1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. उत्तर प्रदेश
  5. कोरोना पूरी तरह गया नहीं, नई घातक बीमारी मचा सकती है 'हाहाकार', वैज्ञानिक ने दी चेतावनी

कोरोना पूरी तरह गया नहीं, नई घातक बीमारी मचा सकती है 'हाहाकार', वैज्ञानिक ने दी चेतावनी

रिपोर्ट के मुताबिक, ये बीमारी यह बीमारी COVID-19 के रूप में तेजी से फैलने वाली है, और इबोला वायरस के बराबर घातक हो सकती है। इसकी पुष्टि साल 1976 में इबोला वायरस का पता लगाने वाले वैज्ञानिक ने की है।  

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: January 04, 2021 14:07 IST
what is disease X scientist warns alert to world कोरोना पूरी तरह गया नहीं, नई घातक बीमारी मचा सकती ह- India TV Hindi
Image Source : AP कोरोना पूरी तरह गया नहीं, नई घातक बीमारी मचा सकती है 'हाहाकार', वैज्ञानिक ने दी चेतावनी

नई दिल्ली. भारत, अमेरिका और रूस सहित दुनिया के कई देशों ने कोरोना वैक्सीन बना ली है, जिसके बाद लोगों ने राहत की सांस ली है। कई देशों में वैक्सीनेशल शुरू हो चुका है और भारत सहित कई अन्य देशों में वैक्सीनेशन शुरू होने वाला है। दुनियाभर में लोगों को उम्मीद है कि आने वाले दिनों में इस बीमारी के मामले बेहद कम हो जाएंगे। हालांकि इस बीच एक अन्य चौंकाने वाली खबर भी सामने आई है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, दुनिया एक और घातक वायरस की चपेट में आ सकती है, जिसे फिलहाल 'Disease X' कहा जा रहा है।

पढ़ें- अनवर धर्म परिवर्तन कर बना देवप्रकाश, नाराज लोगों ने लगाई घर में आग

रिपोर्ट के मुताबिक, ये बीमारी यह बीमारी COVID-19 के रूप में तेजी से फैलने वाली है, और इबोला वायरस के बराबर घातक हो सकती है। इसकी पुष्टि साल 1976 में इबोला वायरस का पता लगाने वाले वैज्ञानिक ने की है।  उनके मुताबिक, दुनियाभर में लोगों को सावधान रहना चाहिए क्योंकि निकट भविष्य में अधिक घातक बीमारियों के सामने आने की संभावना है। उन्होंने कहा कि 'Disease X'  काल्पनिक है, लेकिन घातक हो सकती है और दुनिया भर में कहर बरपाते हुए एक और महामारी की वजह बन सकती है। Yahoo News के अनुसार, Tamfum ने ये भी कहा कि अफ्रीका के  tropical rainforests से नए और संभावित घातक वायरस उभर रहे हैं।

पढ़ें- Coronavirus Vaccine: कोवैक्सिन और कोविशील्ड वैक्सीन में क्या अंतर है?

आने वाले समय में कई ऐसे रोग जानवरों से मनुष्यों में फैल सकता हैं, जो जीवन को खतरे में डालने की क्षमता रखते हों। अतीत में हुई ऐसी घटनाओं के बारे में बात करते हुए, वैज्ञानिक ने कहा कि yellow fever, इन्फ्लूएंजा, रेबीज, और यहां तक कि COVID-19 जैसी बीमारियां जानवरों से मनुष्यों में फैली हैं, और प्रकोप का कारण बनीं - जिससे महामारियां पैदा हुईं। उन्होंने आगे कहा कि भविष्य की महामारी COVID-19 से भी बदतर हो सकती है।

पढ़ें- रोहतांग में अटल टनल के पास मारती है पुलिस? टूरिस्ट का मुर्गा बनाते वीडियो हुआ वायरल

'Disease X' का पहला केस

डेली मेल की एक रिपोर्ट के अनुसार, एक मरीज ने hemorrhagic fever के शुरुआती लक्षण दिखाए थे। रोगी ने Ebola test भी करवाया, लेकिन डॉक्टरों को डर था कि यह 'Disease X' का संकेत हो सकते हैं। 'Disease X' का अभिप्राय उन अप्रत्याशित और अपरिचित बीमारियों से है जो कोरोना बीमारी के बाद आ सकते हैं और दुनिभार में परेशानी बढ़ा सकते हैं। मरीज का Ebola test निगेटिव आया। रिपोर्ट में कहा गया है कि नया pathogen कोरोना की तरफ तेजी से फैल सकता है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Uttar Pradesh News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X