Thursday, April 18, 2024
Advertisement

हिमाचल प्रदेश की राजनीति पर दिग्विजय सिंह ने दिया बयान, कहा- सही समय पर बागियों के खिलाफ होगा एक्शन

हिमाचल प्रदेश की राजनीति में घमासान मचा हुआ है। सुक्खू सरकार पर मंडरा रहा खतरे का बादल अबतक टला नहीं है। इस बीच दिग्विजय सिंह ने बयान देते हुए कहा कि सही समय पर बागी विधायकों के खिलाफ एक्शन लिया जाएगा।

Avinash Rai Written By: Avinash Rai @RaisahabUp61
Published on: March 02, 2024 9:04 IST
Himachal Pradesh political crisis digvijay singh says Action will be taken against rebels at right t- India TV Hindi
Image Source : ANI हिमाचल की राजनीति पर दिग्विजय सिंह ने दिया बयान

हिमाचल प्रदेश इन दिनों राजनीतिक संकट के दौर से गुजर रहा है। राज्य की सुखविंदर सिंह सुक्खू की सरकार पर मंडरा रहा खतरा अबतक टला नहीं है। बीते दिनों सीएम सुक्खू ने बागी विधायकों को काला नाग कहा था। इसके बाद प्रदेश सरकार में मंत्री विक्रमादित्य सिंह ने अपने फेसबुक प्रोफाइल से कांग्रेस और मंत्रिपद की जानकारी को हटा दिया। विक्रमादित्य सिंह लगातार उन विधायकों को पार्टी में वापसी कराने में जुटे हुए हैं, जिनकी विधायकी को रद्द कर दिया गया था। इस बीच उन्होंने चंडीगढ़ में विधायकों से मुलाकात भी की, जिसके बाद सीएम सुक्खू भड़क गए थे।

Related Stories

हिमाचल की राजनीति पर दिग्विजय सिंह का बयान

इस बीच हिमाचल प्रदेश की राजनीतिक संकट पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने बयान दिया। उन्होंने कहा कि सही समय पर विद्रोहियों के खिलाफ कार्रवाई का जाएगी। उन्होंने कहा कि यह उन साजिशकर्मताओं का काम है, जिन्होंने सरकारें गिराने की जिम्मेदारी ली है। लेकिन सरकार अभी भी वहीं है। क्रॉस वोटिंग को लेकर उन्होंने कहा कि सही समय पर पार्टी के बागी विधायकों के खिलाफ एक्शन लिया जाएगा। बता दें कि हिमाचल प्रदेश सरकार के 6 विधायकों सुधीर शर्मा, दविंदर के भुट्टो, रवि ठाकुर, चैतन्य शर्मा, इंदर दत्त लखनपाल की विधानसभा सदस्यता को रद्द कर दिया गया है। इनके ही वोटों के कारण भाजपा के राज्यसभा सांसद को राज्य में जीत मिली।

कांग्रेस को लग सकता है झटका

इसपर दिग्विजय सिंह ने कहा कि स्क्रीनिंग कमेटी के साथ बैठक होनी है। केंद्रीय चुनाव समिति इसका फैसला करेगा। बता दें कि हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस के पास 68 विधायक थे। लेकिन राज्यसभा चुनाव में केवल 61 विधायकों ने ही कांग्रेस के पक्ष में वोट दिया। बता दें कि विक्रमादित्य सिंह पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के बेटे हैं और हिमाचल प्रदेश कांग्रेस की अध्यक्ष प्रतिभा सिंह के बेटे हैं। बता दें कि हिमाचल प्रदेश में विक्रमादित्य कांग्रेस के बड़े चेहरों में से एक हैं। ऐसे में लोकसभा चुनाव से पूर्व अगर वो कांग्रेस से दूरी बना लेते हैं तो कांग्रेस के लिए यह बड़ा झटका होगा।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement