Sars-Cov-2: चमगादड़ में मिला फिर एक वायरस, वैज्ञानिकों ने कहा ये इंसानों को कर सकता है संक्रमित

Sars-Cov-2: कोरोना नाम सुनते ही एक समय इंसान एक दुसरे से दुरी बना लेता था। इस महामारी ने ऐसा आंतक मचाया कि पूरी दुनिया को एक सबक सिखा गया।

Ravi Prashant Edited By: Ravi Prashant @iamraviprashant
Published on: September 23, 2022 22:53 IST
Sars-Cov-2 - India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV Sars-Cov-2

Highlights

  • सार्स-कोव-2 का ही वेरिएंट बताया जा रहा है
  • नाम खोस्ता-1 और खोस्ता-2 रखा गया है
  • ये वायरस इंसान को संक्रमित कर सकता है

Sars-Cov-2: कोरोना नाम सुनते ही एक समय इंसान एक दुसरे से दुरी बना लेता था। इस महामारी ने ऐसा आंतक मचाया कि पूरी दुनिया को एक सबक सिखा गया। चीन से निकला कोरोना आज भी रहस्मई है कि आखिर क्या सच में चीन ही इसका पहला ठिकाना था या कहीं और, इस बात की जानकारी अभी तक किसी वैज्ञानिक स्पष्ट नहीं दी। अमेरिका लगातार चीन पर आरोप लगाया लेकिन अमेरिका जैसा पावरफुल देश भी अपने आधुनिक तकनीक से पता नहीं लगा पाया कि आखिर कोरोना का घर कहां है। इसी कोरोना को लेकर एक नया शोध प्रकाश में आया है। 

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, शोधकर्ताओं ने रूसी चमगादड़ो में एक वायरस की खोज की है। जो इंसानों के लिए परेशानी पैदा कर सकता है। इस वारयस को सार्स-कोव-2 के तरह ही बताया जा रहा है। इसके भीतर इतना क्षमता है कि मानव शरीर को संक्रमित कर सकता है। और जो अभी वर्तमान समय में टीका लगाया जा रहा है, इस वायरस को रोकने में कारगार साबित भी नहीं होगा।  

खोस्ता-2 है बहुत ही खतरनाक वायरस 
पीएलओएस पैथागंस पत्रिका में गुरुवार को प्रकाशित एक शोध पत्र में बताया कि इस वायरस का नाम खोस्ता-2 है। ये कोरोनावायरस की एक सब-कैटेगरी की श्रेणी में आता है, जिसे सर्बेकोवायरस भी कहा जाता है। इसे सार्स-कोव-2 का ही वेरिएंट बताया जा रहा है। साल 2020 के अंत में अमेरिका के वाशिंगटन स्टेट यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने रूसी चमगादड़ो में वायरस की खोज की थी। टीम ने दो नए वायरस की खोज की है। जिनका नाम खोस्ता-1 और खोस्ता-2 रखा गया है। खोज के दौरान जांच में पाया गया कि खोस्ता-1 इंसानों के लिए अधिक घातक नहीं है जबकि खोस्ता-2 मानव शरीर के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। टीम ने बताया कि शुरुआती दौर में लगा कि ये भी वायरस खतरनाक नहीं है लेकिन जब वायरस को करीब से देखा गया तो ये पता चला कि ये वायरस इंसान को संक्रमित कर सकता है।

शुक्रवार को कोरोना से इतने मरे लोग
आपको बता दें कि कोरोनावायरस अभी दुनिया से खत्म नहीं हुआ है। डब्ल्यूएचओ के कोरोना वायरस आंकड़ों के अनुसार, 22 सितंबर को दुनियाभर में महामारी से 1,395 मरीजों की मौत हुई जो मार्च 2020 से अब तक हुई रोज की मौतों की तुलना में सबसे कम संख्या थी। उसी दिन संक्रमण के 4,28,321 नए मामले सामने आए थे जो अक्टूबर 2020 के बाद सामने आए मामलों में सबसे कम थे। संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले (4,040,309), 26 जनवरी 2022 को सामने आए थे। कोविड से सबसे ज्यादा मौतें (20,005) 21 जुलाई 2021 को हुई थीं। भारत में सर्वाधिक मामले 7 मई 2021 को सामने आए थे जब 4,14,188 संक्रमितों का पता चला था। इसके अलावा 21 जून 2021 को सबसे ज्यादा 6,148 मरीजों की मौत हुई थी। शुक्रवार को देश में संक्रमण के 5,383 मामले सामने आए और कोविड से 20 मरीजों की मौत हुई। 

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन