1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. एमपी: फ्लोर टेस्ट को लेकर हलचल तेज, BJP की मीटिंग, रविवार रात भोपाल पहुंचेंगे सिंधिया

मध्य प्रदेश: फ्लोर टेस्ट को लेकर हलचल तेज, BJP की मीटिंग, रविवार रात भोपाल पहुंचेंगे सिंधिया

मध्य प्रदेश विधानसभा में सोमवार को फ्लोर टेस्ट प्रस्तावित है, जिसमें सूबे की कमलनाथ सरकार को अपना बहुमत साबित करना है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: March 15, 2020 14:40 IST
- India TV Hindi
मध्य प्रदेश विधानसभा में सोमवार को फ्लोर टेस्ट प्रस्तावित है, जिसमें सूबे की कमलनाथ सरकार को अपना बहुमत साबित करना है। Facebook

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश विधानसभा में सोमवार को फ्लोर टेस्ट प्रस्तावित है, जिसमें सूबे की कमलनाथ सरकार को अपना बहुमत साबित करना है। वहीं, पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के रविवार रात को भोपाल आने का कार्यक्रम है। सिंधिया के भोपाल आने के बाद उनके खेमे के बेंगलुरु में ठहरे कांग्रेस के बागी विधायकों के भोपाल आने की संभावना है। मध्य प्रदेश विधानसभा का सत्र सोमवार से शुरु होने वाला है। राज्यपाल लालजी टंडन ने सीएम कमलनाथ को सोमवार को ही राज्यपाल के अभिभाषण के तुरंत बाद सदन में शक्ति परीक्षण पर मतदान कराने के निर्देश दिए हैं।

13 मार्च को ही भोपाल से दिल्ली पहुंचे थे सिंधिया

बीजेपी उम्मीदवार के तौर पर राज्यसभा चुनाव का नामांकन दाखिल करने के बाद सिंधिया 13 मार्च की शाम को ही भोपाल से दिल्ली गए थे। सिंधिया के कट्टर समर्थक पंकज चतुर्वेदी ने रविवार को बताया कि सिंधिया का रविवार रात या सोमवार सुबह भोपाल आने का कार्यक्रम है, लेकिन उनके भोपाल आने के बाद के कार्यक्रम की जानकारी देने से चतुर्वेदी ने इंकार कर दिया। हालांकि सूत्रों ने बताया कि सिंधिया भोपाल आने के बाद अपने समर्थक विधायकों से मुलाकात करेंगे। कांग्रेस के बागी 22 विधायक विधानसभा की सदस्यता से अपना त्यागपत्र भेज चुके हैं।

Madhya Pradesh political crisis, Madhya Pradesh Floor Test, Madhya Pradesh Governor

ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने के बाद कमलनाथ सरकार बुरी तरह संकट में घिर गई है। PTI File

बीजेपी नेता नरेंद्र सिंह तोमर के आवास पर बैठक
मध्य प्रदेश विधानसभा में सोमवार को प्रस्तावित फ्लोर टेस्ट को लेकर बीजेपी में आपाधापी बढ़ गई है। देश की राजधानी में बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के आवास पर रविवार को एक बैठक हुई जिसमें शिवराज सिंह चौहान, ज्योतिरादित्य सिंधिया और धर्मेंद्र प्रधान मौजूद थे। माना जा रहा है कि बैठक में मध्य प्रदेश में कल होने जा रहे फ्लोर टेस्ट की रणनीति को लेकर चर्चा हुई। इसके बाद चौहान, धर्मेंद्र प्रधान, तोमर और सिंधिया ने सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता से उनके आवास पर मुलाकात की।

विधायक ने कहा, अभी तो कोरोना चल रहा है
मध्य प्रदेश में सोमवार को फ्लोर टेस्ट के दौरान पूरा ड्रामा होने की संभावना है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा है कि फ्लोर टेस्ट के लिए जो प्रक्रिया है, विधानसभा अध्यक्ष को उसका पालन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि यही हमारी उम्मीद है कि वे स्थापित परंपरा, प्रक्रिया और कानून के अनुरूप कार्रवाई करेंगे। वहीं, निर्दलीय विधायक और कमलनाथ सरकार में मंत्री प्रदीप जायसवाल ने कहा कि हमारे पास संख्या बल है और हम सरकार बचा लेंगे। उन्होंने कहा, 'कल परीक्षा हो कोई जरूरी नहीं है, अभी तो कोरोना चल रहा है।'

Madhya Pradesh political crisis, Madhya Pradesh Floor Test, Madhya Pradesh Governor

ज्योतिरादित्य सिंधिया, शिवराज सिंह चौहान और कमलनाथ। PTI File

6 मंत्रियों के इस्तीफे स्पीकर ने किए स्वीकार
विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति ने इनमें से 6 विधायकों के त्यागपत्र शनिवार शाम को स्वीकार कर लिए जबकि 16 विधायकों के त्यागपत्र पर फिलहाल कोई निर्णय नहीं लिया है। इन विधायकों के रविवार रात या सोमवार सुबह बेंगलुरु से भोपाल पहुंचने की उम्मीद है। बीजेपी सूत्रों ने बताया कि हरियाणा के गुरुग्राम में ठहरे बीजेपी के विधायकों के रविवार रात या सोमवार सुबह भोपाल लौटने की संभावना है। इस बीच सत्तारुढ़ कांग्रेस के जयपुर गए सभी विधायक रविवार सुबह को विशेष विमान से भोपाल लौट आए हैं। इन्हें विधानसभा से मात्र 2 किलोमीटर की दूरी पर स्थित होटल कोर्टयार्ड मैरियट में कड़ी सुरक्षा में एक साथ रखा गया है।

बेंगलुरु के रिजॉर्ट में 19 विधायक, 3 का पता नहीं
बता दें कि ‘कांग्रेस द्वारा उपेक्षा किये जाने से परेशान होकर’ ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंगलवार को कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था और वह बुधवार को भाजपा में शामिल हो गये। उनके साथ ही मध्य प्रदेश के 6 मंत्रियों सहित 22 कांग्रेस विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था, जिनमें से अधिकांश सिंधिया के कट्टर समर्थक हैं। इन 22 विधायकों में से 19 बेंगलुरु में एक रिजॉर्ट में है, जबकि 3 विधायकों का अब तक कोई पता-ठिकाना नहीं है। इससे प्रदेश में कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार गिरने के कगार पर पहुंच गई है। (भाषा से इनपुट्स के साथ)

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X