Andheri East Bypoll: शिंदे सरकार की अग्निपरीक्षा है अंधेरी ईस्ट विधानसभा सीट, जुटेंगे 100 से ज्यादा स्टार प्रचारक 

मुंबई की अंधेरी ईस्ट विधानसभा सीट जिसे मिनी इंडिया भी कहते हैं, पर चुनाव प्रचार शुरू हो गया है। इस सीट पर उद्धव की शिवसेना की उम्मीदवार ऋतुजा लटके ने प्रचार शुरू कर दिया है। तो वहीं बीजेपी के उम्मीदवार मुरजी पटेल भी दंभ भर रहे हैं।

Reported By : Jayprakash Singh, Rajiv Singh, Sachin Chaudhary, Namrata Dubey Published on: October 15, 2022 20:45 IST
Maharashtra CM Eknath Shinde- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO Maharashtra CM Eknath Shinde

Highlights

  • अंधेरी ईस्ट सीट पर 15 अक्टूबर से प्रचार शुरू 
  • विधानसभा सीट पर 3 नवंबर को होगा मतदान 
  • प्रचार में जुटेंगे 100 से ज्यादा स्टार प्रचारक 

Andheri East Bypoll: मुंबई की अंधेरी ईस्ट विधानसभा सीट पर शनिवार से चुनाव प्रचार की रणभेरी बज गई है। शनिवार को उद्धव ठाकरे शिवसेना गुट की उम्मीदवार ऋतुजा लटके ने अपने प्रचार की जोरशोर से शुरुवात कर दी। 1 नवंबर को इस सीट पर प्रचार खत्म होगा और 3 नवंबर को मतदान होगा। बीजेपी ने इस सीट पर व्यवसायी मुरजी पटेल को अपना उम्मीदवार बनाया है और एकनाथ शिंदे के गुट ने भी मुरजी को अपना समर्थन घोषित कर दिया है। इसके साथ ही रामदास आठवले की आरपीआई और टाईगर सेना के साथ कई अन्य सामाजिक संगठन भी मुरजी काका के सपोर्ट में आगए हैं। वहीं शिवसेना उम्मीदवार के समर्थन में कांग्रेस, एनसीपी, समाजवादी पार्टी के साथ भीम सेना जुड़ गई है। ऐसे मैं इस सीट पर सीधी लड़ाई महाविकस आघाड़ी बनाम शिंदे+बीजेपी उम्मीदवार के बीच होगी। 

नॉमिनेशन के दिन मुरजी पटेल का शक्ति प्रदर्शन

माना जा रहा है कि महाराष्ट्र में एकनाथ शिंदे की सरकार बनने के बाद ये देवेन्द्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे का पहला लिटमस टेस्ट होगा। यही वजह है कि इस बार ना सिर्फ शिवसेना बल्कि बीजेपी और एकनाथ शिंदे की पार्टी ने भी इस अंधेरी की सीट को जीतने के लिए जी-जान लगा दी है, जिसका एहसास यहां की जनता को 14 अक्टूबर को नॉमिनेशन दाखिल करने के दिन ही हो गया। 14 अक्टूबर को जहां मुरजी पटेल के नामांकन भरने के लिए बीजेपी के महाराष्ट्र अध्यक्ष चंद्रशेखर बावनकुले और मुंबई अध्यक्ष आशीष शेलार शामिल हुए, वहीं पूर्व गृहराज्य मंत्री कृपाषंकर सिंह, बीजेपी नेता प्रवीण दरेकर, विधायक अमित साटम, राजहंस सिंह सहित 20 हजार से ज्यादा की भीड़ नामांकन केंद्र तक मुरजी के साथ रोड मार्च करते हुए पैदल आई। 

शिवसेना की ऋतुजा लटके के साथ ठाकरे सेना
वहीं ऋतुजा लटके के साथ भी खुद आदित्य ठाकरे, पूर्व मंत्री अनिल परब, कांग्रेस के भाई जगताप, पूर्व मंत्री सुरेश शेट्टी, एनसीपी से पूर्व मंत्री रमेश दुबे सहित शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के सैंकड़ों नेता, कार्यक्रताओं की सेना शामिल हुई। ये चुनाव भले ही 2 साल के लिए हो रहा हो लेकिन दोनों तरफ के नेताओं ने इसे अपनी प्रतिष्ठा का मुद्दा बना लिया है। यही कारण है कि दोनों पक्ष इस चुनाव प्रचार में वोटों और मतदाताओं को लुभाने के लिए कई स्टार प्रचारकों को मैदान में उतारने जा रहे हैं। इनमें जहां शिवसेना से खुद उद्धव ठाकरे प्रचार करेंगे, वहीं आदित्य ठाकरे, तेजस ठाकरे, रश्मि ठाकरे, रोड शो करेंगे। इसके साथ ही शिवसेना के 20 से ज्यादा नेता, उपनेता इस सीट पर प्रचार करेंगे। साथ ही कांग्रेस से नाना पटोले, भाई जगताप, अशोक चव्हाण, अमित देशमुख, एनसीपी से छगन भुजबल, जयंत पाटील, अजित पवार भी ऋतुजा के समर्थन में प्रचार करते नजर आएंगे।

इस बार मुकाबला क्यों होगा उल्टा
ये पहला मौका होगा जब अंधेरी की अपनी इस परंपरागत सीट पर कांग्रेस पार्टी चुनाव नहीं लड़ेगी बल्कि इस सीट पर शिवसेना के उम्मीदवार को अपना समर्थन देगी। हर बार अंधेरी की इस विधानसभा सीट पर कांग्रेस का मुकाबला शिवसेना और बीजेपी के उम्मीदवार से होता रहा है, लेकिन इस बार मुकाबला उल्टा  होगा। इस बार मुकाबला कांग्रेस+उद्धव गुट+एनसीपी बनाम बीजेपी+एकनाथ शिंदे की शिवसेना के बीच होगा। एकनाथ शिंदे को अंधेरी की ये सीट जीतकर ये साबित करना होगा कि मराठी वोटर्स असल में उनके साथ हैं, क्यूंकि उनके पार्टी का नाम बालासाहेब की शिवसेना है। इसीलिए इस सीट पर न सिर्फ एकनाथ शिंदे बल्कि उनकी पार्टी के 1 दर्जन से ज्यादा मंत्री, विधायक, सांसद भी मुरजी पटेल का चुनाव प्रचार करते हुए नजर आएंगे।

अंधेरी ईस्ट विधानसभा सीट का जानें समीकरण
अंधेरी की सीट को मुंबई की मिनी इंडिया सीट भी कहा जाता है, क्यूंकी इस सीट पर तकरीबन 80 हजार मराठी वोटर्स, 40 हजार उत्तर भारतीय वोटर,15 हजार गुजराती, 10 हजार मारवाड़ी, 10 हजार जैन, 30 हजार मुस्लिम, 15 हजार सिख, 6 हजार पारसी, 15 हजार बौद्ध, 20 हजार केथोलिक और 15 हजार अन्य हैं। यानी तकरीबन ढाई लाख की आबादी वाली इस विधानसभा सीट पर हर भाषा और जाती, धर्म के मतदाता हैं। यहां हर चुनाव में 55 से 60 प्रतिशत तक वोटिंग होती है। 

ये स्टार प्रचारक होंगे अभियान में शामिल
पिछले चुनाव में इस सीट पर प्रचार करने मनोज तिवारी, रवि किशन और निराहुआ बीजेपी + शिवसेना उम्मीदवार रमेश लटके के लिए आए थे। इनसे उत्तर भारतीय वोटों का ध्रुविकरण शिवसेना की तरफ हुआ था। इस बार ये तीनों स्टार प्रचारक बीजेपी के लोकसभा सासंद हैं और इन्हें भी मुरजी पटेल के प्रचार के लिए अंधेरी बुलाया जाएगा। इसके अलावा बीजेपी दिल्ली और उत्तर प्रदेश से कुछ चेहरों को निमंत्रित कर सकती है, जिसमें योगी सरकार के कुछ मंत्री भी शामिल होंगे। प्रतापगढ़ के सासंद संगमलाल गुप्ता भी अंधेरी के निवासी हैं और उन्हे भी इस चुनाव में मोगरापाड़ा, नागरदास रोड, अंधेरी रेल्वे स्टेशन परिसर, चकाला में रोड शो के लिए बुलाया जा सकता है। 

इसके साथ ही इस सीट पर सीएम शिंदे खुद प्रचार करेंगे, उद्धव भी प्रचार करेंगे। आदित्य का 3 दिन रोड शो फिक्स हुआ है। रामदास आठवले को भी दलित बहुत एमआईडीसी इलाके में प्रचार के लिए मुरजी पटेल के लिए बुलाया जाएगा। वहीं कांग्रेस भी मुस्लिम और केथोलिक इलाकों में ऋतुजा लटके के लिए वोट मांगेगी। कुल मिलाकर ये चुनाव भले उपचुनाव हो लेकिन हर पार्टी इसे जीतने के लिए लड़ रही है। खुद देवेंद्र फडणवीस अपने बिजेपी के आला नेताओ, मंत्रियों के साथ अंधेरी विधानसभा सीट पर जमकर प्रचार करेंगे।

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें महाराष्ट्र सेक्‍शन
gujarat-elections-2022