड़ी में धरना प्रदर्शन ​स्थल की ओर आगे बढ़ेंगे। वहीं गाजियाबाद बॉर्डर पर डटे भारतीय किसान यूनियन के नेताओं ने बुराड़ी जाने से साफ इंकार कर दिया है। 

Farmer Protest

Image Source : PTI
Farmer Protest

बता दें कि कल किसानों को प्रस्ताव देते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि अगर किसान चाहते हैं कि भारत सरकार उनसे जल्दी बात करे तो उन्हें आंदोलन के लिए निर्धारित जगह पर जाना होगा। जैसे ही किसान सिंधु और टिकरी बॉर्डर से हटेंगे, उसके दूसरे ही दिन भारत सरकार उनसे बातचीत के लिए तैयार रहेगी। 

गृह मंत्री के जवाब में किसान नेता जगजीत सिंह और शिवकुमार कक्का ने कहा है कि हम सरकार के साथ बातचीत करने को तैयार हैं, लेकिन शर्त नहीं होनी चाहिए। किसान नेताओं का कहना है कि हमें इस बात का दुख है कि अमित शाह ने कंडीशन लगाई है कि पहले आपको एक जो जगह दी गई है वहां जाना चाहिए। उसके बाद बातचीत होगी। यह ठीक नहीं है। किसान नेताओं ने कहा कि बातचीत से ही समस्या का समाधान निकलता है। यह हम मानते हैं, लेकिन अमित शाह ने जो भी कहा है उस पर कल बैठक होगी। हम विचार करेंगे कि हमें आगे क्या करना है। 

संसद की ओर कूच करेंगे गाजियाबाद बॉर्डर पर जुटे किसान

हरियाणा दिल्ली बॉर्डर पर जमे किसान अब यूपी बॉर्डर पर नया मोर्चा खोलने के लिए तैयार दिख रहे हैं। गाजियाबाद दिल्ली बॉर्डर पर किसान धीरे धीरे जुट रहे हैं। किसानों का कहना है कि वे आज दिल्ली की ओर कूच करेंगे और संसद या फिर जंतरमंतर पर धरना देंगे। किसानों के अनुसार उन्हें सरकार का प्रस्ताव किसी भी कीमत पर मंजूर नहीं है। किसानों ने धरने के लिए सरकार द्वारा निर्देशित बुराड़ी मैदान जाने से भी मना कर दिया है। भारतीय किसान यूनियन ने अमित शाह की अपील पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि गृह मंत्री ने सशर्त जल्दी मिलने की बात कही है जो कि ठीक नहीं है।

अमरिंदर ने भी की थी किसानों से अपील

बता दें कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी प्रदर्शन कर रहे किसानों से शनिवार को अपील की थी कि वे गृह मंत्री अमित शाह की बात मान लें, और बताई गई जगह पर जाकर प्रदर्शन करें। हालांकि दूसरी ओर कुछ किसान संगठन लगातार कह रहे हैं कि वे बुराड़ी मैदान में नहीं जाएंगे और उन्हें जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करने की इजाजत दी जाए। किसानों का कहना है कि वे राष्ट्रीय राजधानी के बाहरी इलाके में तब तक बैठेंगे जब तक जंतर मंतर पर विरोध प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं दी जाती। बता दें कि किसान पूरी तैयारी के साथ आए हैं और अपने साथ ट्रॉलियों में लकड़ियां, दूध,सब्जियां, सिलिंडर व अन्य सामान लेकर चल रहे हैं।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment