1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. मध्य-प्रदेश
  4. अभद्र टिप्पणी सुन रुआंसी हुईं इमरती देवी, पूछा- क्या मेरा कसूर ये है कि मैं दलित महिला हूं?

अभद्र टिप्पणी सुन रुआंसी हुईं इमरती देवी, पूछा- क्या मेरा कसूर ये है कि मैं दलित महिला हूं?

मीडिया से बातचीत करते हुए इमरती देवी रुआंसी हो गईं। उन्होंने आगे कहा, "अगर गरीब को पैदा होना इतना ही कसूरवार होता है तो शायद मैं सोचती हूं कि कमलनाथ ने जो बात कही है तो हमारी हिंदुस्तान की, मध्य प्रदेश की एक भी महिला एससी दलित की बाहर नहीं निकलेगी।"

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: October 19, 2020 7:48 IST
What is my fault if I belong to Dalits asks Imrati Devi after kamalnath item comment । अभद्र टिप्पणी- India TV Hindi
Image Source : TWITTER/ANI What is my fault if I belong to Dalits asks Imrati Devi after kamalnath item comment । अभद्र टिप्पणी सुन रुआंसी हुईं इमरती देवी, पूछा- क्या मेरे कसूर ये है कि मैं दलित महिला हूं?   

डबरा. मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी और शिवराज सरकार में मंत्री इमरती देवी को लेकर पूर्व सीएम और कांग्रेस नेता कमलनाथ द्वारा की गई अभद्र टिप्पणी पर सियासी घमासान छिड़ गया है। भारतीय जनता पार्टी ने कमलनाथ की शिकायत चुनाव आयोग से की है, वहीं इस बारे में जब इमरती देवी से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, "क्या मेरे कसूर है कि मैं एक गरीब के घर में पैदा हुई हूं? क्या मेरे कसूर है कि मैं गरीब हूं? मैं एक हरिजन हूं? एससी हूं? मैं दलित महिला हूं और मैं महिला हूं?"

मीडिया से बातचीत करते हुए इमरती देवी रुआंसी हो गईं। उन्होंने आगे कहा, "अगर गरीब को पैदा होना इतना ही कसूरवार होता है तो शायद मैं सोचती हूं कि कमलनाथ ने जो बात कही है तो हमारी हिंदुस्तान की, मध्य प्रदेश की एक भी महिला एससी दलित की बाहर नहीं निकलेगी।"

इस दौरान उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से कमलनाथ को पार्टी से बाहर करने का निवेदन किया। इमरती देवी ने कहा, "मैं सोनिया गांधी जी से पूछना चाहती हूं कि वो भी एक मां हैं, वो भी एक महिला हैं, इनके चाहते ऐसे बात कर रहे हैं, ऐसे में मैं सोनिया गांधी जी से निवेदन करना चाहती हूं कि ऐसे लोगों को कांग्रेस पार्टी में, अपनी पार्टी में न रखें। वो राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं, मैं निवेदन करना चाहती हूं कि मेरे ऊपर ऐसे-ऐसे शब्द बोल रहे हैं, चाहे कमलनाथ जी हों, चाहे अजय भैया हों, अगर ऐसे शब्द बोलेंगे तो हमारी महिला कैसे बाहर निकलेंगी, हमारी महिला तो बाहर निकल ही नहीं सकतीं।"

क्या बोले थे कमलनाथ?

कमलनाथ ने कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी के पक्ष में जनसभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने बिना इमरती देवी का नाम लिए कहा, "हमारे उम्मीदवार सीधे सरल स्वभाव के हैं, उसके जैसे नहीं है, उसका क्या नाम है (जनता की आवाज आई इमरती देवी), मैं उसका नाम क्या लूं, मुझ से ज्यादा आप उसे पहचानते हैं। आप तो मुझे उससे पहले ही सावधान कर देते। ये क्या आइटम है।"

टिप्पणी के विरोध में शिवराज रखेंगे मौन उपवास
कमलनाथ की इस टिप्पणी के विरोध में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मौन प्रदर्शन करने का ऐलान किया। उन्होंने कहा, "मैं कल दोपहर 10 बजे से 12 बजे तक कमलनाथ द्वारा इमरती देवी के लिए इस्तेमाल किए गए आपत्तिजनक शब्दों के विरोध में मौन प्रदर्शन करुंगा। उन्हें अपने बयान पर शर्म आनी चाहिए।"

सिंधिया ने भी किया विरोध
कमलनाथ की टिप्पणी के विरोध में भाजपा के राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर कहा, "एक गरीब और मजदूर परिवार से आगे आईं दलित नेता इमरती देवी जी को आज डबरा में आइटम और जलेबी कहना अत्यंत निंदनीय और आपत्तिजनक है - ये कमलनाथ जी की मानसिकता को भी दर्शाता है। महिलाओं के साथ ही समूचे दलित समाज का अपमान करने वाले ऐसे मगरूर नेता को सबक सिखाने का समय आ गया है।"

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। अभद्र टिप्पणी सुन रुआंसी हुईं इमरती देवी, पूछा- क्या मेरा कसूर ये है कि मैं दलित महिला हूं? News in Hindi के लिए क्लिक करें मध्य-प्रदेश सेक्‍शन
Write a comment
X